दिल्ली के कई इलाकों में इंटरनेट शटडाउन पर क्या है एयरटेल का फरमान

नागरिकता संशोधन कानून के विरोध से उपजा विवाद इतना हिंसक हो गया कि सरकार को कई जगहों पर इंटरनेट लॉकडाउन यानी कि नेट सेवाएं बंद करनी पड़ी. अब इससे कंपनियों के पास शिकायतें दर्ज कराई जा रही हैं. भारती एयरटेल ने इंटरनेट लॉकडाउन को लेकर उनका पक्ष साफ किया कि सरकार के आदेशानुसार ऐसा किया गया है, निर्देश मिलते ही इसे दोबारा बहाल किय जाएगा.

दिल्ली के कई इलाकों में इंटरनेट शटडाउन पर क्या है एयरटेल का फरमान

दिल्ली: नागरिकता संशोधन कानून को लेकर लगातार हो रहे हिंसक प्रदर्शन के मद्देनजर सरकार ने कई इलाकों में इंटरनेट शटडाउन का आदेश जारी किया है. इसको  देखते हुए सभी टेलिकॉम कंपनियों ने मैसेंजिंग सर्विस से लेकर डाटा सर्विस को भी बंद कर दिया है.

जिओ से लेकर एयरटेल तक ने सरकार के आदेशों को मानते हुए फोने की सभी सेवाएं बंद कर दी हैं. अब भारती एयरटेल ने गुरुवार को अपने आधिकारिक ट्वीटर हैंडल से ट्वीट कर ये जानकारी दी कि सरकार के आदेशानुसार ही सेवाओं को दोबारा बहाल किया जाएगा. 

एयरटेल ने कहा निर्देश जारी करते ही बहाल की जाएंगी सेवाएं

भारती एयरटेल ने लिखा कि हम सरकार के आदेश के हिसाब से काम कर रहे हैं. सरकारी अफ्सरानों ने यह निर्देश जारी किया कि वॉयस मैसेज और डाटा सर्विसेज दिल्ली के कुछ क्षेत्रों में बंद रखी जाए. एक बार जैसे ही इसको हटाने का निर्देश जारी होगा, हमारी सेवाएं दोबारा व्यवस्थित तरीके से बहाल कर दी जाएगी. 

जामिया और जाफराबाद हिंसा के बाद से बदले हैं हालात

दिल्ली के जामिया और जाफराबाद-सीलमपुर इलाके में भारी हिंसा के बाद केंद्र सरकार के निर्देश पर इंटरनेट सेवाओं को बंद कर अनिश्चित काल के लिए बंद कर दिया गया.

नागरिकता संशोधन कानून को लेकर उपजा यह विवाद इतना भयानक रूप ले चुका था कि कभी जामिया छात्रों की आड़ में उग्रवादी रवैये वाले लोगों ने हिंसा फैलाना शुरू कर दिया. सार्वजनिक संपत्तियों को भरसक नुकसान पहुंचाया गया. बसें और जीप धूं-धूं कर जला दी गई. इन सबके पीछे कहीं न कहीं संचार प्रणाली खूब चलती है.

कई क्षेत्रों में लागू हुआ है धारा 144 

इसी को देखते हुए पूर्वी दिल्ली के कई क्षेत्रों में न सिर्फ इंटरनेट सर्विसेज को लॉकडाउन किया गया बल्कि धारा 144 भी लगा दिया गया है. पुलिस इसको काबू में लाने की कोशिश कर रही है. दिल्ली पुलिस ने पिछले दिनों गृहमंत्रालय से मिले आदेश के बाद व्यवस्थाओं को चाक-चौबंद करने की तैयारी भी शुरू कर दी है. ड्रोन से कई इलाकों पर नजर रखी जा रही है.