• कोरोना वायरस पर नवीनतम जानकारी: भारत में संक्रमण के सक्रिय मामले- 2,83,407 और अबतक कुल केस- 8,20,916: स्त्रोत PIB
  • कोरोना वायरस से ठीक / अस्पताल से छुट्टी / देशांतर मामले: 5,15,386 जबकि मरने वाले मरीजों की संख्या 22,123 पहुंची: स्त्रोत PIB
  • कोविड-19 की रिकवरी दर 62.42% से बेहतर होकर 62.78% पहुंची; पिछले 24 घंटे में 19,873 मरीज ठीक हुए
  • आईसीएमआर: पिछले 24 घंटों में 2.83+ लाख नमूनों की जांच की गई, कुल परीक्षणों की संख्या 1.10 करोड़ के पार हुई
  • कोविड-19 के बाद अर्थव्यवस्था के पुनरुद्धार की रणनीति हेतु MoHFW ने TIFAC द्वारा तैयार श्वेत पत्र जारी किया
  • आईआईटी दिल्ली के स्टार्टअप "चक्र इनोवेशन" ने N95 मास्क को संक्रमण मुक्त करने वाले ‘Chakr DeCoV’ को लॉन्च किया
  • एएसआई के स्मारकों में फ़िल्म शूटिंग करने के लिए 15 दिन के अंदर मिलेगी इजाजत
  • विशेष तरलता योजना (एसएलएस) ट्रस्ट की निवेश समिति ने वाणिज्यिक पत्र में 200 करोड़ रुपये तक के निवेश को मंजूरी दी
  • MSDE ने सभी क्षेत्रों में कुशल कार्यबल की मांग-आपूर्ति के अंतर को पाटने के लिए एआई-आधारित ASEEM डिजिटल मंच की शुरूआत की
  • मछली उत्पादन और उत्पादकता से जुड़ी महत्वपूर्ण कमियों को दूर करने के लिए 20,050 करोड़ रुपये के निवेश के साथ PMMSY की शुरुआत

उड़ान के दौरान खाली ही रहेगी बीच की सीट, DGCA ने जारी की गाइडलाइंस

 गाइडलाइन में एयरलाइंस को बीच वाली सीट खाली रखने की कोशिश करने को कहा गया है. अगर यह संभव ना हो तो ऐसी स्थिति में बीच की सीट के यात्री को एक शरीर को कवर करने वाला गाउन देने की बात कही गई है. 

उड़ान के दौरान खाली ही रहेगी बीच की सीट, DGCA ने जारी की गाइडलाइंस

नई दिल्लीः लॉकडाउन-4 के अंतर्गत कुछ छूट देते हुए घरेलू उड़ानों की शुरुआत की गई थी. 25 मई से इसे शुरू किया जा चुका है. फ्लाइट में उड़ान के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग को बनाए रखने के लिए बीच की सीट खाली रखने को लेकर नया निर्देश आया है. तमाम सावधानियों के बावजूद यात्रियों में कोरोना का खतरा बना हुआ है.

यात्रियों के सफर को थोड़ा और सेफ बनाने की कोशिश में डीजीसीए ने एक और कदम उठाया है. एयरलाइंस को कहा गया है कि सीटिंग प्लान ऐसा बनाएं जिससे बीच की सीट खाली ही रहे. 

एयरलाइंस को देनी होगी सेफ्टी किट
डीजीसीए ने एक बड़ा फैसला और किया है. कहा गया है कि यात्रियों को एयरलाइंस ही सेफ्टी किट देंगी. इसमें तीन लेयर वाला सर्जिकल मास्क, फेस शील्ड और सैनिटाइजर होगा. हर उड़ान के बाद प्लेन को सैनिटाइज करने का निर्देश है. पायलट, एयर होस्टस के साथ-साथ बाकी क्रू का भी नियमित अंतराल पर चेक-अप होगा. एयरपोर्ट से देखने को कहा गया है कि क्या सैनिटाइजेशन टनल जैसा कुछ प्रयोग में लाया जा सकता है.

सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणियों के बाद लिया फैसला
सिविल एविएशन रेगुलेटर DGCA ने यात्रियों की सुरक्षा को लेकर सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणियों के बाद ये फैसला लिया है. हालांकि इसमें कुछ छूट भी दी गई है. नई गाइडलाइन में एयरलाइंस को बीच वाली सीट खाली रखने की कोशिश करने को कहा गया है. अगर यह संभव ना हो तो ऐसी स्थिति में बीच की सीट के यात्री को एक शरीर को कवर करने वाला गाउन देने की बात कही गई है.

इस कवर को कपड़ा मंत्रालय द्वारा अनुमोदित मानकों के अनुसार बनाना होगा. हालांकि एक परिवार के सदस्यों को एक साथ बैठने की इजाजत दी जा सकती है. इसके अलावा सभी यात्रियों को एयरलाइंस द्वारा सुरक्षा किट देने का आदेश दिया गया है जिसमें मास्क, फेस शील्ड और सैनेटाइज़र पाउच शामिल होंगे. 

उड्डयन मंत्रालय ने विशेष समिति का किया था गठन
सर्वोच्च न्यायालय ने यात्रियों की सुरक्षा को लेकर सरकार और DGCA के रवैये पर सवाल उठाए थे जिसके बाद नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने 26 मई को एक विशेषज्ञ समिति का गठन किया गया था. इस विशेषज्ञ समिति ने स्वास्थ्य संबंधी प्रोटोकॉल की समीक्षा करने के बाद नागरिक उड्डयन मंत्रालय को अपनी सिफारिशें सौंपी.

इन सिफारिशों में बीच की सीट खाली छोड़ने के अलावा और भी कई सुझाव दिए गए हैं. इसमें सभी यात्रियों को एयरलाइंस द्वारा सुरक्षा किट प्रदान किया जाना शामिल है. 

विमान में नहीं दिया जाएगा भोजन
सिफारिशों में जब तक कोई गंभीर स्वास्थ्य कारण ना हो किसी भी यात्री को भोजन या पेयजल को विमान मे ना परोसे जाने की बात कही गई है. यात्रियों की बोर्डिंग और डि-बोर्डिंग दोनों ही एक साथ ना कर चरणों में करने की सिफारिश भी की कई है. साथ ही विमान में एयर-कंडीशनिंग सिस्टम को इस तरह से सेट करना होगा कि हवा को सबसे कम अंतराल पर बदल दिया जाए.

आज से देश में UNLOCK 1 का आगाज! इन बंदिशों से मिली आजादी, जानिए यहां

हर यात्रा के बाद सैनिटाइज होंगे विमान
हर यात्रा के समाप्त होने पर विमान को सैनेटाइज करने का आदेश दिया गया है. हालांकि ट्रांजिट फ्लाइट में विमान को जब यात्री विमान में होते हैं तो खाली की गई सीटें (इसके संपर्क सहित) ही सैनेटाइज किए जाएंगे. हर विमान को दिन के अंत में डीप क्लीन करने का भी आदेश दिया गया है.

हवाई जहाज के शौचालयों को बार-बार साफ किया जाएगा. एयरलाइंस नियमित रूप से सभी चालक दल का स्वास्थ्य परीक्षण करेगी. इसके अलावा सभी केबिन क्रू को फुल गियर सुरक्षात्मक सूट दिया जाएगा.

राजधानी दिल्ली में UNLOCK 1 के नियमों का ऐलान! जानिए, केजरीवाल का नया प्लान