"ब्लैकहोल" में जाने से बचने के लिए इमरान खान नियाजी ने हाफिज को बनाया बलि का बकरा

फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स यानि FATF में आगामी 16 फरवरी से 21 फरवरी तक बैठक होने वाली है, पाकिस्तान की करतूत के चलते वो ब्लैकलिस्टेड होने की कगार पर है. ऐसे में उसने इससे बचने के लिए अक तिकड़म का सहारा लिया है.

"ब्लैकहोल" में जाने से बचने के लिए इमरान खान नियाजी ने हाफिज को बनाया बलि का बकरा

नई दिल्ली: पेरिस में पाकिस्तान की नकेल कसने के लिए भारत तैयार है. सूत्रों के मुताबिक FATF में पाकिस्तान की साजिशों को बेनकाब करने और उसे ब्लैक लिस्ट में डलवाने के लिए भारत सरकार अपने अधिकारियों का एक दल पेरिस भेजने जा रहा है. 

पाकिस्तान के पैंतरे का पर्दाफाश करेगा हिंदुस्तान

NIA और ED समेत कई एजेंसियों के अधिकारी उन 27 मानकों की पूरी रिपोर्ट FATF के सामने रखेंगे जिन्हें पूरा करने के लिए पाकिस्तान को कहा गया था. इसके अलावा पाकिस्तान की नापाक साजिशों से जुड़े सबूतों की लंबी फेहरिस्त भी FATF की बैठक में रखी जाएगी.

पेरिस में 16 फरवरी से 21 फरवरी तक फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स यानी FATF की बैठक होने जा रही है. इस बैठक में पाकिस्तान के भाग्य का फैसला होगा. लेकिन पाकिस्तान इस बैठक में अपने दिखावे की कार्रवाई की वजह से न बच जाए इसकसे लिए भारत ने पुख्ता प्लान तैयार किया है. FATF की बैठक में पाक को ब्लैक लिस्ट कराने का भारत ने जो प्लान तैयार किया है उसके तहत भारत कि अलग अलग जांच एंजेसियों के टॉप अधिकारी सबूत लेकर पेरिस पहुंचेंगे.

पाकिस्तान की नई चाल को बेनकाब करेगा हिंदुस्तान

इन अधिकारियों में कैबिनेट सचिवालय, फाइनेंसियल इंटेलीजेंस यूनिट, एनआईए, ईडी, आयकर विभाग और डीआरआई जैसी एजेंसियों के अफसर शामिल हैं. लेकिन शातिर पाकिस्तान  FATF के चंगुल से बचने के लिए पूरी चतुराई से योजना बना रहा है. उसने दिखावे की कार्रवाई के तहत आतंकी और जमात-उद-दावा प्रमुख हाफिज सईद को टेरर फंडिंग मामले में सजा सुनाने का ड्रामा किया है. यह पेरिस बैठक से पहले खुद को ब्लैक लिस्ट होने से बचाने के लिए पाकिस्तान का एक पैंतरा है.

पेरिस में पाकिस्तान की चाल पर पानी फेरेगा हिंदुस्तान

आतंक के आका और हिन्दुस्तान में दहशतगर्दी फैलाने वाले हाफिज सईद पर अमेरिका ने इनाम लगा रखा है और जिसे संयुक्त राष्ट्र संघ वैश्विक आतंकी घोषित कर चुका है. लेकिन पाकिस्तान में उसले मामूली सी सजा सुनाकर दुनिया को अंधकार में रखने की कोशिश कर रहा है. पाकिस्तान की निचली अदालत ने सईद के खिलाफ आतंकी वित्तपोषण (टेरर फंडिंग) मामले में मात्र 10 साल की सजा सुनाई है. जिसका सहारा लेकर पाकिस्तान ढोंग कर रहा है.

इसे भी पढ़ें: दुनिया के सामने पाकिस्तान का दिखावा, आतंकी हाफिज को मिली मामूली सजा

पाकिस्तान फिलहाल इस तिकड़म में लगा है कि वो किसी भी तरह से FATF की ग्रे लिस्ट से निकलकर व्हाइट लिस्ट में पहुंच सके. लेकिन भारतीय अधिकारी पूरे सबूतों के साथ पाकिस्तान की चाल पर पानी फेरने के लिए पेरिस जा पहुंचे रहे हैं.

इसे भी पढ़ें: पाक वैज्ञानिक ने अपने ही मुल्क को चुभोया नश्तर, कहा-हमें सेना के लिए बनाया देश नहीं चाहिए