• देश में कोविड-19 से सक्रिय मरीजों की संख्या 1,01,497 पहुंची, जबकि संक्रमण के कुल मामले 2,07615: स्त्रोत-PIB
  • कोरोना से ठीक होने वाले लोगों की संख्या- 1,00,303 जबकि अबतक 5,815 मरीजों की मौत: स्त्रोत-PIB
  • रेलवे ने 4155 श्रमिक स्पेशल ट्रेनों का परिचालन किया; 57+ लाख यात्रियों को उनके गंतव्य तक पहुँचाया गया
  • इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी मंत्री ने #AatmaNirbharBharat के लिए इलेक्ट्रॉनिक्स उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए 3 योजनाओं की शुरुआत की
  • #AatmaNirbharBharat के लिए #MakeInIndia को प्रोत्साहित करने के लिए DPIIT ने पब्लिक प्रोक्योरमेंट ऑर्डर, 2017 में संशोधन किया
  • एंटी-कोविड ​​ड्रग मॉलेक्यूल के फास्ट-ट्रैक विकास के लिए SERDB-DST ने IIT (BHU) वाराणसी में अनुसंधान के लिए सहयोग को मंजूरी दी
  • ट्राइफेड कोविड ​​-19 के कारण संकट में पड़े आदिवासी कारीगरों को हरसंभव सहायता प्रदान करेगी
  • पीएसए और डीएसटी ने संयुक्त रूप से राष्ट्रीय विज्ञान प्रौद्योगिकी और नवाचार नीति 2020 के निर्माण की प्रक्रिया की शुरुआत की
  • कृषि, सहकारिता एवं किसान कल्याण विभाग ने विभिन्न बागवानी फसलों के लिए 2019-20 का दूसरा अग्रिम अनुमान जारी किए हैं
  • कोविड के लक्षण विकसित होने पर, घबराएं नहीं, तुरंत 1075 पर कॉल करें #IndiaFightsCorona #BreakTheStigma

वुहान से हटा लॉकडाउन, क्या चीन में खत्म हो गया कोरोना का कहर

कोरोना वायरस की आग में पूरी दुनिया को झोंकने वाला चीन अब कह रहा है कि उसने कोरोना को खत्म कर दिया है. उसका दावा लोगों में सवाल उत्पन्न कर रहा है. चीन ने वुहान से लॉकडाउन खत्म करके लोगों को निडर होकर घूमने को कहा है.

 वुहान से हटा लॉकडाउन, क्या चीन में खत्म हो गया कोरोना का कहर

नई दिल्ली: पूरी दुनिया में कहर मचाने वाले कोरोना वायरस का केंद्र रहा चीन का वुहान शहर आज लॉकडाउन से आजाद हो गया. चीन सरकार पूरी दुनिया में ये कहकर अपनी पीठ थपथपा रही है कि उसने कोरोना को अपने यहां सबसे पहले खत्म कर दिया है. लेकिन सच्चाई ये है कि चीन ने ऐसी अमानवीय हरकत की है जिसके लिए उसे कठोर सजा मिलनी चाहिए.

 चीन की शर्मनाक और डूब मरने वाली अमानवीय हरकत ने दुनिया भर में अब तक लगभग 70 हजार लोगों की जान ले ली है. आपको बता दें पिछले 76 दिनों से जारी लॉकडाउन के बाद वुहान की करीब 11 मिलियन  (1.1 करोड़) आबादी आज घर के बाहर की लक्ष्मण रेखा पार करेगी.

लगभग तीन महीने से घरों में कैद है वहां की जनता

पिछले साल दिसंबर में वुहान से कोरोना वायरस महामारी की शुरुआत हुई थी जिसका असर भी पूरी दुनिया में देखने को मिल रहा है. दुनियाभर में चीन की करतूत की वजह से 70 हजार से ज्यादा लोग मारे जा चुके हैं.

करीब तीन महीने तक अपने घरों में कैद रहे 11 मलियन लोग बाहर निकलेंगे और लॉकडाउन रहा हुबेई प्रांत का यह शहर फिर से दौड़ेगा. आज से लॉकडाउन खत्म होते ही यातायात की सुविधाएं शुरू होंगी, स्टेशनों से ट्रेनें लोगों को लेकर निकलेंगी तो एयरपोर्ट पर विमान उड़ान भरेंगे.

अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने WHO को दिए जाने वाले पैसे पर लगाई रोक

मंगलवार को चीन में नहीं हुई एक भी मौत

चीन सरकार ने यह फैसला मंगलवार को एक भी मौत का मामला सामने नहीं आने के बाद लिया. जनवरी में जब से नैशनल हेल्थ कमीशन ने आंकड़ों को जारी करना शुरू किया, यह पहली बार है जब कोरोना की वजह से किसी की जान नहीं गई है. 1.1 करोड़ आबादी वाला यह शहर कोरोना से सबसे अधिक प्रभावित था.

उल्लेखनीय है कि चीन के कुल 82 हजार कोरोना संक्रमितों में से 50 हजार इसी शहर में थे. कुल 3331 मृतकों में से 2500 वुहान में ही मरे.

चीन में सबसे अधिक प्रभावित रहा हुबेई

आपको बता दें कि वुहान हुबेई की राजधानी है. दुनियाभर में 13 लाख से अधिक लोग इस वायरस से संक्रमित हो चुके हैं और 70 हजार से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है. कोरोना संक्रमण मामलों में तेजी के बाद सरकार ने वुहान में लॉकडाउन की घोषणा कर दी थी. चीन के इतिहास में सबसे अधिक समय तक लॉक डाउन रहा.

गौरतलब है कि चीन में सोमवार को बाहर से कोरोना के 32 केस आए और इनकी कुल संख्या 983 हो चुकी है. इनमें से 285 को डिस्चार्ज किया जा चुका है. 698 का इलाज चल रहा है, इनमें से 21 की हालत गंभीर है.