अब इमरान की PoK को पाकिस्तान में मिलाने की साजिश

इमरान खान अपनी नयी 'गुपचुप' मुहिम के लिए पकिस्तान को तैयार करने की कोशिश में लगे हुए हैं. खबर मिली है कि वे पाकिस्तान ऑक्युपाइड कश्मीर को पकिस्तान में जोड़ कर भारत से बदला लेंगे   

अब इमरान की PoK को पाकिस्तान में मिलाने की साजिश

इस्लामाबाद. इमरान खान की हालत खिसियानी बिल्ली खम्बा नोचे वाली हो गई नज़र आती है. उन्हें लगता है कि उनके खिलाफ भारत की मोदी सरकार एक के बाद एक कामयाबी हासिल करती जा रही है और वे कुछ नहीं कर पा रहे हैं. बदला लेने के लिए अब उन्होंने नई तरकीब सोची है और इस नई तरक़ीबनुमा साजिश के केंद्र बिंदु में है पीओके. 

इमरान का PoK को पाक में मिलाने का काम शुरू  

दुनिया में भारत ने सबसे अधिक दुखी किया है इमरान खान को. दुनियावी मंचों पर भी वे हमेशा पाकिस्तानी टीम की तरह भारत के हाथों पिट जाते हैं. भारत में पास हुआ नया नागरिकता क़ानून अब उन्हें जीने नहीं दे रहा है. इसका बदला लेने के लिए वे अब  नया पैंतरा आजमाने की फिराक में है जिसके अंतर्गत अब वे पीओके के पकिस्तान में विलय करने की मंशा पर काम कर रहे है. 

पाकिस्तानी राजनीतिक दल से बाहर निकल कर आई है खबर 

यूनाइटेड कश्मीर पीपल्स नेशनल पार्टी कश्मीर में एक तेज़ी से उभरता राजनीतिक दल है. इसके युवा नेता नसीर अजीज खान ने किया है ये खुलासा. इमली अमुसार कश्मीर से धारा 370 हटाने से परेशान हो कर अब पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान छुपे तौर पर पाक अधिकृत कश्मीर (POK) को पाकिस्तान में मिलाना चाहते हैं. 

नाम बदलना साजिश का पहला कदम  

पीओके को लेकर तैयार की जा रही साजिश में पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने सबसे पहले पीओके का नाम बदलना चाहा है. इस कोशिश में उन्होंने 'आजाद जम्मू एंड कश्मीर मैनेजमेंट ग्रुप' का नाम बदलकर 'जम्मू एंड कश्मीर एडमिनिस्ट्रेटिव सर्विस' कर दिया है. 

नोटिफिकेशन किया जारी 

इस साजिश के पहले कदम के तौर पर पीओके का नाम बदलने के बाद बाकयादा इसका नोटिफिकेशन भी पाकिस्तान सरकार ने जारी किया है. यह नोटिफिकेशन 11 दिसंबर की तारख को  जारी किया गया है. 

पीओके से भी पुष्ट हुई इस खबर की सच्चाई 

इस खबर की सच्चाई का ये सबूत भी है कि कुछ दिन पहले ही पीओके से इस बारे में एक खबर आई थी जिसमें  POK के प्रधानमंत्री फारूक हैदर खान ने कहा था कि वे पीओके के आखिरी प्रधानमंत्री हो सकते हैं. इस बात से जाहिर है कि इस सिलसिले में इस्लामाबाद से होने वाली कार्रवाई की खबर उन्हें हो गई है. 

सिर्फ POK ही नहीं गिलगिट-बाल्टिस्तान भी जोड़ेंगे 

इस खबर की गंभीरता इस बात से और बढ़ जाती है जब नसीर अजीज बताते हैं कि POK से शुरुआत कर गिलगिट-बाल्टिस्तान को भी पाकिस्तान में के विलय की गुपचुप तैयारी चल रही है.  सरकार इसके लिए संविधान संशोधन भी लाने वाली है जिसमें इस सम्पूर्ण क्षेत्र के पाकिस्तान में विलय करने का प्रस्ताव लाया जा सकता है.