close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बगदादी की फैमिली का 'THE END'! शिकंजे में दीदी, जीजा और बहू

कुत्ते की मौत मरने वाले आतंकी बगदादी की बड़ी बहन रसमिया अवाद अरेस्ट हो गई है. तुर्की की सेना ने सीरिया के अजाज से आतंकी की दीदी, जीजा और बहू को धर-दबोचा.

बगदादी की फैमिली का 'THE END'! शिकंजे में दीदी, जीजा और बहू

नई दिल्ली: आतंक के आका अबु बकर अल बगदादी के परिवारवाले अभी उसकी मौत का ठीक से मातम भी नहीं मना पाए थे कि ISIS के संस्थापक की इस फैमिली को एक और तगड़ा झटका लगा है. जिस बगदादी को हर कदम पर, हर स्थिति-परिस्थिति में, हर वक्त उसकी बड़ी बहन का साथ मिलता था, अब वो भी सलाखों के पीछे पहुंच गई है.

शिकंजे में बगदादी की दीदी

बगदादी के आंतक-लोक में अहम रुतबा रखने वाली उसकी 65 साल की बड़ी बहन रसमिया अवाद को सीरिया में धर-दबोचा गया है. यानी बगदादी के मारे जाने के बाद अब उसकी फैमिली के द एंड की उल्टी गिनती शुरू हो गई है.

बगदादी अमेरिकी सेना के ऑपरेशन की वजह से मौत के मुंह में गया तो वहीं तुर्की की सेना को उसकी बहन को शिकंजे में लेने की कामयाबी हासिल हुई. तुर्की की आर्मी को खबर मिली थी कि बगदादी की बहन रसमिया अवाद सीरिया के एलेप्पो के उत्तर में स्थित शहर अजाज में छिपी हुई है. इस सूचना के बाद तुर्की सेना के जवानों ने अजाज शहर के खाक छानने शुरू किए और फिर वो घड़ी आ ही गई जिसका अरसे से इंतजार किया जा रहा था. तुर्की आर्मी की गिरफ्त में आने से बचने के लिए बगदादी की बहन ने खुद को एक कंटेनर में छुपा लिया था. लेकिन जवानों को इसकी भनक लग गई थी और कंटेनर में छिपी बगदादी की बहन रसमिया को घेर लिया गया.

बगदादी की बहन को तुर्की आर्मी ने शिकंजे में तो लिया ही, साथ ही उसके पति और बहू को भी गिरफ्तार कर लिया गया. परिवार के पांच बच्चे भी तुर्की सेना के हत्थे चढ़ गए.

ISIS में बगदादी की दीदी का था अहम रोल

बगदादी की बड़ी बहन रसमिया अवाद अपने पति और रिश्तेदारों की भारी-भरकम फौज के साथ सीरिया के अजाज शहर में ही रहती थी. लेकिन भाई के मारे जाने के बाद वो छिप-छिप कर रह रही थी लेकिन ज्यादा दिन तक खुद को वो बचा नहीं पाई और तुर्की सेना के हत्थे चढ़ गई. बताया जाता है कि रसमिया अवाद भी अपने छोटे भाई बगदादी की अगुवाई वाले आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट ऑफ सीरिया एंड इराक यानी ISIS से जुड़ी हुई थी. रसमिया का मुख्य काम ISIS को खुफिया जानकारी देने का था और वो ये काम बखूबी निभा भी रही थी. तुर्की सेना की छापेमारी में पकड़ी गई रसमिया और उसके परिजनों से लगातार पूछताछ की जा रही है जिससे कई बड़े खुलासे
होने की उम्मीद जताई जा रही है.

तुर्की की सेना ने सीरिया के अजाज से धर-दबोचा

बगदादी के मारे जाने के बाद से ही उसके आतंकी संगठन ISIS और उसके परिवार पर चौतरफा दबाव बनता जा रहा है. करीब हफ्ते भर पहले 27 अक्टूबर को अमेरिकी सेना के ऑपरेशन के दौरान बगदादी घिर गया था. जब अमेरिकी डेल्टा फोर्स ने सीरिया के इदलिब शहर के एक मकान में बगदादी को घेरा तो वो अपने तीन बच्चों के साथ सुरंग में भागने लगा. लेकिन जब अमेरिकी सेना और यूएस आर्मी की डॉग स्क्वॉयड ने उसका पीछा शुरू किया तो खुद को चारों तरफ से घिरता देख बगदादी ने खुद को उड़ा लिया. बगदादी के मारे जाने के साथ ही ISIS के आंतक-लोक के खात्मे की शुरुआत हो गई. बगदादी के मारे जाने के करीब हफ्ते भर बाद उसकी बड़ी बहन और हमराज रसमिया अवाद की गिरफ्तारी हो गई है. रसमिया अवाद के साथ-साथ उसके पति और बहू की भी गिरफ्तारी से ISIS का पूरा कुनबा ही हिल गया है.

बगदादी के मारे जाने के बाद अबु इब्राहिम अल-हाशिमी अल-कुरैशी के तौर पर ISIS को नया सरगना मिल गया हो लेकिन जिस तरह से इस आतंकी संगठन और बगदादी के परिवार की चौतफा घेरेबंदी शुरू हुई है. उससे साफ है कि बगदादी का नामोनिशान भी नहीं बचने वाला है.