आ रही है बुर्ज खलीफा की अम्मा

रियाध में बन रही ये आसमानी इमारत बुर्ज खलीफा से भी काफी ऊंची है..  

आ रही है बुर्ज खलीफा की अम्मा

रियाध. सऊदी अरेबिया वास्तव में शौक़ीन लोगों का देश है. सिर्फ पैसे वाला होना ही काफी नहीं होता, ऊंचा होने के लिए ऊंचा शौक भी पालना पड़ता है. दुबई ने बुर्ज खलीफा बना कर अमरीका की एम्पायर स्टेट बिल्डिंग को शर्मिन्दा कर दिया था, अब उसको नीचा दिखाने आ रही है सऊदी अरेबिया की ये निर्माणाधीन इमारत.  

ये दुनिया की सबसे ऊंची इमारत होगी 

सऊदी अरेबिया की राजधानी रियाध की शान बनेगी ये इमारत. अभी इसका निर्माण कार्य चल रहा है किन्तु अगले साल जब इसका काम पूरा हो जाएगा तो सामान्य ज्ञान की किताबों में दुनिया की सबसे ऊंची इमारत के आगे बुर्ज खलीफा नहीं लिखा होगा, रियाध की इस इमारत का नाम लिखा होगा. 

बादलों के पार चली जायेगी ये इमारत

बताया जा रहा है कि इसकी ऊंचाई इतनी ज्यादा होगी कि ये ज़मीन से खड़े हो कर देखने पर बादलों के पार पहुंची हुई नज़र आएगी. इसकी ऊंचाई बुर्ज खलीफा से करीब 180 मीटर या 591 फीट अधिक होगी. इसका आखिरी फ्लोर 2192 फीट की ऊंचाई यानी 668 मीटर पर होगा.

खर्च हो रहे हैं लगभग नौ हज़ार करोड़ रुपये 

आज की तारीख में इस आसमानी इमारत के निर्माण में लगने वाला कुल खर्चा 8797 करो़ड़ रुपए का है जो कि अमरीकन डॉलर्स में करीब 1.23 बिलियन यूएस डॉलर होंगे. 

होंगे दो सौ से ज्यादा फ्लोर्स 

ये इमारत फ्लोर्स के मामले में दुहरा शतक जड़ेगी याने कि इसमें कुल दो सौ से ज्यादा मंज़िलें बनेंगी. और अगर एक मंज़िल का पूरा एरिया पूछिए तो वह होगा 2.43 लाख वर्ग मीटर. 

59 लिफ्टें होंगी 

ज़ाहिर है, दो सौ मंज़िला इस इमारत में दो सौ नहीं तो कम से कम पचास से अधिक लिफ्टें तो चाहिए. जी हैं, कुल उनसठ लिफ्ट्स इसमें लगी होंगी जब यह इमारत तैयार हो जायेगी. इनमें से 55 लिफ्टें सिंगल डेक होंगी और चार डबल डेक. 
इसका ऑब्जरवेशन डेक 652 मीटर यानी 2139 फीट की ऊंचाई पर होगा.

ये भी पढ़ें. ये लो अब रूस ने भी बना लिया अपना खुद का इंटरनेट