IB मुलाज़िम अंकित शर्मा क़त्ल मामले में आम आदमी पार्टी के ताहिर का नाम

यूपी के मुजफ्फरनगर के रहने वाले अंकित शर्मा के शव मिलने के बाद परिवार ने कहा आम आदमी पार्टी पार्षद ताहिर हुसैन ने मारा

IB मुलाज़िम अंकित शर्मा क़त्ल मामले में आम आदमी पार्टी के ताहिर का नाम

दिल्ली : शुमाल मश्रिक़ी (North-East) दिल्ली में भड़के तशद्दुद पर अब तक क़रीब 32 लोगों की जान चली गई है.इसी तशद्दुद ने महकमा खुफिया में काम करने वाले कारकुन की भी जान ले ली थी.आईबी (IB) मुलाज़िम अंकित शर्मा के कत्ल का इल्जाम आम आदमी पार्टी के एक लीडर पर लगा है..अंकित के कुनबे ने AAP के काउंसलर ताहिर हुसैन का नाम लिया है..दिल्ली के तशद्दुद में मारे गये इंटेलिजेंस ब्यूरो के अंकित शर्मा के अहलेखाना ने आम आदमी पार्टी के Councilor ताहिर हुसैन पर शक जताया है। करावल नगर के चांद बाग़ में अंकित के भाई ने कहा कि अंकित को ताहिर हुसैन के घर ले जाया गया और फिर क़त्ल कर अंकित शर्मा को नाले में फेंक दिया गया जिसके बाद.बुध को नाले में अंकित की लाश मिली थी

 दयालपुर थाना इलाके के मुस्तफाबाद और मूंगा नगर में जिन घरों से पथराव और पेट्रोल बम फेंके जा रहे थे उसके कुछ वीडियो अब सामने गए हैं।जारी वीडियो में एक शख्स दिखाई दिया जिनकी पहचान आम आदमी पार्टी के काउंसलर ताहिर हुसैन के रूप में हुई.हालांकि तशद्दुद में अपना नाम आने पर ताहिर हुसैन ने सफाई देते हुए कहा कि मैं बेकुसूर हूं.

अंकित शर्मा यूपी के मुजफ्फरनगर के रहने वाले थे। दो दिन पहले गायब हुए अकंत शर्मा की लाश बुध को दिल्ली के चांदबाग इलाके के एक नाले में मिली थी..अंकित की मौत की खबर मिलने के बाद से उनका परिवार सदमें में है.इस ख़बर से मुजफ्फरनगर में उनके घर में भी कोहराम मचा गया. अंकित का पूरा कुनबा दिल्ली में ही रहता है, लेकिन उनकी आखिरी रसूमात उनके आबाई गांव में ही होगी

आम आदमी पार्टी के लीडर संजय सिंह ने इंटेलिजेंस ब्यूरो ऑफिसर अंकित शर्मा के क़त्ल मामले में आम आदमी पार्टी के पार्षद ताहिर हुसैन का नाम आने पर कहा कि, पहले दिन से AAP कह रही है कि कोई भी व्यक्ति हो, किसी भी पार्टी या मज़हब से हो, उनके खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए अगर वह मुल्ज़िम है

AAP लीडर संजय सिंह ने कहा कि ताहिर हुसैन पहले ही पुलिस औऱ मीडिया में अपना बयान दे चुके हैं जिसमें उन्होंने बताया कि तशद्दुद के दौरान कैसे दंगाइयों ने उनके घर में एंट्री की. उन्होंने पुलिस से सिक्योरिटी मांगी थी। पुलिस 8 घंटे देरी से आई और फिर उसे और उसके परिवार को बचाया गया।

बता दें कि दिल्ली में भड़के तशद्दुद के दौरान हूए पत्थरबाजी में अंकित का कत्ल कर दिया गया. घर वालों के मुताबिक अंकित ड्यूटी से घर लौटा था. जब दंगा हुआ तो घर से बाहर निकलकर जानकारी जुटाने के लिए बाहर निकले थे. परिवार ने एक मकामी काउंसलर पर कत्ल का इल्ज़ाम लगाया है, जो कि ऑफिसर के घर के पास ही रहता है. 25 साल के अंकित आईबी में सिक्योरिटी असिस्टेंट की ओहदे पर तैनात थे.

इल्ज़ाम है कि मंगल को चांद बाग पुलिया पर कुछ लोगों ने उन्हें घेर लिया. उनका पीट-पीट कर कत्ल कर दिया. इसके बाद लाश को नाले में फेंक दिया. एहलेखाना मंगल से ही उनकी तलाश में था. अंकित के वालिद रविंदर शर्मा भी आईबी में हेड कांस्टेबल हैं. उन्होंने एक आप पार्टी के लीडर की हिमायती पर कत्ल का इल्ज़ाम लगाया है. उनका कहना है कि पिटाई के साथ अंकित को गोली भी मारी गई है. 

गौरतलब है कि शहरियत तरमीमी एक्ट की हिमयाती और मुखालिफीन के दरमियान बढ़ी तकरार के बाद दारुल हुकूमत दिल्ली के शुमाल मश्रिक़ी इलाके में माहौल कशीदा है. हालांकि, सिक्योरिटी फोर्सेज़ की भारी तैनाती के बाद काफी हद तक अब हालात पर काबू पा लिया गया है.