मुश्किल में Air India, 19 विमान ग्राउंड हुए, एयरलाइन पर 48000 करोड़ का कर्ज

एयर इंडिया ने स्टेट बैंक ऑफ इंडिया से कहा कि वह जेट एयरवेज के ग्राउंडेड 5 Boeing 777 को लीज पर लेना चाहती है. एयर इंडिया की सेहत का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि नए एयरक्राफ्ट के स्पेयर का इस्तेमाल पुराने एयरक्राफ्ट में किया जा रहा है.

मुश्किल में Air India, 19 विमान ग्राउंड हुए, एयरलाइन पर 48000 करोड़ का कर्ज
जेट एयरवेज के तात्कालिक रूप से बंद हो जाने के बाद एयर इंडिया एकमात्र देशी एयरलाइन है जो यहां से यूरोप और अमेरिका के लिए उड़ान भरती है.

नई दिल्ली: भारत में एविएशन सेक्टर की हालत लगातार बिगड़ती जा रही है. जेट एयरवेज अपना संचालन बंद कर चुकी है. कंपनी पर 8000 करोड़ से ज्यादा का कर्ज है. स्थिति संभलने के बजाए लगातार बिगड़ती ही जा रही है. यही हाल Air India का भी है. एयर इंडिया के 19 एयरक्राफ्ट फंड के अभाव में ग्राउंड हो चुके हैं. इनमें Boeing 777, Boeing 787, Boeing 747 और Airbus A320s जैसे एयरक्राफ्ट शामिल हैं जो कई महीने से संचालन में नहीं हैं. इसके अलावा 34 Airbus A320 भी इसके बेड़े में शामिल हैं.

इस बीच एयर इंडिया ने स्टेट बैंक ऑफ इंडिया से कहा कि वह जेट एयरवेज के ग्राउंडेड 5 Boeing 777 को लीज पर लेना चाहती है. एक अंग्रेजी न्यूज वेबसाइट के मुताबिक, एयर इंडिया को तुरंत 500 करोड़ रुपये की जरूरत है, ताकि ग्राउंडेड विमानों का मेंटीनेंस कर फिर से उसे इस्तेमाल में लाया जाए. सूत्रों के हवाले से खबर है कि अगस्त तक ये विमान दोबारा परिचालन में आ पाएंगे.

VIDEO: दिल्ली एयरपोर्ट पर धू-धू कर जलने लगा एयर इंडिया का विमान

एयर इंडिया की सेहत का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि नए एयरक्राफ्ट के स्पेयर का इस्तेमाल पुराने एयरक्राफ्ट में किया जा रहा है, ताकि वे उड़ान भर सके. मतलब, एयरलाइन के पास फंड का इतना अभाव है कि वह स्पेयर तक नहीं बदलवा सकती है.

यह अमेरिकी कंपनी देगी Jet के कर्मचारियों को नौकरी, बायोडेटा भेजने के लिए बनाई अलग ईमेल

एयर इंडिया के फ्लीट में 18  Boeing 777, 27 Boeing 787s, 4Boeing 747s शामिल हैं. ये विमान ज्यादातर इंटरनेशनल रूट पर इस्तेमाल किए जाते हैं. Boeing 747 का इस्तेमाल स्पेशल हज एयरक्राफ्ट के रूप में होता है. इसके अलावा देश के राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री भी इसी प्लेन से विदेश की यात्रा करते हैं. Air India पर करीब 48000 करोड़ रुपये का कर्ज है. जेट एयरवेज के तात्कालिक रूप से बंद हो जाने के बाद एयर इंडिया एकमात्र देशी एयरलाइन है जो यहां से यूरोप और अमेरिका के लिए उड़ान भरती है.