Budget 2019: ऑटो सेक्टर को काफी उम्मीदें, GST रेट कट करने की मांग

FADA के मुताबिक यू्ज्ड व्हीकल पर लगने वाला GST डबल टैक्सेशन की तरह है, इसलिए इसकी दर घटानी चाहिए.

Budget 2019: ऑटो सेक्टर को काफी उम्मीदें, GST रेट कट करने की मांग
वर्तमान में यूज्ड कार पर 12 से 18 परसेंट GST लगता है. (फाइल फोटो)

दानिश आनंद, नई दिल्ली: पांच जुलाई को देश की वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण अपना पहला बजट पेश करेंगी और इस बजट से ऑटो जगत को काफी ज्यादा उम्मीदें हैं. FADA (फेडरेशन ऑफ ऑटोमोबाइल डीलर्स एसोसिएशन) की सरकार से यह उम्मीद है कि कंज्यूमर सेंटीमेंट को बढ़ाने के लिए सरकार को पुरानी और नई गाड़ियों पर लगने वाले जीएसटी पर कटौती करनी चाहिए और जहां तक कॉरपोरेट टैक्स कट की बात है FADA चाहती है कि कॉरपोरेट टैक्स को 25 परसेंट कर देना चाहिए. साथ ही डीलर्स को MSME के अंदर लाना चाहिए.

FADA को उम्मीद है कि रिटेल ट्रेड को बढ़ाने के लिए GST कट होगा. साथ ही उन्होंने यूज्ड व्हीकल पर GST को डबल टैक्सेशन बताया. वर्तमान में यूज्ड कार पर 12 से 18 परसेंट GST लगता है, जिसे घटाकर 5 परसेंट करने की मांग की गई है. उनका कहना है कि ऑटो सेक्टर में मार्जिन बहुत कम है, जिसकी वजह से उन्हें नुकसान हो रहा है.

इनकम टैक्स छूट के दायरे में आ सकता है होम लोन का इंश्योरेंस : सूत्र

FADA ने कहा कि ऑटो सेक्टर में मांग की भारी कमी है. पहले एक डीलरशिप पर अमूमन 21 दिनों के लिए गाड़ियां खड़ी रहती थीं, जो पिछले डेढ़ सालों से करीब 75 दिन खड़ी रहती हैं. फाडा का कहना है कि अब एक डीलरशिप में एवरेज इन्वेंटरी लेवल 40 दिन पर आ गया है.