Breaking News
  • विकास दुबे के करीब पहुंची पुलिस, नोएडा के आसपास लोकेशन: सूत्र

EXCLUSIVE : भारतीय रेलवे पूरा करेगा अफोर्डेबल हाउसिंग का सपना, यहां हो सकता है पहला प्रोजेक्ट

 IRSDC स्टेशन रीडेवलपमेंट में कमाई के हर संभव रास्ते तलाश रही है और इसी दिशा में रेलवे अब किफायती घरों के सपने को पूरा करने का काम करेगी.

EXCLUSIVE : भारतीय रेलवे पूरा करेगा अफोर्डेबल हाउसिंग का सपना, यहां हो सकता है पहला प्रोजेक्ट
अफोर्डेबल हाउसिंग के तहत 40 से 60 स्क्वायर मीटर के साइज का घर निर्माण किया जाएगा. (फाइल)

नई दिल्ली: भारतीय रेलवे अब अफोर्डेबल हाउसिंग का सपना सच करेगा. एक नई पहल के तहत भारतीय रेलवे स्टेशन रीडेवलपमेंट के साथ-साथ अफोर्डेबल हाउसिंग भी बनाएगा. सूत्रों के मुताबिक, रेलवे स्टेशन रीडेवलपमेंट की जिम्मेदारी निभा रही IRSDC (इंडियन रेलवे स्टेशन डेवलपमेंट कॉरपोरेशन) अब अफोर्डेबल हाउसिंग के निर्माण में कदम रखेगी. योजना के मुताबिक IRSDC देश में जहां-जहां स्टेशन रीडेवलपमेंट करेगी वहां तकरीबन 20 से 30 प्रतिशत जमीन पर खरीद के लिहाज से किफायती घरों का निर्माण भी करेगी. सूत्रों के मुताबिक IRSDC स्टेशन रीडेवलपमेंट में कमाई के हर संभव रास्ते तलाश रही है और इसी दिशा में रेलवे अब किफायती घरों के सपने को पूरा करने का काम करेगी.

इस योजना के मुताबिक, अफोर्डेबल हाउसिंग के तहत 40 से 60 स्क्वायर मीटर के साइज का घर निर्माण किया जाएगा. ज्यादातर घर स्टूडियो अपार्टमेंट या फिर 1-BHK होंगे. कीमत की बात करें तो रेलवे अफोर्डेबल हाउसिंग स्कीम को दूसरे तरीके से परिभाषित करना चाहता है. इन घरों की कीमत 40 से 50 लाख रुपये तक हो सकती है.

होम बायर्स को मिल सकती है राहत, अंडर कंस्ट्रक्शन प्रॉपटी पर कम लगेगा टैक्स

योजना से जुड़े एक उच्च अधिकारी ने बताया कि इस पूरी कवायद का मकसद दरअसल उनलोगों को लाभ पहुंचाना है जो दूसरे जगहों से आकर शहरों में काम करते हैं. वे छोटे परिवार के साथ रहते हैं और अपने घर का सपना भी है. उनकी कमाई और खर्च सीमित है. इस स्कीम के तहत उनलोगों को टार्गेट किया गया है. रेलवे की इन अफोर्डेबल घरों का ट्रांसपोर्टेशन के लिहाज से भी जबरदस्त फायदा होगा.

चुनाव से पहले घर खरीदारों को बड़ी राहत दे सकती है मोदी सरकार, ये है पूरी प्लानिंग

स्टेशन रीडेवलपमेंट प्रोजेक्ट के तहत सरकार स्टेशन को आधुनिक, यात्री सुविधाओं से लैस तो बना रही है साथ ही स्टेशनों को मल्टी ट्रांसपोर्टेशन हब के तौर पर भी विकसित कर रही है. यानी एक ही जगह से आप रेल, बस, मेट्रो और टैक्सी की सुविधा का इस्तेमाल कर सकते हैं.

रेलवे के उच्च अधिकारी के मुताबिक इस योजना को जल्द ही हकीकत के रूप में देख सकते हैं. कुछ चुनिंदा स्टेशनों के साथ इसकी शुरुआत करने के लिए खाका भी तैयार कर लिया गया है. उम्मीद की जा रही है कि दिल्ली की बिजवासन स्टेशन पर स्टेशन रीडेवलपमेंट, कमर्शियल स्पेस डेवलपमेंट के साथ-साथ अफोर्डेबल घरों का सपना सच हो सकता है.