Indian Railways: अब रेल टिकट बुकिंग करते समय मिलेगी कन्फर्म लोअर बर्थ! IRCTC ने बताया तरीका
X

Indian Railways: अब रेल टिकट बुकिंग करते समय मिलेगी कन्फर्म लोअर बर्थ! IRCTC ने बताया तरीका

Indian Railways: भारतीय रेलवे सीनियर सिटिजंस को कई बेहतरीन सुविधाएं देता है. अब रेलवे ने बताया कैसे टिकट बुक करते समय आपको कंफर्म लोअर बर्थ मिल सकता है. आइए जानते हैं पूरा प्रोसेस. 

Indian Railways: अब रेल टिकट बुकिंग करते समय मिलेगी कन्फर्म लोअर बर्थ! IRCTC ने बताया तरीका

नई दिल्ली: Indian Railways: इंडियन रेलवे अपने यात्रियों की सुविधा के लिए हमेशा ही तत्पर रहता है. ट्रेनों में सफर करने के दौरान सीनियर सिटिजंस को लोअर बर्थ की प्राथमिकता दी जाती है. लेकिन कई बार टिकट बुकिंग के दौरान सीनियर सिटिजन के लिए आग्रह करने के बावजूद उन्हें लोअर बर्थ की बजाय कभी मिडिल बर्थ तो कभी अपर बर्थ मिल जाती है. इससे उन्हें यात्रा में परेशानी होती है. लेकिन अब इंडियन रेलवे ने बताया है कि कैसे आपको कन्फर्म लोअर बर्थ मिलेगा?

सीनियर सिटिजन को मिलेगी लोअर बर्थ

दरअसल कुछ दिन पहले ट्विटर पर ये सवाल एक यात्री ने भारतीय रेलवे से पूछा है और कहा है कि ऐसा क्यों है, इसे ठीक किया जाना चाहिए. यात्री ने रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव को टैग करते हुए लिखा है कि सीट आवंटन को चलाने का क्या तर्क है, मैंने तीन सीनियर सिटिजंस के लिए लोअर बर्थ प्रेफरेंस के साथ टिकट बुक की थीं, तब 102 बर्थ मुहैया थीं, बावजूद इसके उन्हें मिडिल बर्थ, अपर बर्थ और साइड लोअर बर्थ दी गईं. आपको इसे सुधारना चाहिए.

IRCTC का जवाब 

यात्री के इस सवाल पर  IRCTC ने ट्विटर पर अपनी सफाई दी है. IRCTC ने जवाब दिया कि- महोदय, लोअर बर्थ/सीनियर सिटिजन कोटा बर्थ केवल 60 वर्ष और उससे अधिक, 45 वर्ष और उससे अधिक की महिला आयु के लिए निर्धारित निचली बर्थ हैं, जब वो अकेले या दो यात्री (एक टिकट पर यात्रा करने वाले मानदंडों के तहत) सफर करते हैं. IRCTC ने आगे कहा कि अगर दो से अधिक वरिष्ठ नागरिक या एक वरिष्ठ नागरिक है और दूसरा वरिष्ठ नागरिक नहीं हैं, तो सिस्टम इस पर विचार नहीं करेगा.   

वरिष्ठ नागरिकों के लिए रियायतें वापस थीं 

आपको बता दें कि भारतीय रेलवे ने पिछले साल कोरोनोवायरस महामारी को देखते हुए गैर-जरूरी यात्रा को हतोत्साहित करने के लिए वरिष्ठ नागरिकों सहित कई श्रेणियों के लोगों के रियायती टिकटों (Concessional Tickets) को निलंबित कर दिया था. रेलवे ने यह भी कहा कि वरिष्ठ नागरिकों के लिए रियायतें वापस ले ली गई हैं क्योंकि COVID-19 वायरस के कारण फैलने और मृत्यु दर का जोखिम उस श्रेणी में सबसे अधिक है. 

कोविड-19 के संबंध में जारी स्वास्थ्य परामर्श और यात्रियों को गैर-जरूरी यात्रा करने से हतोत्साहित करने के मद्देनजर, एक विशेष मामले के रूप में यह निर्णय लिया गया है कि सभी श्रेणियों के लिए कोई रियायती अनारक्षित टिकट प्रणाली (UTS) और यात्री आरक्षण प्रणाली (PRS) टिकट नहीं है. छात्रों को छोड़कर यात्रियों की चार श्रेणियों में दिव्यांगजन और 11 श्रेणी के मरीजों को जारी किया जाएगा.

बिजनेस से जुड़ी अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

Trending news