close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

कच्चे तेल के दाम में तेजी के बीच Sensex और NIFTY पिछले स्तर पर स्थिर

मार्केट एक्सपर्ट के मुताबिक, देश विदेश में उत्साह की कोई घटना न दिखने से बाजार का कारोबार फीका रहा

कच्चे तेल के दाम में तेजी के बीच Sensex और NIFTY पिछले स्तर पर स्थिर
शेयर बाजारों के अस्थायी आंकड़ों के अनुसार विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों ने मंगलवार को शुद्ध रूप से 159.60 करोड़ रुपये के शेयर खरीदे. (फाइल फोटो)

मुंबई: ब्रिटेन और यूरोपीय संघ के भविष्य के संबंधों को लेकर अनिश्चिता के चलते वैश्विक बाजारों में मिले जुले रुख तथा तथा कच्चे तेल के दाम में तेजी के बीच बुधवार को स्थानीय शेयर बाजारों में घट बढ़ का दौर रहा और प्रमुख शेयर बाजार करीब करीब पिछले दिन के स्तर पर बने रहे. बंबई शेयर बाजार का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स दिन में करीब 200 अंक दायरे में घट बढ़ के बाद अंत में 2.96 अंक यानी 0.01 प्रतिशत के नाममात्र के लाभ के साथ 36,321.29 अंक और नेशनल स्टाक एक्सचेंज का 50 शेयरों वाला निफ्टी 3.50 अंक यानी 0.03 प्रतिशत ऊपर चढ़कर 10,890.30 पर बंद हुआ. 

यस बैंक, इंडसइंड बैंक, इन्फोसिस, आईसीआईसीआई बैंक, टीसीएस, एसबीआई जैसी कंपनियों के शेयरों के साथ साथ रिलायंस इंडस्ट्रीज और ओएनजीसी जैसी पेट्रोलियम कंपनियों तथा बिजली उत्पादक एनटपीसी के शेयर 2.66 प्रतिशत तक लाभ में रहे. इसके विपरीत भारती एयरटेल, बजाज फाइनेंस, कोटक बैंक, एचडीएफसी और एचडीएफसी बैंक, हीरो मोटोकॉर्प, आईटीसी, एचयूएल, एशियन पेंट्स और वेदांता के शेयरों में 1.38 प्रतिशत तक गिरावट दर्ज की गयी.

राजनाथ सिंह ने रेल मंत्रालय से कहा- यात्रियों को चलती ट्रेन में FIR दर्ज करवाने की सुविधा दीजिए

एमके वेल्थ मैनेजमेंट के अनुसंधान प्रमुख जोसफ थॉमस ने कहा कि ‘‘देश विदेश में उत्साह की कोई घटना न दिखने से बाजार का कारोबार फीका रहा.’’ उन्होंने कहा कि आगामी दिनों में बाजार की दिशा काफी हद तक कंपनियों के तिमाही नतीजों, अमेरिका सरकार के कामकाज की बंदी से जुड़े घटनाक्रमों, ब्रेक्जिट तथा चीन के मौद्रिक रुख पर निर्भर करेगी. 

इस बीच, शेयर बाजारों के अस्थायी आंकड़ों के अनुसार विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों ने मंगलवार को शुद्ध रूप से 159.60 करोड़ रुपये के शेयर खरीदे. वहीं घरेलू संस्थागत निवेशकों ने 417.44 करोड़ रुपये की लिवाली की. वैश्विक निवेशक यूरोपीय संघ से पुराना जुड़ाव खत्म करने के ब्रिटेन की प्रधानमंत्री टेरिसा मे के प्रस्ताव को देश की संसद के निचले सदन ने खारिज कर दिया है. इससे उनकी सरकार के सामने अविश्वास अविश्वास प्रस्ताव की नौबत आ गयी है, जबकि 29 मार्च को ब्रेक्जिट के लिए ब्रिटेन की कोई योजना नहीं बन पायी है.

रेलवे के इन 2 जोन में निकली है बंपर भर्तियां, जानें योग्यता और आवेदन की आखिरी तारीख

यूरोपीय बाजारों में शुरुआती कारोबार में लंदन का एफटीएसई 0.61 प्रतिशत नीचे तथा जबकि जर्मनी के फैंकफर्ट और फ्रांस के पेरिस बाजार के प्रमुख सूचकांकों में सुधार का रुख था. एशियाई बाजारों में कोरिया का कोस्पी सूचकांक 0.43 प्रतिशत लाभ में तथा चीन का शंघाई कंपोजिट सूचकांक मंगलवार के स्तर पर स्थिर रहा. हांगकांग का हैंगसेंग 0.27 प्रतिशत लाभ में रहा जबकि जापान का निक्की 0.55 प्रतिशत घाटे में बंद हुआ. कच्चे तेल के वैश्विक बाजार में ब्रेंट कच्चा तेल वायदा बाजार में 0.08 प्रतिशत और सुधर कर 60.69 डॉलर प्रति बैरल पर बोला जा रहा था. 

(इनपुट-भाषा)