Train-18 के लिए और कितना इंतजार, कहीं इस वजह से तो नहीं हो रही संचालन में देरी?

दूसरी बार ऐसा हुआ है जब ट्रेन-18 पर पत्थरबाजी की गई है.

Train-18 के लिए और कितना इंतजार, कहीं इस वजह से तो नहीं हो रही संचालन में देरी?
इस ट्रेन को 130 किलोमीटर प्रतिघंटे की स्पीड से चलाने की योजना है. (फाइल)

नई दिल्ली: ट्रेन-18 का संचालन अभी तक क्यों शुरू नहीं हुआ है, यह बहुत बड़ा सवाल है. ट्रेन पूरी तरह दौड़ने के लिए तैयार है, लेकिन अभी तक ट्रैक के ट्रायल का काम पूरा नहीं हुआ है. इस ट्रेन को दिल्ली से वाराणसी के बीच चलाने की तैयारी है. खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश की सबसे तेज ट्रेन को हरी झंडी दिखाएंगे. लेकिन, इसका संचालन कब शुरू होगा इसको लेकर अभी तक किसी तारीख का ऐलान नहीं किया गया है. 

दिल्ली और वाराणसी के बीच लगातार इस ट्रेन का सेफ्टी ट्रायल किया जा रहा है. एकबार फिर से ट्रायल के दौरान ट्रेन-18 पर पत्थरबाजी की गई. इससे पहले भी ऐसी घटना हो चुकी है. पत्थरबाजी की वजह से खिड़कियों के कांच टूट गए. रेल मंत्रालय ऐसी घटनाओं से हैरान परेशान है. सूत्रों की माने तो सरकार इस हरकत से काफी परेशान है. सूत्रों से मिली खबर के मुताबिक, मंत्रालय बार-बार हो रही ऐसी घटना की वजह से ट्रेन-18 को चलाने में और देरी कर सकता है.

दुनियाभर में ब्रांड इंडिया का जलवा, श्रीलंका में दौड़ी भारत में बनी ट्रेन

ट्रेन पर हो रहे पथराव को रोकने का कोई ठोस रास्ता नहीं होने के चलते सरकार अब इसको लेकर जागरूकता अभियान चलाएगी. जिन शहरों से ट्रेन-18 गुजरेगी वहां जागरूकता अभियान चलाया जाएगा. लोगों को इसको लेकर जागरूक किया जाएगा कि इससे ट्रेन की सुरक्षा को खतरा है और सरकार के साथ-साथ जनता का भी नुकसान है.

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, जागरूकता अभियान को बड़े पैमाने पर चलाने की योजना है. इसके तहत बच्चों के बीच गुलाब और क्रिकेट के बॉल बांटे जाएंगे. उन्हें समझाया जाएगा कि खेलना है तो पत्थर से नहीं क्रिकेट बॉल से खेलो, और फेंकना ही है तो पत्थर नहीं फूल फेको जिससे प्यार के बदले प्यार मिले.

सुरक्षा एजेंसियों का भी मानना है कि समझाने के अलावा इसका दूसरा रास्ता नहीं है. उम्मीद की जा रही है कि 15 फरवरी के आसपास इस ट्रेन को हरी झंडी दिखाई जाए.