close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

6 से 7 फीसदी तक महंगे हो सकते हैं टीवी, कंपनियां कीमत बढ़ाने की तैयारी में

 प्रमुख टीवी विनिर्माता कंपनियां सोनी, एलजी, पैनासोनिक और सैमसंग अपने एलईडी-ओएलईडी टीवी सेट की कीमतों में सात प्रतिशत तक बढ़ोतरी की तैयारी कर रही हैं. सीमा शुल्क में बढ़ोतरी के प्रभाव को कम करने के लिए कंपनियां यह कदम उठाने जा रही हैं. कुछ कंपनियों का मानना है कि इससे लघु अवधि में उनकी बिक्री प्रभावित हो सकती है. कंज्यूमर इलेक्ट्रॉनिक्स एंड अप्लॉयंसेज मैन्युफैक्चरर्स एसोसिएशन (सिएमा) ने शुल्क वृद्धि को वापस लेने के लिए सरकार से बातचीत शुरू की है.

6 से 7 फीसदी तक महंगे हो सकते हैं टीवी, कंपनियां कीमत बढ़ाने की तैयारी में
कुछ कंपनियों का मानना है कि इससे लघु अवधि में उनकी बिक्री प्रभावित हो सकती है. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: प्रमुख टीवी विनिर्माता कंपनियां सोनी, एलजी, पैनासोनिक और सैमसंग अपने एलईडी-ओएलईडी टीवी सेट की कीमतों में सात प्रतिशत तक बढ़ोतरी की तैयारी कर रही हैं. सीमा शुल्क में बढ़ोतरी के प्रभाव को कम करने के लिए कंपनियां यह कदम उठाने जा रही हैं. कुछ कंपनियों का मानना है कि इससे लघु अवधि में उनकी बिक्री प्रभावित हो सकती है. कंज्यूमर इलेक्ट्रॉनिक्स एंड अप्लॉयंसेज मैन्युफैक्चरर्स एसोसिएशन (सिएमा) ने शुल्क वृद्धि को वापस लेने के लिए सरकार से बातचीत शुरू की है.

पैनासोनिक एलईडी-ओएलईडी टीवी के दामों में दो से सात प्रतिशत की बढ़ोतरी करेगी. पैनासोनिक इंडिया के कारोबार प्रमुख (उपभोक्ता इलेक्ट्रॉनिक्स खंड) नीरज बहल ने कहा, ‘‘प्रस्तावित सीमा शुल्क बढ़ोतरी से एलईडी-ओएलईडी के दाम बढ़ेंगे जिससे उपभोक्ता मांग पर असर पड़ेगा. हम कीमतों में दो से सात प्रतिशत की वृद्धि करेंगे.’’

उद्योग सूत्रों का कहना है कि सैमसंग भी कीमतों में पांच से छह प्रतिशत की वृद्धि करेगी. इस बारे में पूछे जाने पर एलजी इलेक्ट्रॉनिक्स इंडिया के प्रबंध निदेशक की. वान किम ने कहा कि इससे बचा नहीं जा सकता. हालांकि, उन्होंने कहा कि अभी कंपनी कीमत वृद्धि पर काम कर रही है.

सोनी इंडिया ब्राविया के कारोबार प्रमुख सचिन राय ने कहा कि अभी कंपनी ने दाम नहीं बढ़ाए हैं, लेकिन वह इस शुल्क के मध्यम और दीर्घावधि के असर का आकलन कर रही है. उन्होंने कहा कि भविष्य में हमें कीमतों में वृद्धि करनी पड़ सकती है.

सिएमा के अध्यक्ष मनीष शर्मा ने कहा कि मूल्यवृद्धि से मांग प्रभावित होगी और लघु अवधि में पैनल उद्योग पर असर पड़ेगा. यह उद्योग पिछले लगातार दो साल से खराब समय झेल रहा है. शर्मा ने कहा कि सिएमा ने इस सीमा शुल्क को वापस लेने के लिए सरकार और वित्त मंत्रालय से बातचीत शुरू की है.