close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

PM मोदी ने अचानक बदला प्रोग्राम, सड़क की जगह मेट्रो से नोएडा पहुंचे, ये थी वजह

दुनिया की सबसे बड़ी मोबाइल फैक्ट्री अब नोएडा में शुरू हो गई है. सोमवार को पीएम मोदी और दक्षिण कोरिया के राष्ट्रीय मून-जे-इन ने इसका उद्घाटन किया. 

PM मोदी ने अचानक बदला प्रोग्राम, सड़क की जगह मेट्रो से नोएडा पहुंचे, ये थी वजह

नई दिल्ली: दुनिया की सबसे बड़ी मोबाइल फैक्ट्री अब नोएडा में शुरू हो गई है. सोमवार को पीएम मोदी और दक्षिण कोरिया के राष्ट्रीय मून-जे-इन ने इसका उद्घाटन किया. उद्घाटन के लिए पीएम मोदी और कोरियाई राष्ट्रपति मेट्रो से नोएडा पहुंचे. हालांकि, मेट्रो से यात्रा करना पहले से तय नहीं था. कोरियाई राष्ट्रपति के पहले दौरे को देखते हुए दिल्ली से हवाई मार्ग के जरिए नोएडा स्थित सैमसंग के प्लांट पहुंचना का कार्यक्रम तय था. लेकिन, अचानक इस प्रोग्राम में बदलाव किए गए. यहां तक की मेट्रो से यात्रा का भी कार्यक्रम तय नहीं था. यही वजह थी कि समय से ठीक पहले तक डीएमआरसी, सीआईएसएफ और दिल्ली पुलिस को इसकी जानकारी नहीं थी. तो फिर मेट्रो से यात्रा का फैसला किसका था और क्यों ऐसा किया गया?

एक घंटे पहले मिली सूचना
डीएमआरसी, सीआईएसएफ और दिल्ली पुलिस को महज एक घंटे पहले ही यह सूचना दी गई कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कोरियाई राष्ट्रपति मून-जे-इन सड़क या हवाई मार्ग से नहीं बल्कि मेट्रो से यात्रा करेंगे. यह आदेश सुनकर आनन-फानन में सब तैयारी की गई. सब हैरान थे कि अचानक फैसला क्यों बदला गया. लेकिन, सभी एजेंसियों ने सुरक्षा के इंतजाम किए. इसके बाद पीएम मोदी और राष्ट्रपति मून-जे-इन ने मेट्रो से सफर किया.

ये है Samsung की सबसे बड़ी मोबाइल फैक्ट्री, जानिए क्या है इसकी खासियत

शेड्यूल में था सड़क मार्ग
सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, पीएम मोदी और राष्ट्रपति मून-जे-इन का प्रोग्राम अचानक बदला गया. दरअसल, पहले यह प्रोग्राम हेलिकॉप्टर से नोएडा जाने का था. इसके लिए सैमसंग के मेगा प्लांट के नजदीक एक हेलीपैड भी बनाया गया था. लेकिन, कुछ कारणों के चलते इसे बदला गया और सड़क मार्ग के जरिए नोएडा का प्रोग्राम तय किया गया. इसके लिए दिल्ली पुलिस की तरफ एक शेड्यूल भी जारी किया गया, जिसे नोएडा पुलिस को भी सौंपा गया था. सड़क मार्ग पर पीएम मोदी का काफिला निकलने की वजह रूट डायवर्जन भी किए गए. रूट डायवर्जन के लिए सभी संबंधित एजेंसियों को सूचित किया गया था. दो दिन पहले से रेडियो के जरिए भी एनाउंटमेंट हुआ. लेकिन, अचानक इस प्रोग्राम को भी बदल दिया गया.

कोरिया की तकनीक और भारत के साफ्टवेयर से मिलकर तैयार करेंगे दुनिया के बेहतरीन प्रोडेक्ट: PM मोदी

पीएम ने बदला प्रोग्राम
सूत्रों के मुताबिक, मेहमान राष्ट्रपति सड़क मार्ग से ही नोएडा जाना चाहते थे, लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का मानना था कि पीक आवर में सड़क मार्ग से दिल्ली और नोएडा के बीच ट्रैवल करने से कई तरह की परेशानियां हो सकती हैं. पीक आवर में निकलने से जगह-जगह भयंकर जाम लग सकता है. ऐसे में पीएम मोदी ने ही मेट्रो से नोएडा तक जाने का विचार सामने रखा, जो कोरियाई राष्ट्रपति को भी पसंद आ गया. इसके बाद दोनों ने मेट्रो से नोएडा बोटनिकल गार्डन तक सफर किया. 

मेट्रो सर्विस नहीं हुई डीले
डीएमआरसी के मुताबिक, पीएम और कोरियाई राष्ट्रपति सोमवार शाम साढ़े 4:36 बजे ब्लूलाइन के मंडी हाउस स्टेशन पर पहुंचे और वहां से टोकन लेकर मेट्रो में सवार हुए और शाम 5:02 बजे नोएडा के बॉटनिकल गार्डन मेट्रो स्टेशन पहुंच. दोनों की यात्रा के लिए अलग से कोई कोच रिजर्व नहीं किया गया था. मेट्रो के परिचालन में भी कोई बदलाव नहीं किया गया. वीवीआईपी मेहमानों की यात्रा के दौरान ट्रेनें डिले नहीं हुईं. दोनों ने शाम 6:56 बजे बॉटनिकल गार्डन से मेट्रो पकड़ी और शाम 7:21 बजे मंडी हाउस स्टेशन पर उतरकर वहां से सड़क मार्ग के रास्ते गए.