close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

ICC World Cup: इस बारिश को हल्के में मत लीजिए, कई बार यह वर्ल्ड चैंपियन भी बनाती है...

भारत और न्यूजीलैंड के बीच गुरुवार को मैच रद्द हो गया. वर्ल्ड कप इतिहास में यह पहला मौका है, जब तीन मैच रद्द हुए हैं. 

ICC World Cup: इस बारिश को हल्के में मत लीजिए, कई बार यह वर्ल्ड चैंपियन भी बनाती है...
नॉटिंघम का ट्रेंटब्रिज मैदान. भारत और न्यूजीलैंड का मैच इसी मैदान पर होना था, जो बारिश के कारण रद्द करना पड़ा. (फोटो: Reuters)

नई दिल्ली: आईसीसी क्रिकेट वर्ल्ड कप (ICC World Cup) में भारत और न्यूजीलैंड का मैच भी रद्द हो गया. यह इस वर्ल्ड कप में रद्द होने वाला तीसरा मैच है. इसके अलावा एक मैच अनिर्णीत भी रहा है. यानी, अब तक चार मैचों में कोई भी परिणाम नहीं आया है. जाहिर है इन मैचों का वर्ल्ड कप के आगे के सफर में बहुत प्रभाव पड़ने जा रहा है. बहुत संभव है कि ये रद्द मैच सेमीफाइनल का समीकरण तय करने में निर्णायक भूमिका निभाएं. और आपको यह भी जान लेना चाहिए कि कई बार रद्द मैच से किसी टीम को इतना भी फायदा हो जाता है कि वह इसकी वजह से चैंपियन भी बन जाता है. पाकिस्तान इसकी सबसे बड़ी मिसाल है. 

पाकिस्तान की टीम आईसीसी क्रिकेट विश्व कप में एक ही बार चैंपियन बनी है. उसने इमरान खान की कप्तानी में 1992 में विश्व कप जीता है. कोई शक नहीं, इस खिताबी जीत के लिए इमरान खान की लीडरशिप को श्रेय दिया जाता है. लेकिन जिन क्रिकेटप्रेमियों ने 1992 का विश्व कप नहीं देखा या उसके बारे में ज्यादा नहीं पढ़ा-सुना, उन्हें यह जान लेना चाहिए कि अगर बारिश ना होती तो पाकिस्तान चैंपियन भी नहीं बन पाता. 

यह भी देखें: VIDEO: आप धोनी की जिस स्टंपिंग स्टाइल के फैन हैं, वैसा 27 साल पहले ही कर चुके हैं किरण मोरे 

तब 9 अंक लेकर सेमीफाइनल खेला था पाक 
अबकी बार की तरह 1992 में भी विश्व कप राउंडरॉबिन फॉर्मेट में खेला गया था. यानी, सभी टीमों ने सभी टीमों से मैच खेले. टॉप-4 टीमें सेमीफाइनल में पहुंचीं. जाहिर है इन्हीं चार सेमीफाइनलिस्ट टीमों में से एक (पाकिस्तान) चैंपियन बनी. बता दें कि पाकिस्तान की टीम ने 1992 के विश्व कप में 9 अंक के साथ सेमीफाइनल में जगह बनाई थी. बाकी तीन टीमों के अंक अधिक थे. न्यूजीलैंड 14, इंग्लैंड 11 और दक्षिण अफ्रीका 10 अंक के साथ अंतिम चार में पहुंचे थे. ऑस्ट्रेलिया और वेस्टइंडीज 8-8 अंकों के साथ क्रमश: पांचवें और छठे नंबर पर थे. 

74 रन पर ढेर हुआ, पर बारिश ने बचा लिया 
यहां यह जान लेना जरूरी है कि पाकिस्तान को उस विश्व कप में बारिश का सीधा फायदा मिला था. इंग्लैंड ने उस मैच में पाकिस्तान को महज 74 रन पर ऑलआउट कर दिया था. उसने इसके जवाब में एक विकेट पर 24 रन भी बना लिए थे. तभी बारिश आ गई. पाकिस्तान की तय हार टल गई. इस तरह उसे उस मैच में एक अंक मिल गया, जिसमें उसकी हार तय थी. बारिश से मिली इस संजीवनी की वजह से उसके 9 अंक हो पाए.

यह भी पढ़ें: ICC World Cup: जून का महीना और न्यूजीलैंड, टीम इंडिया की इच्छा फिर रह गई अधूरी...

तो पाक नहीं ऑस्ट्रेलिया होता सेमीफाइनल में
अगर इंग्लैंड-पाकिस्तान मैच में बारिश नहीं आती तो इमरान खान की टीम के आठ अंक ही होते. यानी, तब पाकिस्तान, आस्ट्रेलिया और वेस्टइंडीज तीनों के एक बराबर 8-8 अंक होते. फिर नेट रनरेट का मामला सामने आता. नेट रनरेट के समीकरण में ऑस्ट्रेलिया की स्थिति पाकिस्तान और वेस्टइंडीज से बेहतर थी. यानी, तब ऑस्ट्रेलिया सेमीफाइनल खेलता और पाकिस्तान रॉउंडरॉबिन फॉर्मेट खेलकर घर लौट चुका होता. 

इस बार श्रीलंका के दो मैच प्रभावित 
अब बात मौजूदा वर्ल्ड कप की. इस वर्ल्ड कप में श्रीलंका के दो मैच बारिश से प्रभावित हुए. उसके अलावा भारत, पाकिस्तान, न्यूजीलैंड, वेस्टइंडीज, दक्षिण अफ्रीका और बांग्लादेश के एक-एक मैच बारिश के कारण पूरे नहीं हो सके. इन सभी टीमों को विरोधी टीमों के साथ अंक बांटने पड़े. अब यह भविष्य बताएगा कि इन मैचों और इन अंक से सेमीफाइनल की गणित कितनी प्रभावित होगी. तब तक इंतजार करिए.