प्रवेश परीक्षा के दबाव में आकर महिला डॉक्टर ने की आत्महत्या

पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि एक असत्यापित सुसाइड नोट बरामद हुआ है. माना जा रहा है कि इसे डॉक्टर ने शर्मिष्ठा सोम ने लिखा है

प्रवेश परीक्षा के दबाव में आकर महिला डॉक्टर ने की आत्महत्या
सोम की मां ठाणे में जानी मानी त्वचा रोग विशेषज्ञ हैं

नई दिल्ली: ठाणे के कोलशेट इलाके में एमडी पाठ्यक्रम की प्रवेश परीक्षा की तैयारी कर रही 24 वर्षीय एक महिला डॉक्टर ने 'परीक्षा का दबाव' नहीं झेल पाने के कारण शनिवार को अपनी इमारत की 12वीं मंजिल से कूदकर कथित तौर पर आत्महत्या कर ली. पुलिस ने यह जानकारी दी.

पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि एक असत्यापित सुसाइड नोट बरामद हुआ है. माना जा रहा है कि इसे डॉक्टर ने शर्मिष्ठा सोम ने लिखा है. सुसाइड नोट में सोम ने आत्महत्या के लिये 'पढ़ाई के दबाव' को जिम्मेदार बताया है. सोम की मां ठाणे में जानी मानी त्वचा रोग विशेषज्ञ हैं.

कापुरबावड़ी थाना के निरीक्षक अरविंद करपे ने बताया, 'प्रतीत होता है कि यह सुसाइड नोट मृतका ने ही लिखा था. इसमें लिखा है कि वह एमडी (डॉक्टर ऑफ मेडिसिन) पाठ्यक्रम के लिये प्रवेश परीक्षा को लेकर पढ़ाई का दबाव नहीं झेल पा रही है'. प्रारंभिक सूचना के अनुसार सुबह करीब सात बजे उसने अपने फ्लैट से छलांग लगायी थी. करपे ने बताया कि इस संबंध में दुर्घटनावश मौत का मामला दर्ज किया गया है और सोम के शव को पोस्टमॉर्टम के लिये भेज दिया गया है.

गौरतलब है कि एमबीबीएस स्नातकों को स्नातकोत्तर पाठ्यक्रम में दाखिला के लिये नीट पीजी (राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा, स्नातकोत्तर) की परीक्षा पास करनी होती है. वहीं छात्रा के पढ़ाई के दबाव में आकर ऐसा कदम उठाने के बाद पूरा परिवार सदमे में है. 

(इनपुट-भाषा)