Coronavirus new symptom: मरीजों में सामने आया कोरोना वायरस का एक और नया लक्षण, डॉक्टरों की सलाह- तुरंत कराएं टेस्ट

Coronavirus New Symptom: कोरोना की दूसरी लहर में मरीजों में हर दिन नए-नए लक्षण सामने आ रहे हैं. अगर आपको बहुत अधिक थकान महसूस हो या प्लेटलेट्स कम हो जाएं तो तुरंत कोविड टेस्ट करवाएं क्योंकि यह भी कोरोना का एक लक्षण हो सकता है.

Coronavirus new symptom: मरीजों में सामने आया कोरोना वायरस का एक और नया लक्षण, डॉक्टरों की सलाह- तुरंत कराएं टेस्ट
कोरोना का बिल्कुल नया लक्षण

नई दिल्ली: सर्दी-जुकाम, खांसी, बुखार, बदन में दर्द, नाक बहना, गले में दर्द- ये सभी कोरोना वायरस के लक्षण (Coronavirus Symptoms) भी हैं और वायरल बुखार (Viral Fever) या सामान्य सर्दी-जुकाम यानी Common Cold के भी. इस वजह से कई बार इनमें फर्क करना मुश्किल हो जाता है. हालांकि अब कोरोना वायरस (Coronavirus) की दूसरी लहर में रोजाना इसके नए-नए लक्षण सामने आ रहे हैं. बहुत अधिक थकान (Fatigue) महसूस होना, डायरिया (Diarrhea) और सिर में दर्द (Headache) के बाद अब मरीज की प्लेटलेट्स में अचानक कमी होना भी कोविड-19 का एक लक्षण है.

प्लेटलेट काउंट घटकर 20 हजार पहुंच गया था

टाइम्स ऑफ इंडिया की एक रिपोर्ट की मानें तो लखनऊ के 60 साल के अलीम शेख ने बहुत अधिक थकान महसूस होने पर 18 अप्रैल को अपना ब्लड टेस्ट (Blood Test) करवाया तो उनके खून में प्लेटलेट्स की संख्या 85 हजार निकली, जबकि सामान्य मरीज में 1.5 लाख से 4.5 लाख तक प्लेटलेट्स (Blood Platelets) होती हैं. डॉक्टरों की सलाह पर उन्होंने दवा लेनी शुरू की लेकिन 23 अप्रैल को उनकी सांस फूलने लगी (Breathlessness). दोबारा ब्लड टेस्ट होने पर उनके प्लेटलेट 20 हजार पर पहुंच गए. परिवार वाले उन्हें अस्पताल में भर्ती कराने की कोशिश करने लगे लेकिन ऑक्सीजन सपोर्ट वाले बेड की कमी की वजह से उनकी मौत हो गई.

ये भी पढ़ें- कोरोना वायरस के हल्के लक्षण हैं तो घर पर ही हो सकते हैं स्वस्थ

मरीज में शुरुआत में नहीं दिखे कोरोना के कोई लक्षण

लखनऊ के ही 59 साल के राजकुमार रस्तोगी ने भी बहुत अधिक थकावट महसूस होने के बाद जब 13 अप्रैल को ब्लड टेस्ट करवाया तो उनकी प्लेटलेट्स सिर्फ 21 हजार निकलीं. दवाइयों से उनकी स्थिति में कुछ सुधार हुआ लेकिन 16 अप्रैल को सांस लेने में तकलीफ के बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां सीटी स्कैन (CT Scan) में पता चला कि उन्हें कोविड निमोनिया (Covid pneumonia) था. फेफड़ों में इंफेक्शन बढ़ने की वजह से 20 अप्रैल को राजकुमार की भी मौत हो गई. राजकुमार के बेटे की मानें तो उनके पिता में सूखी खांसी, बुखार या सांस फूलने जैसे कोई लक्षण नजर नहीं आए थे.

ये भी पढ़ें- कैसे पता करें आपको कोरोना हुआ था या नहीं, इन लक्षणों से करें पहचान

हर वायरल इंफेक्शन में प्लेटलेट काउंट कम होता है

लखनऊ के KGMU (किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी) में रेस्पिरेटरी मेडिसिन विभाग के प्रोफेसर संतोष कुमार कहते हैं, 'हर वायरल इंफेक्शन (Viral Infection) में प्लेटलेट काउंट कुछ कम हो जाता है. इसलिए अगर बिना किसी खास कारण के बहुत अधिक थकान लगे तो उसे इग्नोर करने की बजाए कोविड-19 का टेस्ट (Covid-19 test) तुरंत करवाएं. डायरिया, आंखों का लाल होना, स्किन पर रैशेज और थकान भी कोविड-19 का नया लक्षण है इसलिए लोगों को कोविड-19 का टेस्ट जरूर करवाना चाहिए.' 

ये भी पढ़ें- कोरोना की दूसरी लहर से बचना है तो क्या खाएं, क्या नहीं, जानें

डॉक्टरों की सलाह- थकान महसूस होने पर कोविड टेस्ट करवाएं

राम मनोहर लोहिया अस्पताल के डॉ विक्रम सिंह कहते हैं, 'बहुत अधिक थकान (Fatigue and exhaustion) और बीमार महसूस करना भी वायरल फीवर के लक्षण हैं और कोविड-19 भी एक वायरल बीमारी ही है इसलिए मरीजों में बुखार के साथ ही थकान भी महसूस होती है. कई मरीजों में देखने में आया कि उनका ब्लड प्लेटलेट घटकर 75 से 80 हजार पहुंच गया जिसे कई बार Dengue या कोई अन्य बीमारी समझ लिया जाता है जबकि हकीकत में वह कोविड होता है. इसलिए हमारा सुझाव है कि अगर बहुत अधिक थकान महसूस हो तो अपना कोविड टेस्ट जरूर करवाएं.'

(नोट: किसी भी उपाय को करने से पहले हमेशा किसी विशेषज्ञ या चिकित्सक से परामर्श करें. Zee News इस जानकारी के लिए जिम्मेदारी का दावा नहीं करता है.)

सेहत से जुड़े अन्य लेख पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें. 

देखें LIVE TV -
 

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.