अमेरिका के लोगों को लगा ये भयंकर रोग, डॉक्टरों ने कहा ये महामारी की तरह बढ़ रहा है

संयुक्त राष्ट्र के डेटा में भी कहा जा चुका है कि भारत जैसे जिन देशों में यह समस्या पहले बहुत कम रही वहां 2050 तक यह बहुत बढ़ जाएगी. 

अमेरिका के लोगों को लगा ये भयंकर रोग, डॉक्टरों ने कहा ये महामारी की तरह बढ़ रहा है
.(प्रतीकात्मक तस्वीर)

ह्यूस्टन: अमेरिका में निकट दृष्टि दोष (मायोपिया) की समस्या अब महामारी की हद तक बढ़ रही है. नेशनल आई इंस्टीट्यूट के डेटा के मुताबिक 42 प्रतिशत अमेरिकी इसकी जद में हैं जो 1971 में 25 प्रतिशत तक सीमित थे. विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के मुताबिक दूर की वस्तुएं देख सकने में अक्षम लोगों की संख्या बहुत तेजी से बढ़ रही है. दिल्ली के एम्स ने पिछले साल एक अध्ययन में बताया था कि भारत में पांच से 15 आयुवर्ग के बच्चों में हर छह में से एक इस समस्या से ग्रस्त है. संयुक्त राष्ट्र के डेटा में भी कहा जा चुका है कि भारत जैसे जिन देशों में यह समस्या पहले बहुत कम रही वहां 2050 तक यह बहुत बढ़ जाएगी.

निकट दृष्टि दोष आम तौर पर स्कूल जाने वाले बच्चों को ज्यादा होता है और यह काला मोतिया रोग (ग्लूकोमा) एवं आंशिक अंधेपन जैसी आंखों की दीर्घकालिक समस्याओं का कारण बन सकता है. तकनीक के अत्याधिक इस्तेमाल से बच्चों में निकट दृष्टि दोष बढ़ने के बीच संबंध की पुष्टि करने के लिए कोई ठोस अध्ययन अब तक सामने नहीं आया है लेकिन कई शोधों में इन दोनों के बीच संबंध दिखाया गया है.

निकट दृष्टि दोष के चलते बच्चों में धुंधला दिखने की समस्या को लेकर ह्यूस्टन विश्वविद्यालय नेत्र संस्थान बच्चों में इस समस्या को दूर करने के लिए निकट दृष्टि दोष प्रबंधन सेवा उपलब्ध करा रहा है. टेक्सास में यह पहली तरह की सेवा होगी. पूर्व में हुए अध्ययनों में बताया गया है कि बच्चों को फोन से दूर रखने, घर से बाहर के खेल-कूद के लिए प्रोत्साहित करने से इस समस्या पर कुछ हद तक नियंत्रण पाया जा सकता है.

इनपुट भाषा से भी 

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.