11 दिसबंर से खाली हो जाएंगे दिल्ली के सभी बॉर्डर, किसान आंदोलन हुआ स्थगित
X

11 दिसबंर से खाली हो जाएंगे दिल्ली के सभी बॉर्डर, किसान आंदोलन हुआ स्थगित

संयुक्त किसान मोर्चा ने किसान आंदोलन स्थगित करने का ऐलान कर दिया है. 11 दिसबंर से किसान बॉर्डर से हट जाएंगे. संयुक्त किसान मोर्चा ने प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि किसानों ने एक साल संघर्ष किया. हम बड़ी जीत लेकर जा रहे हैं. 15 जनवरी को  SKM आगे की रणनीति के लिए बैठक करेगा. 

11 दिसबंर से खाली हो जाएंगे दिल्ली के सभी बॉर्डर, किसान आंदोलन हुआ स्थगित

नई दिल्ली. एक साल से ज्यादा समय से चल रहा किसान आंदोलन फिलहाल स्थगित हो चुका है. जानकारी के अनुसार, संयुक्त किसान मोर्चा ने किसान आंदोलन कुछ समय के लिए स्थगित कर दिया है. 11 दिसबंर बॉर्डर से किसान हट जाएंगे. संयुक्त किसान मोर्चा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके इसका ऐलान किया. 

किसानों के बलिदान की हुई जीत 

संयुक्त किसान मोर्चा ने प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि किसानों ने एक साल संघर्ष किया. हम बड़ी जीत लेकर जा रहे हैं. किसान नेताओं ने कहा कि 13 दिसबंर को स्वर्ण मंदिर जाएंगे. उन्होंने कहा कि किसानों के बलिदान की जीत हुई. किसान आगे की रणनीति जल्द ही तैयार करेंगे.

ये भी पढ़ें: असली में ऑरेंज कलर का होता है विमान का ब्‍लैक बॉक्‍स, जानें क्या है इसकी वजह

15 जनवरी को आगे की रणनीति के लिए होगी बैठक

ये आजादी के बाद का सबसे बड़ा सम्मेलन रहा. इस आंदोलन के से किसानों की ताकत और हिम्मत बढ़ी है. किसान नेता किसान नेता बलवीर राजेवाल ने कहा कि हम सरकार को झुका कर आंदोलन को स्थगित कर रहे हैं. लेकिन 15 जनवरी को  SKM आगे की रणनीति के लिए बैठक करेगा. किसान आंदोलन के वापसी के बाद किसान घर वापसी करेंगे. उन्होंने कहा कि किसान आंदोलन को फिलहाल स्थगित किया गया है और हर महीने SKM की बैठक होगी. अगर सरकार दाएं-बाएं होती हैं तो फिर से आंदोलन करने का फैसला लिया जा सकता है.

VIDEO-

ये भी पढ़ें: हादसे से ठीक पहले के वीडियो में देखिए किस प्रकार हेलीकॉप्टर का संतुलन बिगड़ा

सिंघु बॉर्डर से टैंट हटना शुरू

बताया जा रहा है कि देर शाम से बॉर्डर पर मौजूद किसान अपना सामान पैक करना शुरू कर देंगे. 10 दिसंबर को सभी किसान अपना सामान पैक करने के बाद 11 दिसंबर को एक साथ दिल्ली के बॉर्डर छोड़ना शुरू कर देंगे. दरअसल केंद्र की ओर से दोबारा भेजे गए मसौदा प्रस्ताव पर किसानों ने अपनी सहमति जाहिर कर दी थी, उसी प्रस्ताव पर सरकार ने किसानों को लिखित में दे दिया है. अब उम्मीद है कि किसान आंदोलन पर अंतिम फैसला लेंगे. इस बीच, सिंघु बॉर्डर पर किसानों ने टेंट हटाना शुरू कर दिया है और आपस मे किसान मिठाइयां भी बांट रहे हैं. 

LIVE TV

Trending news