close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

असम: सुरक्षाबलों को बड़ी कामयाबी, मोस्ट वांटेड उग्रवादी हथि‍यारों के साथ गिरफ्तार

सुरक्षाबलों ने आतंकवादी ठिकानों पर संयुक्त ऑपरेशन से  एनडीएफबी(एस) के मोस्ट वांटेड उग्रवादी 33 वर्षीय रोहितोंन नार्ज़ारी को गिरफ्तार किया. उसके पास से एके 56, पिस्तौल, 1 राउंड मैगज़ीन, 21 ज़िंदा कारतूस मिले.  

असम: सुरक्षाबलों को बड़ी कामयाबी, मोस्ट वांटेड उग्रवादी हथि‍यारों के साथ गिरफ्तार

गुवाहाटी: असम के कोकराझार में सेना, पुलिस और कोबरा रेजिमेंट को एक संयुक्‍त ऑपरेशन में बड़ी कामयाबी मिली. उन्‍होंने एक मोस्‍ट वांटेड उग्रवादी को हथियारों के साथ गिरफ्तार किया. सुरक्षाबलों ने आतंकवादी ठिकानों पर संयुक्त ऑपरेशन से  एनडीएफबी(एस) के मोस्ट वांटेड उग्रवादी 33 वर्षीय रोहितोंन नार्ज़ारी को गिरफ्तार किया. उसके पास से एके 56, पिस्तौल, 1 राउंड मैगज़ीन, 21 ज़िंदा कारतूस मिले.  

भारतीय सेना, कोकराझार पुलिस और कोबरा रेजिमेंट ने बुधवार को एक गुप्त सूचना के आधार पर संयुक्त ऑपरेशन चलाकर कोकराझार जिले के कचुगाव थाना अंतर्गत इलाके से उग्रवादी संगठन नेशनल डिमोक्रेटिक फ्रंट ऑफ बोडोलैंड (एनडीएफबी-एस) के कैडर और खतरनाक उग्रवादी रोहितोंन नार्ज़ारी को गिरफ्तार किया.

बताया जाता है इस उग्रवादी की काफी अरसे से सेना, पुलिस और कोबरा रेजिमेंट को तलाश थी. कचुगांव इलाका कोकराझार जिले के घने जंगल से घिरा होने के कारण अक्सर एनडीएफबी उग्रवादी यहाँ छिपने में कामयाब हो जाते हैं. आज चलाये गए संयुक्त ऑपरेशन से यहां छिपे एनडीएफबी-एस के खतरनाक उग्रवादी को सेना, कोकराझाड़ पुलिस और कोबरा रेजिमेंट ने जंगल को घेर लिया था. जिस वजह से ये दुर्दांत उग्रवादी भागने में कामयाब नहीं हुआ और हथियार सहित पकड़ा गया.

गौरतलब है कि असम में ज्यादातर उग्रवादी अपने हथियार जमीन में गाड़ कर रखते हैं और जगह की पहचान के लिए उसके ऊपर कोई न कोई पेड़, पौधा लगा दिया जाता है. सेना, पुलिस और कोबरा रेजिमेंट के ऑपरेशन के दौरान भी पकडे गए उग्रवादी से पूछताछ से उसके पास से ज़मीन में दफ़न किये एक एके-56, एक मैगजीन ओर 21 राउंड जिन्दा कारतूस  बरामद किया.