भागलपुर: गर्ल्स हॉस्टल में जारी हुआ बुर्का पहनने का फरमान, छात्राओं ने कहा-'शरिया लॉ बर्दाश्त नहीं'
X

भागलपुर: गर्ल्स हॉस्टल में जारी हुआ बुर्का पहनने का फरमान, छात्राओं ने कहा-'शरिया लॉ बर्दाश्त नहीं'

एक रिसर्च स्कॉलर नेदा फातिमा ने कहा, 'बिहार में गर्मी के मौसम में बुर्का पहनना आसान नहीं है इसलिए हम कभी-कभी परिसर के अंदर पतलून और टी-शर्ट पहनते हैं. जब भी वह पतलून में किसी छात्रा को देखती हैं या स्कूटी रखने वाली छात्राओं से बात करती हैं, डांटती-फटकारती हैं.'

 

भागलपुर: गर्ल्स हॉस्टल में जारी हुआ बुर्का पहनने का फरमान, छात्राओं ने कहा-'शरिया लॉ बर्दाश्त नहीं'

Bhagalpur: भागलपुर के एक गर्ल्स हॉस्टल में रहने वाली अल्पसंख्यक समुदाय की छात्राओं ने शनिवार दोपहर को हॉस्टल अधीक्षक द्वारा कैंपस के अंदर बुर्का पहनने का निर्देश जारी किए जाने के बाद जमकर हंगामा किया.

छात्राओं ने छात्रावास के गेट पर पथराव किया. उन्होंने आरोप लगाया कि अधीक्षक छात्रावास में तालिबान शरिया कानून लागू करने की कोशिश कर रही हैं. एक छात्रा दरक्शा अनवर ने कहा, 'जब भी हम पतलून पहनती हैं, अधीक्षक छात्राओं को गाली देती हैं. वह हमारे माता-पिता को भी गलत जानकारी देती है कि हम लड़कों से बात करते हैं.'

ये भी पढ़ें- भागलपुर नगर निगम में घोटाला! मेयर सीमा के पति पर लगा गंभीर आरोप

एक रिसर्च स्कॉलर नेदा फातिमा ने कहा, 'बिहार में गर्मी के मौसम में बुर्का पहनना आसान नहीं है इसलिए हम कभी-कभी परिसर के अंदर पतलून और टी-शर्ट पहनते हैं. जब भी वह पतलून में किसी छात्रा को देखती हैं या स्कूटी रखने वाली छात्राओं से बात करती हैं, डांटती-फटकारती हैं.'

घटना की सूचना मिलने पर नाथ नगर की अंचल अधिकारी स्मिता झा पुलिस टीम के साथ गर्ल्स हॉस्टल पहुंचीं और मामले को सुलझा लिया. छात्रावास अधीक्षक ने छात्राओं द्वारा उनके खिलाफ लगाए गए आरोपों से इनकार किया. मामला जिला शिक्षा अधिकारी तक भी पहुंच चुका है. स्मिता झा ने कहा, 'हमने छात्राओं और अधीक्षक के बयान ले लिए हैं. फिलहाल जांच चल रही है. हम जल्द ही जिला शिक्षा अधिकारी को जांच रिपोर्ट सौंपेंगे.'

(इनपुट- आईएएनएस)

Trending news