close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

एयरपोर्ट के चेक-इन एरिया में चहल कदमी पड़ी भारी, पहुंच गए सलाखों के पीछे

आरोपी युवक फर्जी पासपोर्ट पर दिल्‍ली एयरपोर्ट से टोरंटो जाने की कर रहा था कोशिश. 

एयरपोर्ट के चेक-इन एरिया में चहल कदमी पड़ी भारी, पहुंच गए सलाखों के पीछे
गुजरात से आए इस युवक ने जानबूझ कर अपनी फ्लाइट छोड़ दी, जिसके बाद सीआईएसएफ को इस पर शक हुआ. (फाइल फोटो)

नई दिल्‍ली: इंदिरा गांधी अंतरराष्‍ट्रीय एयरपोर्ट के चेक-इन एरिया में एक युवक को संदिग्‍ध परिस्थितियों में चहल कदमी भारी पड़ गई. लंबे समय से चेक-इन एरिया में चहल कदमी करता देख सीआईएसएफ की इंटेलीजेंस विंग ने इस युवक को हिरासत में लेकर पूछताछ की. जिसमें खुलासा हुआ कि वह फर्जी पासपोर्ट पर टोरंटो जाने की कोशिश में था. वह अपने मंसूबों में सफल होता, इससे पहले सीआईएसएफ ने उसे हिरासत में ले लिया. गुजरात मूल के इस युवक के कब्‍जे से सीआईएसएफ ने फर्जी पासपोर्ट बरामद किया है. फिलहाल, सीआईएसएफ ने आरोपी युवक को दिल्‍ली एयरपोर्ट पुलिस के हवाले कर दिया है. दिल्‍ली एयरपोर्ट पुलिस ने आरोपी युवक के खिलाफ मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है. 

सीआईएसएफ के असिस्‍टेंट इंस्‍पेक्‍टर जनरल हेमेंद्र कुमार के अनुसार 28 मई की शाम करीब सात बजे एक युवक को सीआईएसएफ की इंटेलीजेंस विंग ने संदिग्‍ध परिस्थितियों में टहलते हुए देखा. संदेह होने पर सीआईएसएफ इंटेलीजेंस विंग ने सीसीटीवी ऑब्‍जर्वर से इस युवक पर कड़ी निगाह रखने के लिए कहा. इस दौरान पाया गया कि यह युवक लगातार इमीग्रेशन एरिया के इर्द गिर्द घूम रहा है. वह कई बार इमीग्रेशन काउंटर की तरफ बढ़ता और फिर वापस आ जाता. आखिर में, वह चेक-इन एरिया में वापस आया गया और फोन पर बात करने लगा. एयरलाइंस से पूछताछ करने पर पता चला कि यह युवक कोरियन एयर की टोरंटो जाने वाली फ्लाइट से रवाना होने वाला था. चहल कदमी के बीच, इस युवक ने जानबूझ कर अपनी फ्लाइट छोड़ दी थी. 

यह भी पढ़ें: दिल्‍ली एयरपोर्ट पर युवती को पत्‍नी बता टोरंटो ले जाने की कर रहा था कोशिश और फिर...

उन्‍होंने बताया कि संदेह पुख्‍ता होने के बाद सीआईएसएफ ने इस युवक को हिरासत में ले लिया. पूछताछ के दौरान, इस शख्‍स ने अपनी पहचान स्‍वरूप सीआईएसएफ के अधिकारियों को अपना पासपोर्ट दिखाया. जिसमें इसका नाम सागर प्रदीप कुमार अग्रवाल लिखा हुआ था. इस युवक के बैग की तलाशी लेने पर उसके भीतर से एक आधार कार्ड बरामद हुआ. जिसमें इस युवक की फोटो लगी हुई थी और इसका नाम जयमिन पटेल लिखा हुआ था. पूछताछ के दौरान, आरोपी युवक ने कबूल किया कि उसका असली नाम जयमिन पटेल है और वह गुजरात के अहमदाबाद शहर का रहने वाला है. उसने बताया कि वह फर्जी पासपोर्ट की मदद से टोरंटो जाने के लिए एयरपोर्ट आया था. पकड़े जाने के डर से वह इमीग्रेशन काउंटर पर नहीं जा रहा था. 

यह भी पढ़ें: मां की हसरत पूरा करने के लिए किया यह गुनाह, सलाखों के पीछे पहुंच गए बेटा और बहू

आरोपी युवक के कबूलनामे के बाद सीआईएसएफ ने इस बाबत इमीग्रेशन अधिकारियों को सूचना दी और दिल्‍ली एयरपोर्ट पुलिस के हवाले कर दिया है. दिल्‍ली एयरपोर्ट पुलिस ने आरोपी युवक के खिलाफ पासपोर्ट एक्‍ट की विभिन्‍न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है. वहीं अब दिल्‍ली पुलिस यह भी पता लगाने का प्रयास कर रही है कि आरोपी युवक को फर्जी पासपोर्ट किसने उपलब्‍ध कराया था. दिल्‍ली एयरपोर्ट पुलिस का दावा है कि जल्‍द ही इस मामले में आरोपी सभी लोगों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा.