दिल्ली चुनाव से पहले केजरीवाल ने कसी कमर, तैयारियों का लिया जायजा

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को दिल्ली विधानसभा चुनाव की तैयारी के मद्देनजर चलाई जा रही मेगा कैंपेन के तहत आयोजित हो रहे बूथ संवाद कार्यक्रम की समीक्षा की. 

दिल्ली चुनाव से पहले केजरीवाल ने कसी कमर, तैयारियों का लिया जायजा
.(फाइल फोटो)

नई दिल्ली: मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को दिल्ली विधानसभा चुनाव की तैयारी के मद्देनजर चलाई जा रही मेगा कैंपेन के तहत आयोजित हो रहे बूथ संवाद कार्यक्रम की समीक्षा की. जिसमें सभी सांसद, मंत्री, विधायक, लोकसभा प्रभारी, पार्षद व जिला प्रभारी शामिल थें. सभी ने बूथ संवाद कैंपेन की सफलता से मुख्यमंत्री को अवगत कराया. सभी ने सीएम को बताया कि बूथ संवाद को जनता का जबर्दस्त सहयोग मिल रहा है. लोग आम आदमी पार्टी सरकार के काम व नीतियों से खासे प्रभावित हैं. वह अगली सरकार भी आम आदमी पार्टी की चाहते हैं.

बूथ संवाद को 24 दिसम्बर तक आयोजित किया जाएगा. इसमें 14,000 बूथों पर विधायकों के नेतृत्व में जनसंवाद कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है. आम आदमी पार्टी के दिल्ली प्रदेश संयोजक गोपाल राय ने कहा कि विधानसभा चुनाव की तैयारी की समीक्षा हुई है. साथ ही अब चुनाव के लिए फंड इक्टठा करने काम में भी पार्टी के लोग जुटेंगे. जिससे आने वाले चुनाव को पार्टी मजबूती से लड़ सके.

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सबसे पहले  बूथ संवाद कार्यक्रम के दौरान दिल्ली के लोगों की तरफ से आम आदमी पार्टी सरकार के कामकाज को लेकर आ रही प्रतिक्रिया जानी. पार्टी के नेताओं ने अब तक आयोजित बूथ संवाद में आई लोगों की साकारात्मक प्रतिक्रिया को बताया. नेताओं ने बताया कि दिल्ली की जनता आम आदमी पार्टी की सरकार के कामकाज से काफी खुश है.

पार्टी की सरकार ने पिछले पांच वर्ष में दिल्ली में काफी विकास कार्य कराया है. बिजली, पानी, सीवर, स्वास्थ्य व शिक्षा के क्षेत्र में सरकार के किये गए कार्य से जनता काफी खुश है और भविष्य में पार्टी को दुबारा सत्ता में लाकर शेष विकास कार्यों को पूरा करने का मौका देना चाहती है.

विधायकों ने एक एक बूथ पर दिल्ली निवासियों की आई प्रतिक्रिया के बारे में विस्तार से जानकारी दी. उन्होंने  बताया कि दिल्ली की जनता आम आदमी पार्टी की तरफ उम्मीद भरी नजरों से देख रही है. जनता का कहना है कि बीते 70 वर्षों में उतना विकास कार्य नहीं हुआ, जितना आप की सरकार ने मात्र 5 साल में किया है.

प्रदेश की जनता इस बात से भी काफी खुश है कि आम आदमी पार्टी ने चुनावी घोषणा पत्र में किये अपने सारे वादे पांच साल के अंदर पूरा कर दिए. यह दिल्ली व पूरे देश मे पहली सरकार है, जिसने सभी वादों को सफलता पूर्वक पूरा करते हुए जनता की अपेक्षाओं पर खरा उतरते हुए सभी का भरोसा जीतने में कामयाब रही है.

विधायकों ने मुख्यमंत्री को बताया कि प्रदेश की जनता आम आदमी पार्टी की सरकार की फिजुलखर्जी रोकने व भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाने को लेकर उठाये गए कदमो से बेहद प्रभावित है. आप की सरकार ने अपने नाम के मुताबिक सत्ता में आने के बाद कार्य भी किया है. पार्टी की सरकार ने आम आदमी की समस्याओं व उनकी जरूरतों पर विशेष ध्यान दिया.

मोहल्ला क्लीनिक, सरकारी स्कूलों में निजी स्कूलों से बेहतर शिक्षा व्यवस्था, महिलाओं को निशुल्क बस सेवा, वाईफाई व सीसीटीवी कैमरे आदि कार्य इस बात का प्रमुख उदाहरण है. विधायकों व सांसदों के साथ मुख्यमंत्री से आसानी से मिल कर अपनी समस्या से अवगत कराने की सहूलियत से लोग बेहद प्रभावित हैं.

दिल्ली की जनता से मिले सकारात्मक प्रतिक्रिया से पार्टी कार्यकर्ताओं में भारी जोश है. बूथ संवाद कार्यक्रमों में दिल्ली की जनता बड़े जोश व उत्साह से भाग ले रही है. इससे पार्टी का काफी मनोबल बढ़ा है.

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने पार्टी कार्यकर्ताओं में जोश भरते हुए जनता के बीच जाकर आम आदमी पार्टी के पांच वर्ष में किये गए विकास कार्यों के बारे में लोगों को बताने के लिए कहा. साथ ही अगामी चुनाव के लिए जनता के बीच जाकर फंड एकत्र करने पर भी जोर दिया.

जिसके बाद प्रदेश संयोजक गोपाल राय ने कहा कि फंड एकत्र करने के लिए भी पार्टी अभियान चलाकर काम करेगी. गौरतलब है कि दिल्ली विधानसभा चुनाव की तैयारी में लगी आम आदमी पार्टी मेगा जन संवाद कैंपेन चला रही है. 24 दिसम्बर तक चलने वाले इस मेगा कैंपेन में 14,000 बूथों पर विधायकों के नेतृत्व में जनसंवाद कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है.

प्रदेश की 70 विधानसभाओं में हर बूथ पर जनसंवाद कार्यक्रम का आयोजन विधायक द्वारा किया जा रहा है. जिन विधानसभाओं में आम आदमी पार्टी के विधायक नहीं है, वहां पर विधानसभा अध्यक्ष एवं  संगठन मंत्री इस कार्य का निर्वहन कर रहे हैं. हर विधानसभा में हर दिन लगभग 4 से 5 बूथों पर जनसंवाद कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है.

जनसंवाद कार्यक्रम के दौरान 1993 से 1998 तक भाजपा की सरकार के दौरान बने तीन मुख्यमंत्री माननीय मदन लाल खुराना जी, माननीय साहिब सिंह वर्मा जी एवं माननीय  सुषमा स्वराज जी द्वारा किए गए कार्य, 1998 के बाद लगातार 15 साल कांग्रेस की सरकार के दौरान माननीय शीला दीक्षित जी द्वारा किए गए कार्य एवं पिछले 5 सालों में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल जी की सरकार द्वारा किए गए कार्यों की तुलना पर चर्चा की ज रही है.

जनसंवाद कार्यक्रम के दौरान बूथ कमेटियों का भी गठन किया जा रहा है. इन बूथ कमेटियों के गठन हेतु पार्टी ने 2700 मंडल प्रभारियों की नियुक्ति की है. यह सभी मंडल प्रभारी अपने-अपने क्षेत्र में हर जनसंवाद कार्यक्रम के दौरान मौजूद रहेंगे. विधानसभा के अंदर बूथ कमेटियों के गठन की जिम्मेदारी विधानसभा अध्यक्ष को दी गई है.

इससे पूर्व, 1 सितंबर से 3 अक्टूबर तक पहले चरण का कैम्पेन चला, जिसके तहत दिल्ली 70 विधानसभाओं में जनसंवाद यात्राओं का आयोजन किया गया. दूसरे चरण में दिल्ली के 14 जिलों में जिला सम्मेलन कार्यक्रम का आयोजन किया गया था जिसमें मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल जी ने आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओ के साथ सीधा संवाद किया था.

तीसरे चरण में दिल्ली के अलग-अलग क्षेत्रों में अलग-अलग समाज और वर्गों के लोगों के साथ मंडल स्तर पर फ्रंटल संगठनों द्वारा जनसंवाद कार्यक्रम किया गया. इसके बाद चौथे चरण में एक मेगा जनसंपर्क अभियान की शुरुआत की गई है, जिसके तहत दिल्ली के 14,000 बूथों पर जनसंवाद कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है.