close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

आधा पेट खाना देती थी मालकिन, नौकर ने बेरहमी से गला रेता

नौकर ने अपनी मालकिन की केवल इस वजह से हत्या कर दी क्योंकि वह उसे भेटभर खाना नहीं देती थी. यमुनानगर की न्यू जैन नगर कॉलोनी में एक हाई प्रोफाइल घर में महिला की धारधार हथियार से हत्या कर दी गई है. 

आधा पेट खाना देती थी मालकिन, नौकर ने बेरहमी से गला रेता
नौकर ने हत्या करने के बाद खुद ही सबको फोन करके घर पर बुला लिया.

यमुनानगर: कहते हैं भूख दुनिया का सबसे बड़ा दर्द है. यह दर्द जब किसी को होता है तो कोई किसी भी हद तक जा सकता है. यह बात एक बार फिर से हरियाणा के यमुनानगर में देखने को मिला है. यहां एक नौकर ने अपनी मालकिन की केवल इस वजह से हत्या कर दी क्योंकि वह उसे भेटभर खाना नहीं देती थी. यमुनानगर की न्यू जैन नगर कॉलोनी में एक हाई प्रोफाइल घर में महिला की धारधार हथियार से हत्या कर दी गई है. हत्या के समय महिला घर पर अकेली थी. हत्या का तरीका देखकर अंदाजा लग रहा है कि इस वारदात को किसी साइको किलर ने अंजाम दिया है. परिवार के लोगों ने शव देखा तो सौ नंबर पर घंटी बजती रही, लेकिन पुलिस नहीं आई. आखिरकार परिवार के लोगों को खुद ही थाने में जाकर पुलिस को मौके पर बुलाना पड़ा.

नौकर ने दी मालिक को कॉल कर बताई हत्या की बात
न्यू जैन नगर कॉलोनी में रहने वाले राजेंद्र सिक्का एक क्रैशर के मालिक हैं. उनकी बहू रोजी की हत्या से इलाके के लोग सन्न हैं. वारदात के बाद घर की हालात देखकर यह लग रहा है कि महिला ने बचने का भी प्रयास किया, लेकिन हत्यारा अपने मंसूबे में सफल रहा. हत्यारे ने घर के किसी भी सामान को हाथ नहीं लगाया है. 

बताया जा रहा है कि दोपहर के समय रोजी घर पर अकेली थीं. घर का नौकर सामने अपने कमरे में था. थोड़ी देर बार नौकर घर आया और दरवाजे की घंटी लगातार बजाने लगा, लेकिन अंदर से न को कोई आवाज आई और न ही कोई बाहर आखिरकार उसने फोन कर अपने मालिक को इस बात की सूचना दी कि मालकिन घर का दरवाजा नहीं खोल रही हैं. मालिक ने आते ही दीवार फांद कर दरवाजा खुलवाया तो अंदर के हालात दिल दहला देने वाले थे.

कॉल करने पर नहीं पहुंची पुलिस
घर में रोजी खून से लथपथ पड़ी हुई थीं. यह देखते ही मालिक के पांव तले से जमीन निकल गई. उन्होंने 100 नंबर पर कॉल करके पुलिस को बुलानी चाही लेकिन वहां से कोई कॉल रिसीव नहीं हुआ. इसके बाद वे खुद पुलिस स्टेशन पहुंचे. 

घर के मालिक राजेंद्र सिक्का ने बताया कि रोजी की शादी फरवरी 2018 में हुई थी. रोजी का पांच माह का एक बेटा भी है. मौके पर पुलिस के आलाधिकारी पहुंचे और घर वालों और आस-पड़ोस के लोगों से पूछताछ शुरू कर दी. शुरुआती पूछताछ में घर के नौकर पर संदेह गया.

नौकर का आरोप भूखी रखती थी मालकिन
सख्ती से पूछताछ में नौकर ने गुनाह कबूल कर लिया. ओरापी नौकर ने बताया कि उसे सात रोटी की भूख रहती थी, लेकिन उसकी मालकिन उसे तीन रोटी ही देती थी, जिसकी वजह से वह भूखा रह जाता था. इस वजह से उसने अपने मालकिन की गला रेतकर हत्या कर दी.

वारदात को अंजाम देने के बाद नौकर ने खुद ही मालिक को फोन किया और रिश्तेदारों को भी लेकर घर पहुंचा. मौत की सूचना पाकर जो लोग घर पर आए उन्हें नौकर पानी भी पिलाता रहा. आरोपी नौकर का नाम राजेश पासवान है.

बहू के आने के बाद नौकर की किचन से कर दी गई थी छुट्टी
आरोपी राजेश ने बताया कि रोजी के इस घर में बहू बनकर आने से पहले वही खाना बनाता था, तब वह पेटभर खाना खाता था. रोजी के आते ही उससे केवल कपड़े धुलने और घर के दूसरे काम कराए जाने लगे. राजेश का आरोप है कि रोजी उसे पेटभर खाना नहीं देती थी. कई बार कहने के बाद भी रोजी उसे केवल तीन रोटी ही खाने को देती थी. जबकि वह छह-सात रोटी खाना चाहता था. कई बार तीन रोटी में से ही एकाध कुत्ते को भी देनी पड़ती थी. इस वजह से उसे भूखे रहना पड़ता था. 

यमुनानगर के एसपी कुलदीप सिंह यादव ने बताया कि आरोपी राजेश ने कबूल किया है कि गुरुवार को उसे तेज भूख लगी थी, लेकिन उसकी मालकिन ने पति दीपांशु के आने तक खाना नहीं बनाने की बात कही. भूख के मारे राजेश ने किचन से चाकू उठाया और मालकिन रोजी का गला रेत दिया. बीच बचाव में रोजी ने राजेश के हाथ पर दांत से भी वार की थी. इसी निशान को देखकर पुलिस ने केस का खुलासा किया.