Breaking News
  • दिल्‍ली और आस-पास भूकंप के झटके महसूस किए गए

पुलवामा हमलाः कुमार विश्वास ने लिखा, 'कंठ में कोई गीला गोला सा अटक रहा है बार बार'

कुमार विश्वास ने अपने ऑफिशियल ट्विटर अकाउंट की प्रोफाइल पिक भी बदल दी है. उनकी नई तस्वीर में एक सैनिक सो रहे नागरिक की रक्षा करते हुए दिखाया गया. सैनिक की पीठ पर कई वार हो रहे हैं.

पुलवामा हमलाः कुमार विश्वास ने लिखा, 'कंठ में कोई गीला गोला सा अटक रहा है बार बार'
फोटो- फेसबुक-ट्विटर

नई दिल्लीः पुलवामा आतंकी हमले को लेकर पूरे देश में गुस्सा है. दुनियाभर के नेताओं और नामचीन हस्तियों ने इस हमले की निंदा करते हुए शहीद परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त की है. भारत में भी तमाम राजनीतिक दलों के नेताओं, बॉलीवुड हस्तियों और खिलाड़ियों ने हमले की निंदा करते हुए आतंक के खिलाफ सख्त कदम उठाने की मांग की है. मशहूर कवि डॉ कुमार विश्वास ने पुलवामा हमले में शहीद जवानों के परिवारों के साथ संवेदना व्यक्त करते हुए मार्मिक पंक्तियां लिखी हैं. कुमार विश्वास की इन लाइनों के पढ़ आपका भी गला रुंध जाएगा.

इसके साथ ही कुमार विश्वास ने अपने ऑफिशियल ट्विटर अकाउंट की प्रोफाइल पिक भी बदल दी है. उनकी नई तस्वीर में एक सैनिक सो रहे नागरिक की रक्षा करते हुए दिखाया गया. सैनिक की पीठ पर कई वार हो रहे हैं.

डॉ. कुमार विश्वास ने ट्वीट में लिखा, 'ग़ुस्सा,बेबसी और आंसू हावी हैं नींद पर, कैसी बीत रही होगी उन परिवारों पर ये रात?, हर तरफ़ दुनिया सोई है पर मेरी नींद मर सी गई हैं !, आंखों में किरचें चुभ रही हैं. हम ही शायद पागल हैं जो संवेदना को इतने गहरे ले बैठते हैं. कंठ में कोई गीला गोला सा अटक रहा है बार बार, ईश्वर तू ही कुछ कर'

इन बॉलीवुड सितारों ने किया ट्वीट
उरी के बाद जम्मू कश्मीर के पुलवामा के अवंतिपोरा में हुए आतंकी हमले को लेकर पूरा बॉलीवुड भी सदमे में है. इस आतंकी हमले पर आर माधवन, रणवीर सिंह, अक्षय कुमार, प्रियंका चोपड़ा, आलिया भट्ट, सलमान खान, अनुष्का शर्मा, स्वारा भास्कर, अनपुम खेर, वरुण धवन, अर्जुन कपूर, श्रद्धा कपूर, फरहान अख्तर, करण जोहर, सोनम कपूर, आयुष्मान खुराना, विक्की कौशल, अभिषेक बच्चन, तापसी पन्नू, अजय देवगन, जावेद अख्तर, शबाना आजमी और ऋषि कपूर ने अपनी-अपनी प्रतिक्रियाएं ट्विटर पर दी है.  

अभिनेता आर माधवन ने ट्वीट करने हुए लिखा- इस घृणित काम के बाद जो लोग इसका जश्न मना रहे हैं उनकी सिर्फ निंदा करना पर्याप्त नहीं है. उनके चेहरे और मुस्कान मिटा दो. बदला लो.