Farmers Protest: दिल्ली पुलिस ने आनंद विहार बॉर्डर किया सील, कई मेट्रो स्टेशन भी बंद

Farmers Protest: दिल्‍ली और गाजियाबाद के बीच आने-जाने के लिए लोगों को आनंद विहार बस अड्डे के सामने महाराजपुर बॉर्डर के रास्ते ही जाना पड़ रहा है जिससे उनकी मुश्किलें बढ़ गई हैं.

Farmers Protest: दिल्ली पुलिस ने आनंद विहार बॉर्डर किया सील, कई मेट्रो स्टेशन भी बंद
(फाइल फोटो)

नई दिल्‍ली:  किसान आंदोलन (Farmers Protest) को लेकर दिल्ली पुलिस ने आनंद विहार बॉर्डर (Anand Vihar Border) को भी किया सील कर दिया है. गाजीपुर बॉर्डर (Ghazipur Border) पर किसानों की लगातार बढ़ती संख्या को देखते हुए एहतियातन आनंद विहार बॉर्डर (Anand Vihar Border) को सील किया गया है.  बॉर्डर बंद होने की वजह से कई किलोमीटर लंबा जाम लग गया है. 

बैरिकेडिंग और कंक्रीट के स्लैब्स से रास्‍ते को किया ब्‍लॉक

एनएच-24, एनएच-9 और गाजीपुर रोड (Ghazipur Road)  से किसी को भी आनंद विहार (Anand Vihar) के गोल चक्कर से आगे गाजियाबाद (Ghaziabad) की तरफ नहीं जाने दिया जा रहा है.  गाजीपुर बॉर्डर (Ghazipur) के पास तो पुलिस ने रोड नंबर 57-ए के सामने बने फ्लाइओवर से लेकर बॉर्डर तक फ्लाइओवर के ऊपर और नीचे, दोनों साइड थोड़ी-थोड़ी दूरी पर ट्रिपल लेयर बैरिकेडिंग करके और बीच-बीच में कंक्रीट के स्लैब्स रखकर रास्ते को पूरी तरह ब्लॉक कर दिया गया है. 

पीक आवर्स में लोगों को हुई परेशानी 

दिल्ली और गाजियाबाद के बीच आने-जाने के लिए लोगों को आनंद विहार बस अड्डे के सामने महाराजपुर बॉर्डर के रास्ते ही जाना पड़ रहा है जिससे उनकी मुश्किलें बढ़ गई हैं. इसके अलावा आनंद विहार से आगे रामप्रस्थ से होते हुए या फिर नोएडा के अंदर से होते हुए लोग गाजियाबाद जा रहे हैं. अप्सरा बॉर्डर की तरफ से गाजियाबाद आने-जाने का रूट भी खुला है. लेकिन बड़ी तादाद में लोग एनएच-24 और एनएच-9 के रास्ते ही दिल्ली से गाजियाबाद के बीच सफर करते हैं. ऐसे में इस रूट के पूरी तरह बंद हो जाने से अब सुबह पीक आवर्स के दौरान महाराजपुर बॉर्डर के आसपास कौशांबी, वैशाली, आनंद विहार और ईडीएम मॉल से लेकर रोड नंबर 56 और 57-ए, गाजीपुर रोड, नरवाना रोड, स्वामी दयानंद मार्ग, विकास मार्ग, मदर डेरी रोड, अक्षरधाम और रिंग रोड तक के ट्रैफिक पर असर पड़ा है.

गाजीपुर बॉर्डर पर बढ़ती जा रही किसानों की संख्‍या

दिल्‍ली के गाजीपुर बॉर्डर पर लगातार दो महीने से कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन (Farmers Protest) जारी है. गाजीपुर बॉर्डर पर किसानों की संख्‍या लगातार बढ़ती जा रही है. 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के मौके पर किसानों की ट्रैक्‍टर परेड में हुई हिंसा के बाद किसान दिल्‍ली की अलग-अलग सीमाओं से वापस जा रहे थे लेकिन किसान  नेता राकेश टिकैत के आह्वान के बाद किसानों का हुजूम दोबारा गाजीपुर लौटने लगा. 

सरकार भी किसानों से बात करने के लिए तैयार है. शनिवार को हुई सर्वदलीय बैठक के दौरान भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विपक्षी पार्टी के नेताओं से कहा कि सरकार और किसानों के बीच बातचीत का रास्‍ता हमेशा खुला है. 

किसान आंदोलन की वजह से मेट्रो सेवा भी प्रभावित हुई है. कई मेट्रो स्‍टेशन बंद किए गए हैं. दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन के मुताबिक, ब्रिगेडियर होशियार सिंह, बहादुरगढ़ सिटी, पंडित श्रीराम शर्मा और टिकरी बॉर्डर मेट्रो स्टेशन के एंट्री और एग्जिट गेट बंद हैं.  वहीं, अक्षरधाम पर ट्रैफिक को डायवर्ट किया गया है. 

विपक्षी पार्टियों ने साधा निशाना 

इस बीच विपक्षी पार्टियां किसान आंदोलन को लेकर लगातार सरकार पर हमलावर हैं.  कांग्रेस नेता डॉ. उदित राज ने कहा कि पहले इंटरनेट इसलिए बंद होता था कि लोग झूठ न फैलाएं, अब इसलिए बंद होता है कि लोग सच न जान पाएं. इसके साथ ही उन्‍होंने बजट को लेकर कहा कि पहले नोटबंदी और गलत रूप से जीएसटी लागू करके सरकार ने नींव को धराशायी कर दिया है, तो बजट कहां से अच्छा होगा?

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.