close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

असम: गुवाहाटी-ढाका के बीच पहली अंतरराष्‍ट्रीय विमान सेवा शुरू, सीएम ने दिखाई हरी झंडी

गुवाहाटी के लोकप्रिय गोपीनाथ बोरदोलोई अंतरास्ट्रीय हवाई अड्डे से असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने  गुवाहाटी और ढाका के बीच स्पाइस जेट अंतरष्ट्रीय विमान सेवा को हरी झंडी दिखाकर विदा किया.

असम: गुवाहाटी-ढाका के बीच पहली अंतरराष्‍ट्रीय विमान सेवा शुरू, सीएम ने दिखाई हरी झंडी

गुवाहाटी: असम के गुवाहाटी और बांग्‍लादेश के बीच अब सीधी उड़ान सेवा उपलब्‍ध होगी. सोमवार को गुवाहाटी के लोकप्रिय गोपीनाथ बोरदोलोई अंतरास्ट्रीय हवाई अड्डे से असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने  गुवाहाटी और ढाका के बीच स्पाइस जेट अंतरष्ट्रीय विमान सेवा को हरी झंडी दिखाकर विदा किया.

स्पाइस जेट फ्लाइट्स की ये सेवा अंतरराष्ट्रीय हवाई संपर्क मार्ग  (इनटरनेशनल एयर कनेक्टिविटी स्कीम) के तहत रोजाना रहेगी. असम के मुख्यमंत्री सर्वानन्द सोनोवाल ने इस अवसर पर कहा की मोदी सरकार के एक्ट ईस्ट पुलिस के तहत निरंतर रूप से कोशिशों के बाद असम और दक्षिण पूर्वी देशों के साथ सीधा हवाई मार्ग से संबंध स्थापित होने की दिशा में ये पहली सफलता है. इसके बाद गुवाहाटी के लोकप्रिय गोपीनाथ बोरदोलोई एयरपोर्ट से नेपाल के काठमांडू, बैंकॉक, यांगून, हानोई और कुआलालंपुर के लिए अंतरराष्‍ट्रीय विमान सेवा जल्द ही शुरू की जाएगी. असम सरकार ने इस दिशा में 100 करोड़ प्रति वर्ष वायबिलिटी गैप फंडिंग बतौर खर्च करने की बात कही है.

मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री के ए फॉर असम के नारे को एक्ट ईस्ट पालिसी के तहत साउथ ईस्ट एशियाई देशों से सीधा हवाई संपर्क वायदे को पूरा करने की दिशा में उठाया गया कदम बताया. साथ ही उन्‍होंने कहा, सिंगापुर और आबू धाबी तक हवाई संपर्क की भी योजना है. उन्‍होंने कहा, असम के किसानों और व्‍यापारियों के लिए साउथ ईस्ट एशियाई देशों से गुवाहाटी से सीधा हवाई सेवा संपर्क का लाभ मिलेगा. असम और नार्थईस्ट के लोगों को भी पर्यटन के लिए कोलकाता से इन देशों के लिए अंतरराष्‍ट्रीय फ्लाइट लेने की जरुरत नहीं पड़ेगी.

सोमवार से आरम्भ हुए स्पाइस जेट के गुवाहाटी ढाका इंटरनेशनल फ्लाइट में दूसरे यात्रियों के बीच कई ख़ास यात्री भी ढाका रवाना हुए. इनमे असम सरकार के राज्यिक स्वास्थ मंत्री पीजूष हजारिका और उनका उनका परिवार, बीजेपी के विधायक प्रशांत फुकन, किशोर नाथ, अशोक शर्मा, भाबेन्द्र नाथ भरली समेत असम सरकार के कई  अधिकारी भी शामिल थे.