बिहार के 'रॉबिनहुड' DGP गुप्तेश्वर पांडे ने लिया रिटायरमेंट, सुशांत केस से हुए थे मशहूर, अब करेंगे राजनीति
X

बिहार के 'रॉबिनहुड' DGP गुप्तेश्वर पांडे ने लिया रिटायरमेंट, सुशांत केस से हुए थे मशहूर, अब करेंगे राजनीति

बिहार (Bihar) के डीजीपी और सुशांत सिंह राजपूत मामले (Sushant Singh Rajput case) से सुर्खियों में आये गुप्तेश्वर पांडे (Gupteshwar Pandey) सेवानिवृत्त हो गए हैं. पांडे का सेवाकाल खत्म होने में अभी पांच महीने शेष थे, लेकिन उन्होंने पहले ही VRS ले लिया.

बिहार के 'रॉबिनहुड' DGP गुप्तेश्वर पांडे ने लिया रिटायरमेंट, सुशांत केस से हुए थे मशहूर, अब करेंगे राजनीति

पटना: बिहार (Bihar) के डीजीपी और सुशांत सिंह राजपूत मामले (Sushant Singh Rajput case) से सुर्खियों में आये गुप्तेश्वर पांडे (Gupteshwar Pandey) ने रिटायरमेंट (VRS) ले लिया है. पांडे का सेवाकाल खत्म होने में अभी पांच महीने बाकी थे, लेकिन उन्होंने पहले ही VRS ले लिया. माना जा रहा है कि वह इस साल बिहार में होने वाले विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Elections 2020) में जनता दल यूनाइटेड (JDU) की टिकट से चुनाव लड़ सकते हैं.

सख्त कार्यशैली के लिए मशहूर
गुप्तेश्वर पांडे अपनी सख्त कार्यशैली के लिए मशहूर रहे हैं. उन्हें बिहार का रॉबिनहुड कहा जाता है. सुशांत मामले में उनके नेतृत्व में बिहार पुलिस ने जिस सक्रियता से काम किया उसे काफी सराहना मिली. अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की रहस्यमय मौत को लेकर पटना में एक एफआईआर दर्ज की गई थी. जिसके आधार पर डीजीपी के निर्देश पर बिहार पुलिस की एक टीम को जांच के लिए मुंबई भेजा गया था, लेकिन टीम को महाराष्ट्र के अधिकारियों से सहयोग नहीं मिला. बीएमसी ने बिहार के आईपीएस विनय तिवारी (IPS Vinay Tiwari) को मुंबई पहुंचते ही क्वारंटीन कर दिया था.  

महाराष्ट्र के व्यवहार से दुखी थे
गुप्तेश्वर पांडे ने BMC की कार्रवाई की खुलकर आलोचना के साथ ही मुंबई पुलिस को जांच में सहयोग नहीं करने के लिए भी आड़े हाथ लिया था. इतना ही नहीं पांडे ने सुशांत सिंह राजपूत को बिहार का पुत्र बताते हुए मामले की CBI जांच को सौंपने का समर्थन किया था. डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे ने मुंबई पुलिस की जांच पर भी कई सवाल उठाए थे. वास्तव में, महाराष्ट्र सरकार और मुंबई पुलिस ने जिस तरह से बिहार पुलिस की टीम के साथ दुर्व्यवहार किया उससे डीजीपी बेहद दुखी थे. उन्होंने सोशल मीडिया के साथ-साथ टीवी चैनलों पर भी इस पूरे प्रकरण को लेकर महाराष्ट्र शासन की आलोचना की थी.

कोई व्यक्तिगत कारण नहीं
बिहार के पूर्व डीजीपी ने ड्रग्स मामले में रिया चक्रवर्ती की गिरफ्तारी पर भी प्रतिक्रिया देते हुए कहा था कि भविष्य में कुछ और महत्वपूर्ण तथ्यों का खुलासा किया जाएगा. गुप्तेश्वर पांडे ने कहा था कि मेरे पास रिया चक्रवर्ती की गिरफ्तारी से खुश या दुखी होने का कोई व्यक्तिगत कारण नहीं है. मैं बस यही चाहता हूं कि सच्चाई सामने आए. सुशांत सिंह राजपूत की मौत की असलियत सामने आनी चाहिए और यह उस दिशा में पहला कदम है. उन्होंने कहा कि NCB को सबूत मिले थे, जिसके आधार पर उसने करवाई की. लोगों को धैर्य रखना चाहिए, समय आने पर कई चीजें सामने आएंगी. दुनिया देख रही है, पूरा देश देख रहा है, जो दोषी हैं उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.

LIVE TV

Trending news