हीरा कारोबारी के ठिकानों पर Income Tax की रेड, 23 ठिकानों से पकड़ा गया 500 करोड़ का 'खेल'

Income Tax Department conducts raid in Surat, Navsari, Mumbai and Chennai: हीरा कारोबारी ने अलग-अलग तरीकों से सरकारी शिकंजे से बचने की कोशिस की थी लेकिन आयकर विभाग की मुस्तैदी के चलते इस रेड को बेहतर क्वार्डिनेशन के साथ पूरा किया गया.

हीरा कारोबारी के ठिकानों पर Income Tax की रेड, 23 ठिकानों से पकड़ा गया 500 करोड़ का 'खेल'
फाइल फोटो

नई दिल्ली: गुजरात (Gujarat) के एक हीरा कारोबारी के यहां आयकर विभाग (IT Department) ने छापा मारा है. इस बड़े व्यापारी के 23 ठिकानों पर एक साथ की गई छापेमारी (Raid) में 500 करोड़ रुपये से अधिक की हेराफेरी का खुलासा हुआ है.

गुजरात, महाराष्ट्र से लेकर तमिलनाडु से जुड़े तार   

आरोपी हीरा व्यवसाई के दफ्तरों में मिले दस्तावेजों के मुताबिक आरोपी टाइल्स मैनुफेक्चरिंग कंपनी का मालिक भी है. इस बीच आयकर अधिकारियों ने कहा है कि इंटेलीजेंस से मिली सूचना के आधार पर 22 सितंबर को डाली गई रेड में 518 करोड़ रुपये मूल्य के हीरों की अघोषित खरीद-फरोख्त का खुलासा हुआ है.

इस दौरान आईटी विभाग ने आरोपी के गुजरात स्थित सूरत, नवसारी, मोरबी और वांकानेर वहीं महाराष्ट्र (Maharashtra) में मुंबई और चेन्नई समेत 23 ठिकानों को एक साथ कवर किया गया.

ये भी पढ़ें- High Return Stocks: ये शेयर्स कर रहे हैं पैसों की वर्षा! करें इन्वेस्ट, एक झटके में होगी तगड़ी कमाई

आईटी के राडार पर था कारोबारी

आपको बता दें कि इस आरोपी पर लंबे समय से निगाह रखी जा रही थी. वहीं IT अधिकारियों ने दावा किया कि हीरों की अघोषित खरीद-फरोख्त से जुड़े दस्तावेजों और बाकी डाटा को गुप्त जगहों पर छिपा कर रखा गया था. इनकी देख-रेख का जिम्मा कारोबारी के कुछ ‘भरोसेमंद कर्मचारियों’ के पास था.

11 करोड़ के हीरे बरामद

आरोपी कारोबारी ने कई तरीकों से सरकारी खजाने को चूना लगाया. उसने अघोषित रकम को प्रॉपर्टी और स्टॉक मार्केट में इंवेस्ट किया. छापे के दौरान IT विभाग ने करीब 2 करोड़ की तैयार अघोषित ज्वैलरी और काफी कैश भी बरामद किया. इसी कार्रवाई के दौरान साथ में 8900 कैरट के हीरे जिनका मूल्य 10.98 करोड़ रुपये है, उन्हें भी जब्त किया गया.

हॉन्ग कॉन्ग कनेक्शन

आरोपी बिजनेसमैन गैरकानूनी तरीके से कच्चे हीरे की खरीद फरोख्त में शामिल था. इस काली कमाई के खेल का हॉन्ग कॉन्ग कनेक्शन भी सामने आया है. इस यूनिट के जरिए बीते दो साल में 1040 करोड़ का कारोबार हुआ. 

विभागीय कार्रवाई जारी

आपको बता दें कि आयकर विभाग के अधिकारियों का कहना है कि छापेमारी के दौरान मिले एक-एक दस्तावेज को स्कैन करके बारीकी से पड़ताल हो रही है. संबंधित धाराओं में मामला दर्ज किया गया है.                                                            

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.