close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

आज भी जिंदा है 'हिममानव', पैरों के निशान देख चौंक गई सेना, शेयर की तस्वीरें

सेना को हिमालय में हिममानव 'येति' के पैरों निशान मिले हैं, जिसे उन्होंने ट्विटर पर शेयर किए हैं. 

आज भी जिंदा है 'हिममानव', पैरों के निशान देख चौंक गई सेना, शेयर की तस्वीरें
भारतीय सेना ने हिममानव के होने के मौजूदगी के संकेत दिए हैं. (फोटो साभार- @adgpi)

नई दिल्ली: हिममानव है या नहीं, इस बारे में कई तरह के कयास लगाए जाते रहे है. क्या वास्तव में ऐसा कोई हिममानव हिमालय पर रहता है? जिसको लेकर बार बार सवाल उठाए जाते रहे है. कई बार लोगों द्वारा दुनियाभर में हिममानव 'येती' को देखे जाने की घटनाएं सामने आती रही हैं. लेकिन अब इस पर यकीन करने के लिए भारतीय सेना ने भी इसकी मौजूदगी के संकेत दिए हैं. सेना को हिमालय में हिममानव 'येति' के पैरों निशान मिले हैं, जिसे उन्होंने ट्विटर पर शेयर किए हैं. 

Indian Army Moutaineering Expedition Team has sited Mysterious Footprints of mythical beast snowman Yeti

सेना ने जारी की तस्वीर 
ट्विटर पर सेना के जन सूचना विभाग की तरफ से किए गए ट्वीट में कहा गया है कि पहली बार भारतीय सेना की एक पर्वतारोही टीम ने मकालू बेस कैंप के करीब 32x15 इंच वाले रहस्यमयी हिममानव 'येती' के पैरों के निशान देखे हैं. यह मायावी स्नोमैन इससे पहले केवल मकालू-बरुन नेशनल पार्क में देखा गया है.

'येती' सबसे रहस्यमयी प्राणी
माना जा रहा है कि ये निशान हिममानव 'येती' के पैरों के ही हैं. भारतीय सेना ने अपने ट्वीट में चार तस्वीरें शेयर की हैं. हिममानव 'येती' हिमालय में रहने वाला सबसे रहस्यमयी प्राणी है. 'येती' को ज्यादतार नेपाल और तिब्बत के हिमालय क्षेत्र में देखे जाने की घटना सामने आती रही है. 

क्या है 'येती' 
येती दुनिया के सबसे रहस्यमयी प्राणियों में से एक है, जिसकी कहानियां करीब 100 साल पुरानी है. लद्दाख के कुछ बौद्ध मठों ने दावा किया था कि हिममानव 'येती' उन्होंने देखे हैं. इन दावों को लेकर वैज्ञानिक एकमत नहीं हैं. शोधकर्ताओं ने येती को मनुष्य नहीं बल्कि ध्रुवीय और भूरे भालू की क्रॉस ब्रीड यानी संकर नस्ल बताया है. कुछ वैज्ञानिकों का कहना है कि येती एक विशालकाय जीव हैं, जिसकी शक्लोसूरत तो बंदरों जैसी होती है, लेकिन वह इंसानों की तरह दो पैरों पर चलता है.