India-China Standoff: चीन की हर चाल पर होगी भारत की नजर, सेना खरीदने जा रही है आधुनिक गश्ती नौकाएं

इन आधुनिक नौकाओं का निर्माण गोवा में किया जाएगा और विशेष सुविधाओं के साथ यह दुनिया की चुनिंदा नौकाओं में शामिल होंगी. जिस पैगोंग झील और आसपास के इलाके की निगरानी के लिए भारतीय सेना ये नौकाएं खरीद रही है, उसे रणनीतिक लिहाज से बेहद महत्वपूर्ण माना जाता है.   

India-China Standoff: चीन की हर चाल पर होगी भारत की नजर, सेना खरीदने जा रही है आधुनिक गश्ती नौकाएं
फाइल फोटो

नई दिल्ली: चीन के साथ जारी सीमा विवाद (India-China Standoff) के बीच भारतीय सेना (Indian Army) अपनी ताकत में इजाफा करने जा रही है. सेना ने आधुनिक गश्ती नौकाओं को खरीदने के प्रस्ताव को अंतिम रूप दे दिया है. इन नौकाओं के आने के बाद जवानों के लिए चीन की हरकत पर नजर रखना आसान हो जाएगा. सेना ने बताया कि नई आधुनिक नौकाओं का इस्तेमाल पूर्वी लद्दाख में पैंगोंग झील समेत बड़े जलाशयों की निगरानी के लिए किया जाएगा. इससे पहले भी चीनी सेना को मुंहतोड़ जवाब देने के लिए भारतीय सेना ने कई कदम उठाए हैं.

12 Boats का हुआ करार

भारत और चीन मई की शुरुआत से पूर्वी लद्दाख को लेकर आमने सामने हैं. दोनों देशों में अब तक कई राउंड बातचीत हो चुकी है, लेकिन कोई खास फायदा नहीं हुआ है. ऐसे में सेना (Indian Army) ने खुद को मजबूत करना शुरू कर दिया है. इसी क्रम में आधुनिक गश्ती नौकाओं की खरीद को मंजूरी दी गई है. सेना ने बताया कि उसने सरकारी क्षेत्र के उपक्रम गोवा शिपयार्ड लिमिटेड के साथ करार पर हस्ताक्षर किए हैं. यह करार 12 गश्ती नौकाओं के लिए किया गया है. 

ये भी पढ़ें -लंदन में Covid-19 प्रोटोकॉल तोड़ा तो बार मालिक पर लगा इतना बड़ा जुर्माना, सुन कर रह जाएंगे दंग

मई में होगी Boats की आपूर्ती 

सेना ने ट्वीट कर कहा है कि मई 2021 से नौकाओं की आपूर्ति शुरू हो जाएगी. बड़े जलाशयों में इन नौकाओं का इस्तेमाल गश्ती और निगरानी में किया जाएगा. वहीं, गोवा शिपयार्ड लिमिटेड ने एक बयान में कहा कि उसने अत्याधुनिक गश्ती नौकाओं के लिए बृहस्पतिवार को भारतीय सेना के साथ एक अनुबंध पर दस्तखत किया है. इन नौकाओं में सुरक्षा बलों की जरूरत के अनुरूप विशेष उपकरण लगाए जाएंगे.

पहाड़ियों पर डेट हैं 50 हजार जवान 
कंपनी ने अपने बयान में कहा कि गोवा में इन नौकाओं का निर्माण किया जाएगा और विशेष सुविधाओं के साथ यह दुनिया की चुनिंदा नौकाओं में शामिल होंगी. बता दें कि भीषण ठंड के बावजूद चीन से मुकाबले के लिए भारतीय सेना ने पूर्वी लद्दाख में विभिन्न पहाड़ियों पर करीब 50,000 से ज्यादा सैन्यकर्मियों को तैनात किया है. सेना ने बताया कि चीन ने भी इतने ही सैनिकों की तैनाती की है.

रणनीतिक लिहाज से खास है Pangong lake

भारत और चीन ने बातचीत प्रक्रिया चालू रखी है, ताकि विवाद का शांतिपूर्ण ढंग से हल निकाला जा सके. लेकिन चीन हर बार उकसावे की कार्रवाई करके बातचीत की गाड़ी को पटरी से उतार देता है. जिस पैगोंग झील और आसपास के इलाके की निगरानी के लिए भारतीय सेना अत्याधुनिक नौकाएं खरीद रही है, उसे रणनीतिक लिहाज से बेहद महत्वपूर्ण माना जाता है. भारत ने मई की शुरुआत में गतिरोध शुरू होने के बाद से झील के आसपास निगरानी बढ़ा दी है. दोनों देशों की सेनाओं के बीच पांच मई को पैंगोंग झील वाले इलाके में हिंसक झड़प हुई थी. इसके बाद नौ मई को उत्तरी सिक्किम में इसी तरह की घटना हुई थी.

VIDEO

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.