घाटी में सियासी हलचल के बीच अनुपम खेर बोले, 'कश्मीर समस्या के समाधान' की शुरुआत हो गई है

घाटी में सियासी हलचल के बीच अनुपम खेर बोले, 'कश्मीर समस्या के समाधान' की शुरुआत हो गई है

जम्‍मू और कश्‍मीर (jammu kashmir) में सियासी हलचल तेज है. प्रशासन ने जम्‍मू में सोमवार सुबह 6 बजे से धारा 144 लगा दी है.

घाटी में सियासी हलचल के बीच अनुपम खेर बोले, 'कश्मीर समस्या के समाधान' की शुरुआत हो गई है

नई दिल्ली: जम्‍मू और कश्‍मीर (jammu kashmir) में सियासी हलचल तेज है. प्रशासन ने जम्‍मू में सोमवार सुबह 6 बजे से धारा 144 लगा दी है. घाटी के सियासी घटनाक्रम के बीच, अभिनेता अनुपम खेर ने कहा कि 'कश्मीर समस्या के समाधान' की शुरुआत हो गई है. कश्मीर घाटी में जम्मू-कश्मीर प्रशासन द्वारा शुक्रवार (2 अगस्त) को अमरनाथ यात्रा बीच में ही समाप्त करने और तीर्थयात्रियों एवं पर्यटकों से यथाशीघ्र घाटी छोड़ने के लिए कहे जाने के बाद से तनाव शुरू हो गया. 

प्रशासन ने जम्‍मू में सोमवार सुबह 6 बजे से धारा 144 लगा दी है. जम्‍मू के 8 जिलों में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) की 40 कंपनियों की तैनात की गई है. इसके अलावा श्रीनगर में भी धारा 144 लागू है. दोनों ही जगह सभी शिक्षण संस्‍थानों को भी अगले आदेश तक बंद कर दिया गया है. कश्मीर प्रशासन में ज्यादातर महत्वपूर्ण अधिकारियों को सैटेलाइट फोन दिए गए हैं, ताकि उनके संवाद और समन्वय करने में कोई तकलीफ न हो. 

 

 

श्रीनगर और जम्‍मू समेत कई इलाकों में रविवार रात को इंटरनेट और मोबाइल सेवाएं भी बंद कर दी गई हैं. उमर अब्‍दुल्‍ला और महबूबा मुफ्ती ने दावा किया कि उन्‍हें उनके घर में ही नजरबंद कर दिया गया है. जम्‍मू से लगे उधमपुर, डोडा और रियासी में भी धारा 144 लागू कर दी गई है. साथ ही इन सभी जगहों पर स्‍कूल-कॉलेज भी बंद कर दिए गए हैं. वहीं जम्‍मू-कश्‍मीर के लद्दाख क्षेत्र में आज गर्मियों की छुट्टियों के बाद स्‍कूल खुल रहे हैं. यहां धारा 144 नहीं लगाई गई है. ऐसे में सभी शिक्षण संस्‍थान यहां सामान्‍य रूप से खुले रहेंगे.

Trending news