close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

मध्य प्रदेश: BSP विधायक का BJP पर गंभीर आरोप, '50 करोड़ रुपये और मंत्री पद का दे रहे लालच'

मध्यप्रदेश विधानसभा की 230 सीटों के लिए पिछले साल नवंबर में हुए चुनाव में किसी भी पार्टी को बहुमत नहीं मिला था. कांग्रेस 114 सीटों के साथ सबसे बड़ी पार्टी उभर कर आई थी.

मध्य प्रदेश: BSP विधायक का BJP पर गंभीर आरोप, '50 करोड़ रुपये और मंत्री पद का दे रहे लालच'
मध्य प्रदेश के सीएम कमलनाथ (Kamal Nath) कांग्रेस सरकार के अल्पमत में होने के दावों को खारिज कर चुके हैं.

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha Elections 2019) के नतीजे सामने आने के बाद से ही मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) की कांग्रेस सरकार के अल्पमत में आने की अटकलों ने जोर पकड़ लिया है. इन सबके बीच मध्य प्रदेश की बीएसपी (BSP) विधायक रामाबाई (Ramabai) ने सोमवार को बीजेपी पर एक बड़ा आरोप लगाया है. न्यूज एजेंसी एएनआई के अनुसार, रामाबाई ने बीजेपी पर विधायकों की खरीद-फरोख्त करने का आरोप लगाया है. रामाबाई ने कहा कि वो (बीजेपी) सभी लोगों को पेशकश (ऑफर) दे रहे हैं. केवल मूर्ख ही उनके बहकावे में आएंगे. उन्होंने कहा कि मुझे भी फोन आया था.

 

 

रामाबाई ने कहा कि मेरे पास भी फोन कॉल आ रहे हैं कि मंत्री पद और पैसा मिलेगा. लेकिन, मैंने मना कर दिया. उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि वो एक विधायक को 50-60 करोड़ रुपये का ऑफर दे रहे हैं. मेरे पास भी फोन आया और मुझे मंत्री पद के साथ ही रुपयों का ऑफर दिया गया. उन्होंने कहा कि मैंने मन कर दिया क्योंकि वो मूर्ख ही होगा, जो उनके बहकावे में फंसेगा. 

 

 

बता दें कि मध्य प्रदेश के सीएम कमलनाथ (Kamal Nath) कांग्रेस सरकार के अल्पमत में होने के दावों को खारिज कर चुके हैं. कमलनाथ ने रविवार को विधायकों के साथ बैठक की. वहीं, बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) ने शनिवार को कहा था कि बीजेपी की रूचि कमलनाथ के नेतृत्व वाली कांग्रेस नीत मध्यप्रदेश सरकार को गिराने में नहीं है. लेकिन यदि वह अपने आप गिर जाये तो क्या कर सकते हैं.

गौरतलब है कि मध्यप्रदेश विधानसभा की 230 सीटों के लिए पिछले साल नवंबर में हुए चुनाव में किसी भी पार्टी को बहुमत नहीं मिला था. कांग्रेस 114 सीटों के साथ सबसे बड़ी पार्टी उभर कर आई थी. कांग्रेस ने बसपा के दो विधायकों, सपा के एक विधायक एवं चार निर्दलीय विधायकों के समर्थन से सरकार बनाई है. बीजेपी 109 सीटों के साथ दूसरे नंबर पर रही थी.