close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

छत्तीसगढ़ः भिलाई में फिर मंडरा रहा है डेंगू का खतरा, 4 केस मिलने के बाद मचा हड़कंप

स्वास्थ्य जिला स्वास्थ्य विभाग ने पूरे जिले में अस्पतालों में अलर्ट घोषित कर दिया है. दुर्ग सीएमएचओ डॉ गंभीर सिंह ने जिला कार्यालय में संभाग के सभी डॉक्टरों और विशेषज्ञों की एक वर्कशॉप आयोजित कर सभी को डेंगू से निपटने की जानकारी दी है.

छत्तीसगढ़ः भिलाई में फिर मंडरा रहा है डेंगू का खतरा, 4 केस मिलने के बाद मचा हड़कंप
भिलाई में संदिग्ध डेंगू पॉजिटिव 4 मरीज पाए गए हैं

(हितेश शर्मा/भिलाई)/नई दिल्लीः भिलाई शहर में एक बार फिर डेंगू का खतरा मंडरा रहा है. जिस तरह पिछले साल 2018 में 50 से अधिक लोगों की मौत डेंगू से हो गई थी, जिसमें अधिकतर बच्चे शामिल थे, इस बार भी भिलाई शहर में यह खतरा मंडरा रहा है. शहर में बारिश के मौसम की शुरुआत में ही चार डेंगू के सन्दिग्ध पॉजिटिव मरीज मिले हैं. जिन का इलाज निजी और शासकीय अस्पतालों में चल रहा है. इन मरीजों के मिलने के बाद स्वास्थ्य अमला अलर्ट मोड में नजर आ रहा है. स्वास्थ्य जिला स्वास्थ्य विभाग ने पूरे जिले में अस्पतालों में अलर्ट घोषित कर दिया है. वहीं दुर्ग सीएमएचओ डॉ गंभीर सिंह ने जिला कार्यालय में संभाग के सभी डॉक्टरों और विशेषज्ञों की एक वर्कशॉप आयोजित कर सभी को डेंगू से निपटने की जानकारी दी है.

बता दें साल 2018 में 4000 से अधिक लोगों का ब्लड टेस्ट और 12 सौ लोग डेंगू के पॉजिटिव मरीज पाए गए थे. जिनमें 50 से अधिक लोगों की मौत डेंगू से हो गई थी. इन सबके बावजूद निगम प्रशासन और जिला स्वास्थ्य विभाग अब अब भी मुस्तैद होने का दावा कर रहा है. जिला स्वास्थ्य विभाग ने संभाग स्तर पर डेंगू से रोकथाम के लिए वर्कशॉप का आयोजन किया और जिले के सभी डॉक्टरों को खासतौर पर डेंगू के मरीजों के लिए विशेष व्यवस्था और इलाज मुहैया कराए जाने की हिदायत दी.

डेंगू से निपटने के लिए कितना तैयार है पटना, नगर निगम पर खड़े हो रहे सवाल

इस वर्कशॉप में बिलासपुर के विशेषज्ञ डॉक्टर ऐम्स सिम्स और राजनांदगांव के चिकित्सक भी शामिल थे. जिला चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉक्टर गंभीर सिंह ठाकुर का मानना है कि दो मरीज भिलाई में पाए गए हैं, लेकिन यह दूसरे राज्यों के हैं, एक पुणे में पढ़ाई कर रहा छात्र है, दूसरा सिकंदराबाद से आई हुई महिला है. दोनों का इलाज अभी अस्पताल में चल रहा है. भिलाई में बीते वर्ष हुए डेंगू के प्रकोप के बाद जिला स्वास्थ्य विभाग और जिले के सभी निजी और सरकारी अस्पताल अलर्ट मोड में है. 

राजस्थान: स्वाइन फ्लू के बाद डेंगू-मलेरिया का कहर, स्वास्थ्य महकमे की बढ़ी मुश्किलें

सभी को डेंगू के मरीजो के लिए अलर्ट कर दिया गया है. साथ ही जिले के संवेदनशील इलाकों में जिला स्वास्थ्य विभाग द्वारा शिविरों का आयोजन किया जा रहा है. वहीं जिला स्वास्थ्य अधिकारी ने लोगों से अपील की है. कि वे अपने घरों में और आसपास स्वच्छता बनाए रखें और पानी जमा न होने दें जिससे इस बीमारी से बचा जा सकता है.