MP: दो मिनट में दिलाते थे दो लाख रूपये का लोन, साइबर क्राइम ब्रांच भोपाल के हत्थे चढ़े

साइबर क्राइम जिला भोपाल की टीम द्वारा अपराध कायमी के बाद आरोपी शिवकुमार, मोहम्मद नासिर, सुनील यादव और प्रदीप कुमार की तलाश कर गिरफ्तार किया गया.

MP: दो मिनट में दिलाते थे दो लाख रूपये का लोन, साइबर क्राइम ब्रांच भोपाल के हत्थे चढ़े

विवेक पटैया/भोपाल: भोपाल की साइबर क्राइम पुलिस ने 2 मिनट में 2 लाख का लोन दिलाने वाले अपराधियों के एक गैंग को गिरफ्तार किया है. सायबर क्राइम भोपाल की टीम ने फरियादी के साथ लोन देने के नाम पर लाखों की धोखाधड़ी करने वाले आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है. भोपाल की रहने वाली सुनीता पति जगदीश और भोपाल के ही रूप सिंह ने सायबर क्राइम भोपाल में शिकायती आवेदन पत्र दिया था. 

उन्होंने बताया कि न्यूज पेपर में विज्ञापन देकर लोन देने के नाम पर धोखाधड़ी की गई है. न्यूज पेपर में दो मिनट में दो लाख रूपये का लोन देने का विज्ञापन देखकर उस पर दिये गये मोबाइल नंबर पर संपर्क करने पर फरियादियों से फाइल चार्ज, आयकर विभाग एवं पेन कार्ड बनाने के नाम पर फरियादियों से टुकड़ों में लाखों रूपये बैंक खाते में जमा करवाकर धोखाधड़ी की गई. वहीं, जब फरियादी महिला ने और पैसे देने से इंकार कर दिया तो, फरियादी का नंबर ब्लॉक कर दिया था. फरियादी की शिकायत पर धारा 420 भादवि  के 2 अलग-अलग अपराध 193/19 और 194/19 पंजीबद्व किए गए हैं.

साइबर क्राइम जिला भोपाल की टीम द्वारा अपराध कायमी के बाद आरोपी शिवकुमार, मोहम्मद नासिर, सुनील यादव और प्रदीप कुमार की तलाश कर गिरफ्तार किया गया. आरोपियों से प्रकरण में मोबाईल, सिम एवं एटीएम कार्ड को जब्त किया गया है. आरोपी शिवकुमार, मोहम्मद नासिर, सुनील यादव और प्रदीप कुमार न्यूज पेपर में गणपति फायनेंस, बजाज फायनेंस, रिलायंस फायनेंस के नाम से लोन देने के संबंध में फर्जी विज्ञापन देते थे. 

विज्ञापन में लिखे मोबाइल नंबर पर संपर्क करने वाले लोगों से विभिन्न प्रकार के टैक्स के नाम पर फर्जी बैंक खातों में रूपये जमा करवाकर धोखाधड़ी करते रहते थे. जिन लोगों के पास इनको देने के लिये पैसे नही होते थे तो, आरोपीगण फरियादियो से एटीएम कार्ड, पासवर्ड एवं बैंक पासबुक कोरियर से दिल्ली मंगा लेते थे. फिर उसी बैंक खाते में धोखाधड़ी का पैसा जमा करवाकर एटीएम कार्ड से पैसे निकाल लेते थे. ये सभी दिल्ली के रहने वाले हैं.