कमलनाथ बोले- बीजेपी सौदेबाज, विधायक खरीदना काम, 10 के बाद 11 तारीख भी आएगी

दमोह विधानसभा सीट से 2018 में चुनाव जीतने वाले राहुल सिंह लोधी ने विधायक पद से इस्तीफा दे दिया. और इसके बाद ही बीजेपी की सदस्यता भी ले ली. जिसपर कमलनाथ ने बीजेपी को एक बार सौदेबाज बता दिया है. 

कमलनाथ बोले- बीजेपी सौदेबाज, विधायक खरीदना काम, 10 के बाद 11 तारीख भी आएगी
कमलनाथ
Play

भोपालः मध्य प्रदेश में 25 कांग्रेस विधायकों के बीजेपी में शामिल होने से कई सीटों पर उपचुनाव की जरूरत आई. कल रविवार को कांग्रेस के राहुल सिंह लोधी ने अपने विधायक पद और पार्टी से इस्तीफा देने के बाद बीजेपी का दामन थाम लिया. जिस पर अब पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने बीजेपी पर हमला बोलते हुए कहा कि पार्टी विधायकों को खरीदने के लिए बाजार में उतर चुकी है. उन्होंने कहा कि वो 40 सालों के राजनीतिक कॅरियर में मतदाताओं को जान गए हैं, आज का मतदाता बहुत समझदार है.

ये भी पढ़ेंः- विदेश में फैल रही है दुर्ग की महिलाओं के 'आत्मनिर्भरता' की रोशनी....

बीजेपी ने पूरे प्रदेश को कलंकित किया 
कमलनाथ बोले कि जिस तरह की राजनीति बीजेपी कर रही है उससे प्रदेश की छवि पूरे देश में कलंकित हो रही है. वे बोले कि पार्टी के कई विधायकों ने उन्हें फोन कर बीजेपी के ऑफर के बारे में बताया है. उन्होंने कहा कि बीजेपी आज भी विधायकों को फोन कर सौदेबाजी की राजनीति कर रही है. पूर्व मु्ख्यमंत्री ने कहा कि सौदेबाजी की राजनीति वे भी कर सकते थे, लेकिन मार्च में ही उन्होंने इसे नहीं करने का फैसला कर लिया था. 

ये भी पढ़ेंः- कांग्रेस नेता के बिगड़े बोल- पीएम मोदी को बताया नौटंकीबाजी, सिंधिया को कहा हुड़कचुल्लु

10 के बाद 11 तारीख भी आएगी
कमलनाथ ने इस दौरान कहा कि वो 40 सालों से राजनीति में सक्रिय है. इतने सालों में वे मतदाताओं को अच्छे से जान गए है, आज का मतदाता पहले के मुकाबले बहुत समझदार हो गया है. बीजेपी छोटे शासकीय कर्मचारियों पर एकपक्षीय काम का दबाव बना रही है. लेकिन उन्हें याद रखना चाहिए कि 10 के बाद 11 तारीख भी आएगी. दरअसल, मध्यप्रदेश में 28 सीटों पर उपचुनाव के नतीजे 10 नवंबर को ही घोषित किए जाएंगे.

ये भी पढ़ेंः- CM की प्रणाम पॉलिटिक्सः पाटीदार वोट साधने, सीएम ने पूर्व विधायक के समक्ष जोड़े हाथ

जनता का फैसला सबको स्वीकार
कमलनाथ बोले कि कई बड़े अधिकारी और शासकीय कर्मचारी उप चुनाव में बीजेपी की तरफ होकर काम कर रहे हैं. इसके लिए उन्होंने चुनाव आयोग में निष्पक्ष चुनाव कराने के लिए लेटर भी लिखा है. उन्होंने मांग की है जनता सही तरीके से फैसला ले सके, इसके लिए निष्पक्ष चुनाव होना चाहिए. उसके बाद जनता जो भी फैसला करे, वो सबको स्वीकार होगा. 

WATCH LIVE TV