हाथरस केस: नकली `भाभी’ ने अब फेसबुक अकाउंट किया डिलीट, भड़काऊ पोस्ट का लगा था आरोप

मामले की जांच सीबीआई को सौंपने पर उसने पीड़ित परिवार के साथ न्याय की उम्मीद जताई है. लेकिन सवाल खड़ा करते हुए कहा कि यह तभी संभव है, जब सीबीआई (CBI) निष्पक्ष जांच करेगी. साथ ही उसने लेफ्ट नेता येचुरी से हुई बातचीत को कबूला था. उसने कहा था कि मैं व्यक्तिगत रूप से येचुरी को नहीं जानती हूं. लेकिन देश की बेटी होने के नाते मैने परिवार की तरफ से बात रखी थी. 

हाथरस केस: नकली `भाभी’ ने अब फेसबुक अकाउंट किया डिलीट, भड़काऊ पोस्ट का लगा था आरोप
सांकेतिक तस्वीर

कर्ण मिश्रा\जबलपुर: हाथरस कांड (Hathras case) में पीड़ित की भाभी बनकर परिवार के साथ रहने वाली महिला चिकित्सक राजकुमारी बंसल ने अब अपना फेसबुक अकाउंट डिलीट कर दिया है. उस पर फेसबुक के जरिए एक विशेष समुदाय को लेकर लगातार भड़काऊ पोस्ट करने के आरोप लगे थे. महिला चिकित्सक राजकुमारी बंसल ने कल सीबीआई की कार्रवाई पर भी सवाल उठाया था. साथ ही मीडिया पर भी कानूनी कार्रवाई की धमकी दी थी.

उज्जैन सुसाइड केस: आत्महत्या से पहले बड़े भाई ने बनाई थी कुंडली, हर योग में बताया था आत्महत्या

मामले की जांच सीबीआई को सौंपने पर उसने पीड़ित परिवार के साथ न्याय की उम्मीद जताई है. लेकिन सवाल खड़ा करते हुए कहा कि यह तभी संभव है, जब सीबीआई (CBI) निष्पक्ष जांच करेगी. साथ ही उसने लेफ्ट नेता येचुरी से हुई बातचीत को कबूला था. उसने कहा था कि मैं व्यक्तिगत रूप से येचुरी को नहीं जानती हूं. लेकिन देश की बेटी होने के नाते मैंने परिवार की तरफ से बात रखी थी. 

खुद के नक्सल से संबंध के आरोपों को भी डॉ. ने नकारा है. डॉ. ने कहा कि मुझे दु:ख होता है कि बिना सबूत और तथ्यों के आधार पर मुझे नक्सली बोला जा रहा है. क्या कोई मुझे नक्सली की परिभाषा बताएगा. इसके लिए उसने मीडिया ट्रायल पर भी खिंचाई की. साथ ही मीडिया के खिलाफ कानून कार्रवाई कराने की धमकी दी. 

हाथरस केस: नकली `भाभी’ ने स्वीकारा- हां, लेफ्ट नेता येचुरी से बात हुई थी, CBI पर सवाल उठाया, मीडिया को धमकाया

डॉ. राजकुमारी ने एक सवाल भी किया है कि अब यह बताया जा रहा है कि मामला रेप से नहीं ऑनर किलिंग से जुड़ रहा है. जो कि गलत है. क्योंकि, जब पुलिस द्वारा सेक्सुअल असाल्ट इंफॉर्मेशन शीट फील करी गयी थी तो यह बातें क्यों कि जा रही हैं. जबकि मामले में आरोपी युवकों को भी गिरफ्तार कर लिया गया है. डॉ. ने कहा कि यह सब कुछ क्यों हुआ? तस्वीर साफ है, जिसके पास पावर है पैसा है वह छूट जाएगा. जो गरीब है वह पिस जाएगा.

आपको बता दें कि हाथरस कांड का जबलपुर कनेक्शन सामने आने के बाद से कई सवाल उठ रहे हैं कि क्या वाकई  यूपी में जातीय दंगा भड़काने की साजिश रची जा रही थी? क्या जबलपुर की रहने वाली डॉक्टर राजकुमारी बंसल नकली भाभी बनकर परिवार को भड़का रही थी? इन सवालों के जवाब सीबीआई की जांच के बाद ही मिल पाएंगे.

Watch Live TV-