MP: जबलपुर नगर निगम वसूलने निकला 11 करोड़ का राजस्व, मिले केवल 12 लाख रुपये

संभागीय अधिकारी विजय वर्मा ने बताया कि सभी बकायेदारों को कई बार नोटिस दिए गए लेकिन, उन्होंने राजस्व जमा करने की ओर ध्यान नहीं दिया. इसके चलते नगर निगम कमिश्नर के निर्देश पर सख्ती से कार्रवाई की जा रही है.

MP: जबलपुर नगर निगम वसूलने निकला 11 करोड़ का राजस्व, मिले केवल 12 लाख रुपये

कर्ण मिश्रा/जबलपुर: वर्ष 2019 के आखिरी दिन भी 200 करोड़ से ज्यादा राजस्व वसूली के लक्ष्य के लिए नगर निगम का राजस्व अमला टैक्स वसूली के लिए दौड़ता नजर आया. साल के आखिरी दिन में सबसे ज्यादा टैक्स वसूली का लक्ष्य लेकर टीमें निकलीं जरूर लेकिन, इस पर भी ठंड और नए साल की छुट्टियों का असर दिखाई दिया. हालांकि, अमले को काफी हद तक सफलता जरूर मिली. नगर निगम के जोन क्रमांक 11 में संभागीय अधिकारी के नेतृत्व में राजस्व अधिकारी और अन्य कर्मचारियों ने सिविल लाइन क्षेत्र के बकायेदारों के पास पहुंचकर बकाया राजस्व जमा करने के निर्देश दिए.

इस दौरान अंसारी फिश, मनमोहन होटल और डॉ. जीआर डिसिल्वा के कम्पाउंड पर बकाया राजस्व की वसूली की गई. नगर निगम के राजस्व विभाग द्वारा जोन 11 में ही करीब 11 करोड़ रूपए की वसूली की जानी है. जिसमें से अभी तक मात्र 3 करोड़ रूपए ही वसूल किए गए हैं. 31 दिसंबर को नगर निगम द्वारा 8 बड़े बकायेदारों की फाइलें निकाली गईं और उनसे राजस्व जमा कराया गया. इस दौरान जीआर डिसिल्वा कम्पाउंड को कुर्क करने की कार्रवाई भी की गई. 

संभागीय अधिकारी विजय वर्मा ने बताया कि सभी बकायेदारों को कई बार नोटिस दिए गए लेकिन, उन्होंने राजस्व जमा करने की ओर ध्यान नहीं दिया. इसके चलते नगर निगम कमिश्नर के निर्देश पर सख्ती से कार्रवाई की जा रही है. अभी तक राजस्व जमा न करने पर 8 प्रतिशत की दर से पैनल्टी लगाई जाती थी. लेकिन, अब प्रदेश सरकार द्वारा 1 जनवरी 2020 से राजस्व में 7 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी की जा रही है. जो लोग अब 1 जनवरी से राजस्व जमा करेंगे, उन्हें कुल 15 प्रतिशत पेनाल्टी के साथ बकाया टैक्स जमा करना पड़ेगा. बहरहाल दिनभर में नगर निगम द्वारा करीब 12 लाख के टैक्स की वसूली की गई.