ग्वालियर: परीक्षा में पूछा सवाल, 'क्रांतिकारी आतंकवादियों और उग्रवादी में बताएं अंतर'

क्रांतिकारियों को आतंकवादी बताए जाने से छात्र संगठन भड़क गए और उन्होंने इस पर आपत्ति जताई है.

ग्वालियर: परीक्षा में पूछा सवाल, 'क्रांतिकारी आतंकवादियों और उग्रवादी में बताएं अंतर'

ग्वालियर: मध्यप्रदेश के गुना जिले के सरकारी पीजी कॉलेज में एमए राजनीति शास्त्र के तृतीय सेमेस्टर की परीक्षा में क्रांतिकारियों को आतंकवादी बताते हुए उनमें और उग्रवादियों में अंतर पूछा गया है. जीवाजी यूनिवर्सिटी के अंतर्गत आने वाले इस सरकारी कॉलेज में यह परीक्षा 20 दिसंबर को हुई थी. इस परीक्षा में पूछे गये प्रश्न के बाद यह मामला सामने आते ही छात्र संगठन डीएसओ (डेमोक्रेटिक स्टूडेंट ऑर्गनाइजेशन) ने आपत्ति जाहिर की है. छात्र संगठन ने इस पर कॉलेज प्रबंधन के सामने आपत्ति जाहिर की. 

क्रांतिकारियों को आतंकवादी बताए जाने से भड़के छात्र संगठन डीएसओ के अध्यक्ष सुनील सेन ने कहा है कि हम पाठ्यक्रम में शहीदों की वीरगाथा और उनके बलिदान को पढ़ाये जाने की मांग कर रहे हैं. लेकिन, इस सरकार में उल्टा हो रहा है. यहां वीर शहीदों जिनमें भगत सिंह, चन्द्रशेखर आजाद जैसे क्रांतिकारियों को आतंकवादी बताया जा रहा है. 

उन्होंने कहा कि छात्रों से ऐसे सवाल परीक्षा में पूछे जा रहे हैं, हम इस पर आपत्ति जाहिर करते हैं. उन्होंने कहा कि इन क्रांतिकारियों को सम्मान देने की बजाय उन्हें आतंकवादी के रुप में पाठ्यक्रमों में प्रस्तुत करना सरकार का इन क्रांतिकारियों के प्रति दृष्टिकोण पर सवाल खड़े करता है. वहीं, पीजी कॉलेज के प्राचार्य वीके तिवारी का कहना है कि छात्रों की आपत्ति को लेकर जीवाजी यूनिवर्सिटी के वीसी को अवगत करा दिया गया है.