मंत्रीमंडल विस्तार को लेकर सीएम शिवराज की बढ़ी मुश्किलें! असंतोष से निपटना बड़ी चुनौती

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया और बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा के बीच सीएम हाउस पर तीन घंटे तक बैठक हुई. माना जा रहा है कि इस बैठक में मंत्रीमंडल विस्तार से लेकर संगठन और निगम मंडलों की नियुक्तियों तक पर चर्चा हुई है.

मंत्रीमंडल विस्तार को लेकर सीएम शिवराज की बढ़ी मुश्किलें! असंतोष से निपटना बड़ी चुनौती
सीएम शिवराज से मिले ज्योतिरादित्य सिंधिया

भोपालः बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा, ज्योतिरादित्य सिंधिया और संगठन महामंत्री सुहास भगत ने आज सीएम हाउस पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के साथ मुलाकात की. इन नेताओं के बीच करीब तीन घंटे तक बातचीत हुई. जिससे प्रदेश की सियासत में हलचल शुरू हो गयी है. माना जा रहा है कि बैठक में मंत्रीमंडल विस्तार, निगम-मंडल की नियुक्तियां और प्रदेश में संगठन विस्तार पर मंथन हुआ है. हालांकि सिंधिया समर्थकों और अन्य बीजेपी की विधायकों के मंत्री पद को लेकर दावेदारी से सीएम शिवराज की राह थोड़ी मुश्किल नजर आ रही है.

मंत्रीमंडल विस्तार पर हुई चर्चा
बताया जा रहा है कि तीनों नेताओं की बीच हुई बैठक में मंत्रीमंडल विस्तार पर चर्चा हुई है. उपचुनाव के परिणाम आए एक महीने से भी ज्यादा का समय बीत चुका है लेकिन अब तक मंत्रीमंडल का विस्तार नहीं हो सका है. इससे पहले सीएम शिवराज सिंह चौहान और वीडी शर्मा दिल्ली में भी आलाकमान के नेताओं से मुलाकात कर चुके हैं. ऐसे में माना जा रहा है अब इस बैठक के बाद जल्द ही मंत्रीमंडल विस्तार, निगम मंडल और संगठन विस्तार किया जा सकता है.

ये भी पढ़ेंः ढाई-ढाई साल के फार्मूले को लेकर CM भूपेश बघेल का बड़ा बयान- आलाकमान कहे तो अभी इस्तीफा दे दूंगा..

समर्थकों संग सीएम हाउस पहुंचे सिंधिया
इससे पहले ज्योतिरादित्य सिंधिया एयरपोर्ट से अपने सभी समर्थक मंत्रियों और विधायकों के साथ सीएम हाउस पहुंचे. उनके साथ तुलसी सिलावट, गोविंद सिंह राजपूत, प्रद्युमन सिंह तोमर, महेंद्र सिंह सिसोदिया,  प्रभुराम चौधरी,  ओपीएस भदोरिया, जजपाल सिंह जज्जी, इमरती देवी, गिरराज डंण्डौतिया, मुन्नालाल गोयल भी सीएम हाउस पहुंचे. खास बात यह है इस बार सिंधिया के साथ उपचुनाव हारने वाले उनके समर्थक भी रहे. जिससे माना जा रहा है कि सिंधिया ने एक तरह से मुलाकात के बहाने शक्तिप्रदर्शन किया है.

क्या है तीनों नेताओं की बैठक के मायने
माना जा रहा था कि उपचुनाव के तुरंत बाद गोविंद सिंह राजपूत और तुलसी सिलावट को मंत्री बनाया जाएगा. लेकिन मंत्रीमंडल का विस्तार लंबे समय से टलता जा रहा है. ऐसे में अब सिंधिया अपने समर्थकों के साथ सीएम हाउस पहुंचे. इस दौरान वीडी शर्मा और सुहास भगत भी मौजूद रहे. सूत्रों की माने तो तीन घंटे चली इस बैठक में मंत्रीमंडल विस्तार और निगम मंडलों में नियुक्तियों पर सहमति बन गयी. जहां सिलावट और राजपूत को फिर से मंत्री बनाया जाएगा. जबकि हारे हुए तीन मंत्रियों को निगम मंडल में स्थान दिया जाएगा. इसके अलावा सिंधिया के कुछ समर्थकों को प्रदेश संगठन में भी जगह मिल सकती है.

भोपाल में बढ़ी विधायकों की हलचल
इस दौरान पूर्व मंत्री और बीजेपी विधायक संजय पाठक ने भी सीएम हाउस पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से मुलाकात की, संजय पाठक भी मंत्री पद के प्रबल दावेदार माने जा रहे है. जबकि अन्य कई विधायक भी इस दौरान सीएम से मुलाकात कर चुके हैं. जिससे माना जा रहा है कि भले ही बीजेपी मंत्रीमंडल विस्तार पर पत्ते नहीं खोल रही है. लेकिन जिस तरह से बीजेपी विधायकों की राजधानी भोपाल में बीजेपी विधायकों की हलचल बढ़ रही है उससे माना जा रहा है कि अंदरखाने मंत्रीमंडल विस्तार की तैयारी भी चल रही है.

ये भी पढ़ेंः 200 लड़कियों को नशे की लत लगाने वाली 'आंटी' पहनती है लाखों के जेवर; सीएम शिवराज ने बुलायी आपात बैठक

दलित युवक ने छू लिया था खाना, पीट-पीटकर उतारा मौत के घाट, दो आरोपी गिरफ्तार

ये भी देखेंः नेता जी से बोले CSP 'जब अमिताभ कह रहे हैं कि दवाई आने तक ढिलाई नहीं फिर क्यों बिना मास्क के निकले'

हाथी के बच्चे ने अपने दोस्त के साथ की ऐसी मस्ती, देखकर आप भी नहीं रोक पाएंगे हंसी

WATCH LIVE TV