Love jihad पर MP में बढ़ेगी सख्ती, श्रद्धा का जिक्र CM Shivraj ने कही नए कानून की बात
topStories1rajasthan1470416

Love jihad पर MP में बढ़ेगी सख्ती, श्रद्धा का जिक्र CM Shivraj ने कही नए कानून की बात

Love jihad: मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ( CM Shivraj) लव जिहाद के खिलाफ सख्त नजर आ रहे हैं. उन्होंने इंदौर में आयोजित बलिदान दिवस के कार्यक्रम में कहा कि अगर जरूरत पड़ी तो मध्य प्रदेश में इसके खिलाफ नया कानून भी लेकर आएंगे.

Love jihad पर MP में बढ़ेगी सख्ती, श्रद्धा का जिक्र CM Shivraj ने कही नए कानून की बात

Love jihad: इंदौर। लव जिहाद के खिलाफ मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ( CM Shivraj) का सख्त रुख सामने आया है. इंदौर में टांट्या भील के अलिदान दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में उनका गुस्सा नजर आया. उन्होंने लव जिहाद के खिलाफ सख्ती दिखाते हुए कहा कि अगर जरूरत पड़ी तो प्रदेश में नया कानून बनेगा. हम अपने राज्य में इस तरह की गतिविधियों को कतई बर्दाश्त नहीं करेंगे.

इंदौर में आयोजित था कार्यक्रम
बता दें मध्य प्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में जननायक टंट्या भील के बलिदान दिवस पर कार्यक्रम का आयोजन किया गया था. इसमें महामहिम राज्यपाल मंगुभाई पटेल और सीएम शिवराज सिंह चौहान के साथ-साथ फग्गन सिंह कुलस्ते, विष्णु दत्त शर्मा, तुलसी सिलावट, मीना सिंह, उषा ठाकुर, प्रेम सिंह पटेल, शंकर लालवानी, पुष्यमित्र भार्गव के अलावा कई जनप्रतिनिधी शामिल हुए थे. इसी कार्यक्रम में अपने संबोधन के दौरान सीएम गुस्से में नजर आए.

VIDEO: मंच पर आग बबूला हुए CM शिवराज, श्रद्धा का जिक्र कर Love jihad पर कही ये बात

मंच से दिखे सीएम के सख्त तेवर
धर्मांतरण, लव जिहाद पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि धर्म बदलकर जनजातीय समुदाय के अधिकारों पर कब्जा करने वालों की खैर नहीं होगी. मध्यप्रदेश की धरती पर लव जिहाद जैसे मामलों के लिए कोई जगह नहीं है. ऐसी साजिशों से मैं सख्ती से निपटने को तैयार हूं. कोई भी छल ले हमारे बच्चों से शादी कर ले और 35 टुकड़े कर दे. हम सहन नहीं करेंगे. जरूरत पड़ी तो नया कानून बनेगा. हम इस तरह की गतिविधियों को कतई बर्दाश्त नहीं करेंगे.

ये भी पढें: महिला सुरक्षाकर्मियों ने तोड़ी महाकाल मंदिर की मर्यादा, बॉलीवुड गाने पर Reel बना किया Viral

पेसा पर क्या बोले मुख्यमंत्री
इसके अलावा मुख्यमंत्री ने कहा कि जनजातीय समुदाय के अधिकारों के संरक्षण और प्रगति के लिए पेसा कानून लागू किया गया है. इससे प्रदेश वासियों के जीवन में अभूतपूर्व बदलाव आएगा. प्राकृतिक संसाधनों पर सभी का समान अधिकार है. PESA में जमीन के अधिकार के तहत हर साल ग्राम सभा के सामने जमीन का नक्शा और खसरा आदि रखा जाएगा, जिससे कहीं गड़बड़ी न होने पाए.

Trending news