MP में सफाईकर्मियों को लगा Covid का पहला टीका, ग्वालियर में टीकाकरण के बाद डॉक्टरों ने किया डांस

भोपाल, इंदौर, जबलपुर और ग्वालियर समेत पूरे प्रदेश में टीकाकरण शुरू हो गया. टीकाकरण के पहले दिन प्रत्येक सेंटर पर 100 फ्रंट लाइन वर्कर्स के टीकाकरण का लक्ष्य रखा गया है. इस हिसाब से पहले दिन 15 हजार कैंडिडेट्स को कोविड वैक्सीन का पहला डोज दिया जाएगा. इसके 28 दिन बाद दूसरा डोज दिया जाएगा. 

MP में सफाईकर्मियों को लगा Covid का पहला टीका, ग्वालियर में टीकाकरण के बाद डॉक्टरों ने किया डांस
भोपाल में सिक्योरिटी गार्ड हरिदेव (L) को टीका लगाया गया. जबलपुर में सफाईकर्मी बैसाखू को पहला टीका लगा.
Play

भोपालः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 16 जनवरी से कोरोना के खिलाफ दुनिया के सबसे बड़े टीकाकरण अभियान की शुरुआत कर दी. भारत के सभी राज्यों में सुबह 11 बजे से टीका केंद्रों पर पहले फेज के लिए चिन्हित कैंडिडेट्स को वक्सीन की डोज देने की शुरुआत हुई. मध्य प्रदेश में भी 150 सेंटर्स पर फ्रंट लाइन वर्कर्स को कोरोना के टीके लगने शुरू हो गए. 

मध्य प्रदेश में कोरोना का पहला टीका सफाईकर्मियों को लगा
राज्य में कोविड का पहला टीका सफाईकर्मियों को लगाया गया, इसके बाद डॉक्टर्स को. भोपाल, इंदौर, जबलपुर और ग्वालियर समेत पूरे प्रदेश में टीकाकरण शुरू हो गया. टीकाकरण के पहले दिन प्रत्येक सेंटर पर 100 फ्रंट लाइन वर्कर्स के टीकाकरण का लक्ष्य रखा गया है. इस हिसाब से पहले दिन 15 हजार कैंडिडेट्स को कोविड वैक्सीन का पहला डोज दिया जाएगा. इसके 28 दिन बाद दूसरा डोज दिया जाएगा. 

खुशखबरी: अब ट्रेन में यात्रियों को मिलेगा मनपसंद खाना, रेलवे ने शुरू की E-Catering सर्विस

भोपाल में हरिदेव देर से पहुंचे तो संजय यादव को लगा पहला टीका
भोपाल में हमीदिया अस्पताल के वॉर्ड बॉय संजय यादव को कोविड का पहला टीका लगाया गया.पहले तय था कि जेपी अस्पताल में सिक्योरिटी गार्ड हरिदेव को कोविड वैक्सीन का पहला शॉट लगेगा. लेकिन वह लेट हुए जिस कारण संजय यादव को पहला टीका लगाया गया. इसके बाद हरिदेव भी वैक्सीनेशन सेंटर पर पहुंचे टीका लगवाया.

कोरोना के खिलाफ टीकाकरण अभियान का शुभारंभ, छत्तीसगढ़ में तुलसा तांडी को लगा पहला टीका

इंदौर में सफाईकर्मी आशा पवार, ग्वालियर में रघुवीर को लगा
इंदौर में महिला सफाई कर्मचारी आशा पवार को कोविड का पहला टीका लगा. उन्होंने कोविड वैक्सीन की पहली डोज लगवाने के बाद कहा, ''मुझे कोई घबराहट नहीं है, खुश हूं.'' ग्वालियर में पहला वैक्सीन सफाई कर्मचारी रघुवीर, दूसरा जेएएच डीन एसएन आयंगर और तीसरा जेएएच अधीक्षक आरएस धाकड़ को लगाया गया है. ग्वालियर में कोविड का टीका लगवाने के बाद डॉक्टर ढोल की धुन पर नाचे भी.

बंद पड़ी खदानों से राजस्व कमाएगी छत्तीसगढ़ सरकार, जानिए क्या है सीएम बघेल की योजना?

जबलपुर में बैसाखू, उज्जैन में कैलाश को लगा कोविड का पहला टीका
जबलपुर में सफाईकर्मी बैसाखू पनहगार को पहला टीका लगा. लोक स्वास्थ्य परिवार कल्याण के पूर्व डायरेक्टर केके शुक्ला (71 वर्ष) और उनकी पत्नी रीता शुक्ला को भी कोवडि टीका लगा. इस दंपति को हेल्थ सेलीब्रिटी चुना गया. उज्जैन में जिला अस्पताल के सफाईकर्मी कैलाश सिसौदिया को पहला कोविड टीका लगाया गया. सागर में जिला अस्पताल के सफाईकर्मी राजू बाल्मीकि को पहला टीका लगाया गया. 

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सिलसिलेवार ट्वीट में कोरोना वैक्सीनेशन ड्राइव शुरू करने के लिए पीएम मोदी का धन्यवाद जताने के साथ ही स्वदेशी वैक्सीन पर शंका करने वालों को आड़े हाथ लिया. उन्होंने लिखा, ''मध्य प्रदेश शासन के मंत्री विश्वास सारंग और प्रभुराम चौधरी समेत समस्त वरिष्ठ अधिकारी, कर्मचारी, स्वास्थ्यकर्मी सहित प्रशासन की पूरी टीम के प्रति हृदय से आभार व्यक्त करता हूं, जिन्होंने कोविड वैक्सीनेशन ड्राइव के लिए चाक चौबंद व्यवस्था की.''

BJP में अंतर्कलह, कभी भी आ सकता है भूचाल, शिवराज जाएंगे, कमलनाथ फिर आएंगे: जीतू पटवारी

कोविड वैक्सीन की सौगात देने वाले वैज्ञानिकों को धन्यवाद देता हूंः शिवराज
अपने अगले ट्वीट में मुख्यमंत्री शिवराज चौहान ने लिखा, ''मैं उन सभी वैज्ञानिकों को धन्यवाद देता हूं जिन्होंने दिन.रात एक कर काम किया और हमें वैक्सीन की सौगात दी. समाज को समर्पित उन सभी कोरोना वॉरियर्स को भी कोटि.कोटि प्रणाम जिन्होंने दूसरों की सेवा करते हुए अपने प्राणों की आहुति दी.''

पीएम नरेंद्र मोदी और डॉ. हर्षवर्धन को धन्यवाद देता हूंः शिवराज सिंह चौहान
उन्होंने एक अन्य ट्वीट में लिखा, ''पीएम नरेंद्र मोदी के दूरदर्शी नेतृत्व के कारण ही स्वदेशी वैक्सीन से दुनिया के सबसे बड़े टीकाकरण अभियान का प्रारम्भ हुआ. मैं पीएम मोदी और केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन का  हृदय से आभारी हूं, जिन्होंने कोरोना वॉरियर्स का सहयोग करने में कोई कसर नहीं छोड़ी.''

''वैक्सीनेशन का एक प्रोटोकॉल बना है, हम उसका पालन कर रहे हैं''
कांग्रेस नेताओं द्वारा पहले मुख्यमंत्री और मंत्रियों को कोरोना का टीका लगवाने की मांग करने पर शिवराज ने जवाब दिया. उन्होंने ट्वीट किया, ''कुछ नादानों ने सवाल उठाया कि मुख्यमंत्री क्यों टीका नहीं लगवा रहे हैं. मैं उन्हें बताना चाहता हूं कि हम प्रोटोकॉल का पालन करते हैं. वैक्सीनेशन की एक पूरी प्रक्रिया है. अगर इसका पालन सीएम ही न करे, तो अभियान सफल कैसे होगा. हमारे कोरोना वॉरियर्स को पहले टीका लगेगा, बाद में मुझे!''

डर के बीच जागी आस्थाः 'कोवैक्सीन' हो सफल, इसलिए महाकाल मंदिर में भस्मारती के साथ चढ़ाया दूध

''यह समय एकजुटता दिखाने का, कोरोना वैक्सीन पर भ्रम न फैलाएं''
शिवराज ने कहा कि भारत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में इतिहास रचने जा रहा है. इस दौरान उन्होंगे वैक्सीन को लेकर भ्रम न फैलाने का आग्रह भी किया. सीएम ने ट्वीट किया, ''मैं विपक्ष के मित्रों से आग्रह करता हूं, यह समय एकजुटता दिखाने का है. समाज में भ्रम की स्थिति न पैदा होने दें. नकारात्मकता न फैलाएं और न ही फैलने दें. मध्य प्रदेश में 150 स्थानों पर सभी सावधानियों का पालन करते हुए कोवडि19 का टीका लगाना प्रारम्भ हुआ है. मेरे प्रदेशवासियों, दोनों ही वैक्सीन पूरी तरह सुरक्षित हैं. इन्हें हमारे वैज्ञानिकों ने जांचा और परखा है.''

WATCH LIVE TV