PHOTOS: कैसे कम समय में पूरी कर सकते हैं कैलाश मानसरोवर की यात्रा?

भारत ने पिथौरागढ़ से लेकर लिपुलेख तक जो नई सड़क बनाई है उससे कैलाश मानसरोवर की यात्रा पर जाने से यात्रियों के समय की बहुत बचत होगी.

ज़ी न्यूज़ डेस्क | May 22, 2020, 10:13 AM IST

नई दिल्ली: भारत और नेपाल की सीमा करीब 1 हजार 690 किलोमीटर लंबी है और इसके 98 से 99 प्रतिशत हिस्से को लेकर दोनों देशों के बीच कोई विवाद नहीं है. लेकिन लिपुलेख Pass और कालापानी जैसे कुछ इलाके हैं जिन्हें लेकर भारत और नेपाल के बीच विवाद की स्थिति पैदा होती रही है. भारत ने पिथौरागढ़ से लेकर लिपुलेख तक जो नई सड़क बनाई है उससे कैलाश मानसरोवर की यात्रा पर जाने से यात्रियों के समय की बहुत बचत होगी. अब ये यात्रा पहले के मुकाबले बहुत छोटी हो जाएगी. पहले यात्रियों को लिपुलेख तक पहुंचने के लिए कठिन रास्तों पर 80 किलोमीटर पैदल चलना होता था, जिसमें करीब 5 दिन का समय लग जाता था. लेकिन इसी रूट पर बनी ये नई सड़क करीब 74.6 किलोमीटर लंबी है और यात्री यहां तक वाहनों से पहुंच सकते हैं. इसके आगे की यात्रा पैदल की जा सकती है. कुल मिलाकर इस रूट से जो कैलाश मानसरोवर यात्रा पहले दो से तीन हफ्तों में पूरी होती थी वो अब सिर्फ एक हफ्ते में पूरी की जा सकती है. 

 

1/7

How can you complete the journey of Kailash Mansarovar in a short time

2/7

How can you complete the journey of Kailash Mansarovar in a short time

3/7

How can you complete the journey of Kailash Mansarovar in a short time

4/7

How can you complete the journey of Kailash Mansarovar in a short time

5/7

How can you complete the journey of Kailash Mansarovar in a short time

6/7

How can you complete the journey of Kailash Mansarovar in a short time

7/7

How can you complete the journey of Kailash Mansarovar in a short time