इस थाने में पोस्टिंग से डरते हैं थानेदार! रात में रहता है खाली; ये है वजह
X

इस थाने में पोस्टिंग से डरते हैं थानेदार! रात में रहता है खाली; ये है वजह

Ghost Police Station: आपने भूतिया जगहों के बारे में सुना होगा, लेकिन आज हम आपको एक ऐसी भूतिया जगह के बारे में बताने जा रहे हैं जिसे सुनकर आप हैरान हो जाएंगे. ये कोई आम जगह नहीं है बल्कि एक पुलिस थाना है. इस थाने में तैनात पुलिस वालों के साथ अनहोनी होती रहती हैं.

इस थाने में पोस्टिंग से डरते हैं थानेदार! रात में रहता है खाली; ये है वजह

नई दिल्ली. आपने कई भूतिया कहानियों के बारे में सुना होगा. कई जगहों को लोग भूतिया मानते हैं जहां कोई भी जाने से डरता है. ऐसी ही एक जगह यूपी के बरेली में है, लेकिन ये कोई आम जगह नहीं है बल्कि एक पुलिस थाना है. ये बात जानकर आपको हैरानी होगी मगर ये बिल्कुल सच है. इस थाने का नाम है बिशारतगंज. अब तक इस थाने में तैनात 90 थानेदारों में से 67 रिवर्ट हो चुके हैं. इस भूतिया थाने के रहस्य से पर्दा पूर्व आईजी रेंज रिटायर्ड आईपीएस राजेश पांडेय ने अपने किस्सागोई के 251वें अंक में उठाया. उन्होंने अपने ढाई साल के कार्यकाल में दो इंस्पेक्टरों की मौत के साथ एक के सस्पेंड होने की बात कही है.

अब तक 90 एसओ हो चुके हैं तैनात

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, बिशारतगंज पहले अलीगंज थाने की चौकी हुआ करती थी. ये 1982 में थाना बना. उस समय तीन साल तक ये वहां के स्टेशन रोड पर किराये की एक बिल्डिंग में चलता था. 1985 में ये आज वाली जगह शिफ्ट हुआ. इसके बाद ही अनहोनी का दौर शुरू हुआ. धीरे-धीरे यहां तैनाती पाने वाले थाना प्रभारियों के नुकसान की चर्चा आम हो गई. 1985 से अब तक यहां करीब 90 थाना प्रभारी तैनात रह चुके हैं. 

ये भी पढ़ें: इस राज्य के CM ने बच्ची को किया फोन, बताया किस दिन से खुलेंगे स्कूल

रात में नहीं रुकते पुलिसकर्मी

इस समय इस थाने में तैनात इंस्पेक्टर विजय कुमार यहां के 91वें थाना प्रभारी हैं. पूर्व आइपीएस राजेश पांडेय ने किस्सागोई के 251वें अंक में बिशारतगंज थाने के बारे में कहा कि इस थाने को लेकर आम धारणा है कि यहां तैनात होने वाले एसओ के साथ कोई न कोई अनहोनी हो जाती है. इस वजह से थाना परिसर में बने आवास में सिपाही और इंस्पेक्टर रात में नहीं रुकते.

अच्छी पकड़ वाले इंस्पेक्टर भी नहीं रुक पाए इस थाने में

बिशारतगंज के पहले थाना प्रभारी विनोद शर्मा थे. तब ये थाना स्टेशन रोड स्थित किराये की बिल्डिंग में था. 1985 में नवनिर्मित भवन में थाना शिफ्ट होने के बाद से अनहोनी का दौर शुरू हुआ. थाने के जानकार के मुताबिक, अच्छी पकड़ वाले थानेदारों को भी यहां से रिवर्ट होकर जाना पड़ा. इसमें जनक सिंह पुंडीर, पदम सिंह, धर्मवीर सिंह, केपी सिंह, दिलीप मित्तल, शुएब मियां, सुनहरी लाल यादव समेत कई नाम शामिल हैं.

ये भी पढ़ें: DNA: Global Hunger Index में भारत 101वें नंबर पर, सरकार ने दिया जवाब

यहां तैनात पुलिसकर्मियों ने किए टोटके और अनुष्ठान

इस थाने में तैनात होने वाले पुलिसकर्मियों के साथ होने वाली अनहोनी से बचने के लिए कई इंस्पेक्टर्स ने टोटके भी किए. इसमें सबसे पहला नाम अनूप सिंह राठी का है. अनूप ने तैनाती के समय यहां कछुआ पाला. इसके अलावा अजय सिंह यादव नाम के एसओ ने भी यहां तांत्रिक अनुष्ठान कराया था. इतना ही नहीं यहां तैनात इंस्पेक्टर ब्रज किशोर मिश्र ने थाने का चार्ज संभालते ही कार्यालय की दिशा में बदलाव किया. उन्होंने पश्चिम से उत्तर की ओर कार्यालय की दिशा बदल दी. हवन पूजन के साथ थाना परिसर में उन्होंने मंदिर भी बनवाया.

LIVE TV

Trending news