close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अजमेर: कर्ज के बोझ से दबे युवक ने किया आत्महत्या का प्रयास, पड़ोसियों ने बचाया

सूदखोरी से पीड़ित होकर जान देने का एक सप्ताह में यह दूसरा मामला है. 19 जून को जवाहर नगर के ललित व्यास ने जहरीली वस्तु का सेवन कर अपनी जान दे दी.

अजमेर: कर्ज के बोझ से दबे युवक ने किया आत्महत्या का प्रयास, पड़ोसियों ने बचाया
पुलिस जल्द इस मामले में आत्महत्या के लिए उकसाने का मुकदमा दर्ज कर सकती है.

दिलशाद खान/भीलवाड़ा: 'अपनी जिंदगी से तंग आ गया हूं, मैं जा रहा हूं.' यह लिखकर सूदखोरों के जाल में फंसे युवक ने फांसी लगा आत्महत्या की कोशिश की. गनीमत रहीं पड़ौसियों ने समय रहते उसे बचा लिया और जिला चिकित्सालय पहुंचाया, जहां अभी भी वह जिन्दगी और मौत से झूझ रहा है.

जानकारी के अनुसार मंगरोप थाना क्षेत्र के जीत्याखेड़ी गांव के 43 वर्शीय राजू सिंह पुत्र मांगू सिंह ने अपने खेत पर स्थित मकान में फंदा बांधकर फांसी लगा ली. फंदे तक पहुंचने के लिए उसने खाखले की बोरी का इस्तेमाल किया. बोरे जैसे ही गिरे उसकी तेज चीख निकल गई जिसे सुनकर पास के खेत में काम कर रहे रामपाल शर्मा व उनकी पत्नि ने दौड़कर उसे तुरंत उतार लिया. 

खबर के मुताबिक परिजनों ने ग्रामीणों को सूचना दी जो राजूसिंह को एमजी हॉस्पिटल लेकर पहुंचे, जहां उसे भर्ती कर लिया गया. मंगरोप थाने के दीवान जगदीष शर्मा ने एमजी हॉस्पीटल पहुंच कर उसके बयान दर्ज किये है, जिसमें राजू ने भीलवाड़ा के महेन्द्र अजमेरा और उसके बेटे धीरज पर 16 लाख रूपये की उगाही को लेकर आए दिन धमकियां देने का आरोप लगाया है. पुलिस ने इस मामले में वीड़ियों और राजू के बयानों के आधार पर जांच शुरू कर दी है.

उल्लेखनीय है कि सूदखोरी से पीड़ित होकर जान देने का एक सप्ताह में यह दूसरा मामला है. 19 जून को जवाहर नगर के ललित व्यास ने जहरीली वस्तु का सेवन कर अपनी जान दे दी. उससे कुछ लोग 20 फीसदी तक ब्याज वसूल रहे थे. इससे पहले कपड़ा व्यवसायी अशोक कृपलानी अपनी ही दुकान की छत से कूदकर आत्महत्या कर चुका है. राजूसिंह का भी अभी ईलाज जारी है.

प्रशासन, एसपी और दांथल के सरपंच श्याम लाल गुर्जर को संबोधित करते हुए इस वीड़ियों में भीलवाड़ा के अजमेरा पिता-पुत्र पर आरोप लगाते हुए राजू सिंह उसे व उसके परिवार को न्याय दिलाने की बात कह रहा है. इस वीड़ियों में एक पूर्व पार्शद का भी नाम है जिसने महेन्द्र से पैसे उधार लिए थे और नहीं चुका पाया. पुलिस ने इस वीड़ियो व राजू के बयानों के आधार पर मामले को परिवाद में रखते हुए जांच शुरू की है. पुलिस जल्द इस मामले में आत्महत्या के लिए उकसाने का मुकदमा दर्ज कर सकती है.