close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान: नागौर क्रिकेट संघ अध्यक्ष को लेकर RCA में बढ़ी तकरार, आरोप-प्रत्यारोप जारी

 डूडी को पिछले दिनों नागौर जिला क्रिकेट संघ का अध्यक्ष चुना गया था.

राजस्थान: नागौर क्रिकेट संघ अध्यक्ष को लेकर RCA में बढ़ी तकरार, आरोप-प्रत्यारोप जारी
RCA ने डूडी के निर्वाचन को पूरी तरह अवैध बताया है. (फाइल फोटो)

जयपुर: राजस्थान क्रिकेट एसोसिएशन में एक बार फिर आपसी टकराव बढ़ता दिख रहा है. नागौर जिला क्रिकेट संघ के चुनाव के बाद जोशी गुट ने रामेश्वर डूडी को अध्यक्ष मानने से इंकार किया है. डूडी को पिछले दिनों नागौर जिला क्रिकेट संघ का अध्यक्ष चुना गया था.

विवाद के बाद आरसीए के संयुक्त सचिव महेन्द्र नाहर ने कहा है कि रामेश्वर डूडी का निर्वाचन पूरी तरह से अवैध है. नाहर ने आरएस नांदू पर रामेश्वर डूडी को गुमराह करने का आरोप लगाया है. नाहर का कहना है कि जिस जिला संघ का अध्यक्ष रामेश्वर डूडी को बनाया गया है. वो जिला संघ निलंबित चल रहा है.

लाइव टीवी देखें-:

नाहर के बयान पर पलटवार करते हुए आरएस नांदू ने कहा है कि रामेश्वर डूडी नागौर जिला संघ अध्यक्ष के रुप में निर्वाचन पूरी तरह वैध तरीके से किया गया है. 

उन्होंने कहा कि नागौर जिला क्रिकेट संघ के निलंबन पर हाईकोर्ट की रोक लगी हुई है. उन्होंने कहा कि निर्वाचन से पहले आरसीए को सूचना दी गई थी. लेकिन इसके बाद भी उन्होंने अपना कोई प्रतिनिधि नहीं भेजा.

इससे पहले जोशी और ललित मोदी गुट की वजह से पूरे देश में राजस्थान क्रिकेट एसोसिएशन सुर्खियों में बना रहा. अब नांदू और जोशी गुट एक-दूसरे के सामने खड़े हुए हैं. इस बार घमासान दो गुटों के बीच नहीं बल्कि कांग्रेस के दो दिग्गजों के बीच है.

जानिए क्या है मामला
तीन दिन पहले नागौर जिला संघ की कार्यकारिणी ने सर्वसम्मति से कांग्रेस के पूर्व नेता प्रतिपक्ष रामेश्वर डूडी को अध्यक्ष पद पर निर्वाचित किया.नांदू गुट जहां इस निर्वाचन का वैध करार दे रहा है. वहीं, दूसरी ओर जोशी गुट इस निर्वाचन को मानने से इंकार कर रहा है.

नागौर जिला क्रिकेट संघ के चुनाव को लेकर आरसीए के संयुक्त सचिव महेन्द्र नाहर का कहना है कि नागौर में हुए चुनाव को लेकर किसी भी प्रकार का पत्राचार नहीं किया गया. इस दौरान आरसीए ने चुनाव को लेकर कोई पर्यवेक्षक नियुक्त नहीं किया था. उन्होंने कहा कि निर्वाचन वैध नहीं होने का कारण आरसीए का नागौर जिला संघ को पहले से ही निलंबित करना है.

वहीं, दूसरी ओर आरएस नांदू ने रामेश्वर डूडी के निर्वाचन को वैध करार देते हुए कहा, ''मैं आरसीए का निर्वाचित सचिव हूं और नागौर जिला संघ के चुनाव के लिए पाली जिला संघ के धर्मवीर को पर्यवेक्षक नियुक्त किया गया था. साथ ही खेल विभाग को भी इसकी सूचना दी गई है. लेकिन इसके बाद भी आरसीए ने अपना प्रतिनिधि नहीं भेजा है. इसके साथ ही रामेश्वर डूटी स्टार क्लब के अध्यक्ष हैं, जिसके चलते उनका निर्वाचन पूरी तरह से वैध है."

आरएस नांदू ने महेन्द्र नाहर पर आरोप लगाते हुए कहा कि संयुक्त सचिव पद से महेन्द्र नाहर खुद निलंबित चल रहे हैं. ऐसे में उनके द्वारा दिए जा रहे बयान बेमानी है.

नांदू ने कहा कि मुझे निलंबित करने के आदेश पर हाईकोर्ट ने स्टे लगा रखा है. इसके साथ ही नागौर जिला संघ के निलंबन के आदेश पर भी हाईकोर्ट ने रोक लगा रखी है.