बीकानेर में दलित दूल्हे को घोड़ी से उतारने के मामले ने पकड़ा तूल, हुआ विरोध प्रदर्शन

राजस्थान के नापासर गांव के दलितों ने शुक्रवार शाम घटना के विरोध में नापासर गांव स्थित थाने के सामने प्रदर्शन किया है.

बीकानेर में दलित दूल्हे को घोड़ी से उतारने के मामले ने पकड़ा तूल, हुआ विरोध प्रदर्शन
पुलिस ने शुक्रवार सुबह इस मामले को दर्ज किया है. (फोटो साभार: ANI)

रौनक व्यास, बीकानेर: राजस्थान के बीकानेर जिले के नापासर गांव में गुरुवार रात दलित दूल्हे को घोड़ी से उतारने का मामला तूल पकड़ता दिख रहा है. घटना के बाद पुलिस के द्वारा अभी तक कोई कार्रवाई नहीं होने का आरोप गांव के दलित लगा रहे है. जिसके बाद उन्होंने शुक्रवार शाम घटना के विरोध में नापासर गांव स्थित थाने के सामने प्रदर्शन किया है.

बताया जा रहा है कि गुरुवार रात को दलित समाज के दूल्हे की बारात निकलने के बाद राजपूतों ने उसके (दलित दूल्हे के) घोड़ी पर चढ़ने का विरोध किया. इस दौरान गांव में रहने वाले राजपुत समाज के लोगों ने बारातियों के उपर पत्थर फेंके और इसे बीच में रुकवाने का प्रयास किया. उनका कहना था कि हमारे गांव में दलित दुल्हे को घोड़ी पर चढ़ने की कभी कोई परंपरा नहीं रही. विरोध के दौरान दोनों पक्षों के बीच मारपीट की बात भी कही जा रही है. बवाल बढ़ता देख पुलिस बल मौके पर पहुंची. बीकानेर पुलिस ने शुक्रवार सुबह इस मामले को दर्ज किया है. 

घटना के बाद मीडिया से बीकानेर के एसपी प्रदीप मोहन शर्मा ने बताया कि घटना के नामजद अभियुक्तों के खिलाफ मामला दर्ज करवाया गया है. जांच के बाद मामला साफ हो पाएगा. लेकिन अब तक अभियुक्तों पर कोई कार्रवाई नहीं होने के बाद नाराज दलितों ने थाने के सामने प्रदर्शन किया है.