close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान: जयपुर सचिवालय में अहम बैठक, आरक्षण के बाद भर्तियों की हुई समीक्षा

सचिवालय में गुरुवार को एमबीसी आरक्षण के बाद भर्तियों की पूरी स्थिति की समीक्षा के लिए मुख्य सचिव डीबी गुप्ता की अध्यक्षता में सचिवालय में अहम बैठक हुई. इस दौरान दो तरह की भर्तियों का रिव्यू किया गया.

राजस्थान: जयपुर सचिवालय में अहम बैठक, आरक्षण के बाद भर्तियों की हुई समीक्षा
बैठक की अध्यक्षता मुख्य सचिव डीबी गुप्ता कर रहे थे. (फोटो साभार: rajgov.in)

जयपुर: सचिवालय में गुरुवार को एमबीसी आरक्षण के बाद भर्तियों की पूरी स्थिति की समीक्षा के लिए मुख्य सचिव डीबी गुप्ता की अध्यक्षता में अहम बैठक हुई. इस दौरान दो तरह की भर्तियों का रिव्यू किया गया.जिसमें पहली वो भर्तियां शामिल थी, जिनमें परीक्षा हो गई और परिणाम जारी हुआ, लेकिन भर्ती प्रक्रिया पूरी नहीं हो पाई. दूसरी श्रेणी वह है जिसमें परिणाम जारी नहीं हुआ.

आकलन के दौरान यह सामने आया कि 39000 पद ऐसे हैं जिनमें 1% आरक्षण तो दे दिया है. लेकिन एमबीसी का बचा हुआ 4% आरक्षण देने के लिए प्रक्रिया करनी होगी. जिन भर्तियों में परीक्षा नहीं हुई है. इसके तहत अब संबंधित प्रशासनिक विभाग वित्त विभाग को रिक्ति पद भेजकर मंजूरी लेंगे और फिर आरपीएससी या संबंधित परीक्षा एजेंसी को भेजेंगे. उनमें एमबीसी का 5% और ईडब्ल्यूएस का 10% आरक्षण और उसके हिसाब से पद निर्धारित करते हुए फिर से विज्ञप्ति जारी होगी. ऐसे 23000 पद बताए जा रहे हैं.

इनमें जो अभ्यर्थी पहले आवेदन कर चुके हैं उन्हें आवेदन की जरूरत नहीं होगी. लेकिन ऐसे अभ्यर्थी जो पूर्व में अनारक्षित श्रेणी में थे और ईडब्ल्यूएस की अधिसूचना जारी होने के बाद ईडब्ल्यूएस के आरक्षण के पात्र हैं वे नई श्रेणी में आवेदन कर सकते हैं.

बैठक में आकलन करके बताया गया कि करीब 1558 छाया पद सृजित करके फिर से विज्ञप्ति जारी की जाएगी. वहीं भर्ती योग्य नए पद 23041 माने जा रहे हैं. इस तरह से करीब 65000 पदों पर भर्ती प्रक्रिया पूरी होगी.